PM Modi in Ranchi: पीएम मोदी ने कहा-देश लूटनेवालों का रख रहा हूं पूरा ख्‍याल
Thursday, 12 September 2019 14:52

  • Print
  • Email

रांची: भारत माता की जय, भारत माता की जय, भारत माता की जय। सबको जाेहार। जनमानस का झारखंडी लहजे में अभिवादन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की राजधानी रांची के प्रभात तारा मैदान में अपना संबोधन शुरू किया। पीएम ने कहा कि नई सरकार बनने के बाद झारखंड उनमें एक है, जहां मुझे सबसे पहले जाने का मौका मिला। पीएम ने योग दिवस की रिमझिम वर्षा और आयुष्‍मान भारत की लांचिंग का जिक्र करते हुए कहा कि आज झारखंड की पहचान में एक और मील का पत्‍थर का जोड़ने का मुझे मौका मिला।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड को गरीब और जनजातीय योजनाओं की लांचिंग पैड बताया। उन्‍होंने कहा कि साहिबगंज का मल्‍टीमॉडल पोर्ट प्रोजेक्‍ट से झारखंड की दुनिया में पहचान को समृद्ध करेगा। यह टर्मिनल नेशनल वाटरवे 1 हल्दिया-बनारस विकास परियोजना का अहम हिस्‍सा है। यह जलमार्ग झारखंड को विदेश से जोड़ेगा। इससे विकास की अपार संभावनाएं खुलेंगी। इस टर्मिनल से झारखंड के लोग अपने उत्‍पाद देश-विदेश में सुविधापूर्वक भेज सकेंगे। इस जलमार्ग से पूर्वोतर तक आपकी पहुंच सुगम होगी।

पीएम ने कहा कि चुनाव के समय कामदार और दमदार सरकार देने का वादा किया था। ऐसी सरकार जो आपकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए पूरी ताकत लगा दी। 100 दिनों में ट्रेलर दिखा दिया है। हमारा संकल्‍प है हर घर जल पहुंचाने का। आज देश जल मिशन पर निकल पड़ा है। हमारा संकल्‍प है कि जम्‍मू-कश्‍मीर को नई ऊंचाई पर पहुंचाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश को लूटनेवालों पर भी तेजी से काम कर रहा हूं। मैंने चुनाव में कहा था कि उन्‍हें अदालत तक पहुंचाया अब जेल तक पहुंचा रहा हूं। मुझे संतोष है कि झारखंड के 8 लाख किसानों के खाते में 250 करोड़ रुपये जमा करा दिए गए हैं। उन्‍होंने आज के दिन को झारखंड के लिए ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि राज्‍य बनने के दो दशक बाद लो‍कतंत्र के मंदिर का लोकार्पण हुआ है। यह नया विधानसभा भवन सिर्फ चारदीवारी नहीं है। लोकतंत्र में आस्‍था रखने वालों के लिए तीर्थस्‍थान है।

पीएम ने कहा कि झारखंड के युवा अपने विधानसभा भवन को जाकर जरूर देखें। नई सरकार बनने के बाद हमारी लोकसभा और राज्‍यसभा चली, उसे देखकर हिन्‍दुस्‍तान के हर आदमी के चेहरे पर मुस्‍कान दिखी। आजाद हिन्‍दुस्‍तान के इतिहास में बीते संसद का मानसून सत्र सबसे सार्थक रहा। देर रात तक पार्लियामेंट चलती रही। यहां हमने देश के लिए जरूरी कानून बनाए। इसका श्रेय सभी सांसदों को जाता है, उनको बधाई।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss