जम्मू-कश्मीर : कुलगाम में आतंकियों द्वारा अपहृत कांस्‍टेबल का शव बरामद

आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में अपने घर छुट्टी बिताने घर आए एक पुलिसकर्मी को बीती रात अगवा कर हत्या कर दी. सुरक्षाबलों के मुताबिक कुलगाम के मुतलहामा गांव में बीती रात ऑटोमेटिक हथियारों से लैस तीन से चार आतंकी आए. आतंकियों ने अब्दुल गनी शाह के मकान की निशानदेही की और भीतर दाखिल हो गए. बताया जाता है कि आतंकियों ने अब्दुल गनी व उसके परिवार के सभी सदस्यों को एक जगह जमा किया और फिर उसके पुत्र मोहम्मद सलीम शाह को अपने साथ चलने को कहा. सलीम शाह राज्य पुलिस में कांस्टेबल था. वह कुछ समय पहले ही एसपीओ से बतौर कांस्टेबल नियमित हुआ था.

अब्दुल गनी व परिवार के अन्य सदस्यों ने आतंकियों का विरोध किया, लेकिन आतंकियों ने सभी को जान से मारने की धमकी देते हुए चुप रहने को कहा. उन्होंने कहा कि वह मोहम्मद सलीम शाह को पूछताछ के बाद रिहा कर देंगे. इसके बाद आतंकी उसे अपने साथ ले गए. जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक आतंकियों ने सलीम की हत्या कर दी है. मारे गए पुलिस कर्मी का शव भी बरामद कर लिया गया है. पुलिस ने आतंकियों के इस कायराना हरकत की निंदा की है और कहा कि इस दुख की घड़ी में वो परिवार के साथ हैं.

वैसे पुलिसकर्मी को अगवा किए जाने का पता चलते ही सेना, पुलिस और सीआरपीएफ ने उसे आतंकियों से मुक्त कराने के लिए पूरे इलाके में एक तलाशी अभियान चलाया था. आपको बता दें कि पिछले दिनों हिजबुल मुजाहिदीन ने त्राल में पोस्टर जारी कर सभी एसपीओ को 15 दिनों में पुलिस की नौकरी छोड़ने का फरमान सुनाया था. अब तक किसी आतंकी संगठन ने इस हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली है.

इससे पहले शनिवार को ही पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए गताया था कि कांस्टेबल सलीम शाह को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में मुतालहामा इलाके स्थित उसके घर से अपहृत किया गया. अधिकारी ने कहा था कि सुरक्षा बलों ने अपहृत पुलिसकर्मी की तलाश के लिये अभियान शुरू किया है.

उधर अनंतनाग जिले के बूमजू गांव में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की. पूरे इलाके को घेर लिया गया है और आतंकियों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया. आपको बता दें कि पिछले महीने ही शोपियां जिले में तैनात सेना के एक जवान का भी आतंकियों ने अपहरण कर लिया था. राष्ट्रीय रायफ़ल्स में तैनात यह जवान छुट्टी में घर आया था.

सेना ने जवान को छुड़ाने के लिए एक बड़ा ऑपरेशन लॉन्च किया था. अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के राजौरी जिला का निवासी औरंगजेब ईद के मौके पर छुट्टियों में घर जा रहा था. इस दौरान पुलवामा जिले के कलामपुरा इलाके से उसका अपहरण कर लिया गया था. बाद में सेना के जवान का शव बरामद हुआ. राष्ट्रीय रायफल्स में तैनात औरंगजेब का शव गुसू से बरामद किया गया था. स्थानीय पुलिस ने बताया कि अपहृत सैनिक का गोलियों से छलनी शव दक्षिण कश्मीर के पुलवामा के गुसू में मिला. इस मामले की जांच की जा रही है.