बाढ़ ग्रस्त इलाके में सेल्फी लेते नजर आए महाराष्ट्र के मंत्री
Saturday, 10 August 2019 10:53

  • Print
  • Email

कोल्हापुर: महाराष्ट्र में अलग-अलग स्थानों पर बाढ़ के चलते पिछले एक हफ्ते में30 लोगों के मारे जाने की बात भी जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन को विचलित नहीं कर सकी है। वह प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के दौरान सेल्फी लेते नजर आए। इसके बाद से ही वह शुक्रवार को अपने विरोधियों के निशाने पर हैं। महाजन गुरुवार शाम कोल्हापुर-सांगली और इसके आसपास के कुछ सबसे प्रभावित इलाकों का एक सरकारी बचाव नौका पर सवार होकर दौरा कर रहे थे। उन्होंने एक चमकीले नारंगी और काले रंग की लाइफ जैकेट पहन रखी थी।

रास्ते में उन्हें नौका पर मौजूद अन्य लोगों के साथ मुस्कुराते, हंसते, सेल्फी लेते और जोक सुनाते हुए देखा गया।

सांगली जिले से सटे ब्रम्हल गांव में एक नौका के पलट जाने से उस पर सवार 12 ग्रामीणों के डूबने की दुखद खबर सामने आई थी। इसके बावजूद उन्हें इस अंदाज में देखा गया।

उनके साथ यात्रा में एक शीर्ष आईपीएस अधिकारी भी था, जिसे भी सेल्फी के लिए मुस्कुराते हुए देखा गया।

महाराष्ट्र के विपक्ष ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मंत्री महाजन के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। विपक्ष का कहना है कि मंत्री का बाढ़ पीड़ितों के प्रति असंवेदनशील रवैया था, जिस पर कार्रवाई की जानी चाहिए।

विधान परिषद में विपक्ष के नेता और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक धनंजय मुंडे ने ट्वीट किया, "क्या सत्ताधारियों में कोई संवेदनशीलता बची भी है? देवेंद्र फडणवीस जी इस मामले में मंत्री का इस्तीफा लीजिए और संबंधित अधिकारियों को निलंबित करें।"

मुंडे ने कहा, "महाजन को शर्म आनी चाहिए। लोग असहाय हैं, छत पर मदद के लिए किसी के इंतजार में बैठे हैं, ताकि कोई आए और उन्हें खाना और पानी दे, लेकिन मंत्री अपने बाढ़ पर्यटन पर सैर-सपाटा करने में व्यस्त हैं।"

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) प्रमुख राज ठाकरे ने भी महाजन पर सेल्फी लेने को लेकर निशाना साधा और कहा कि क्या राज्य सरकार सच में लोगों की दुर्दशा को लेकर चिंतित है भी या नहीं।

सोशल मीडिया और दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर भी लोगों ने महाजन को खूब ट्रोल किया। इसके अलावा लोगों ने चेताया कि आने वाले विधानसभा चुनाव में ऐसी हरकतों की कीमत सरकार को चुकानी पड़गी।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss