जम्मू एवं कश्मीर : चोटी काटने वाले के बारे में जानकारी देने पर 3 लाख का इनाम

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने शुक्रवार को यह घोषणा की कि श्रीनगर घाटी में चोटी काटने की घटनाओं में शामिल लोगों को पकड़वाने वाले को तीन लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा। पुलिस ने कहा कि घाटी के हर जिले में विशेष जांच दल (एसआईटी) बनाया गया है। उन्हें सतर्क रहने और ऐसी घटना होने पर तेजी से कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "हर जिले में हेल्पलाइन नंबर दिए गए हैं ताकि लोग इन नंबरों पर चोटी काटने की घटनाओं के बारे में विश्वसनीय जानकारी दे सकें।"

शुरू में कुलगाम जिले से ऐसी घटना की रिपोर्ट आई, लेकिन बाद में अन्य जिलों से भी ऐसी घटनाओं की खबरें आने लगीं।

इन रहस्यमय घटनाओं में जिन महिलाओं पर हमला हुआ, वे कुछ समय के लिए बेहोश हो गईं। जब उन्हें होश आया, तो उन्होंने पाया कि उनके बाल कटे हुए है।

इस घटना के कारण लोगों के मन में डर बैठ गया जबकि अलग-जगहों पर कुछ लोग इस घटना के बारे में गलत खबरें भी फैला रहे है।

गुरुवार को गंदेरबल जिले के रामपोरा इलाके में भारी हंगामा हो गया, जहां एक छोटी लड़की ने आरोप लगाया कि उसकी चोटी किसी ने काट दी है। बड़ी संख्या में लोगों ने इकट्ठा होकर इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया।

पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि लड़की को चिकित्सकों को दिखया गया और उन्होंने बताया कि उसकी चोटी नहीं काटी गई है।

दक्षिण कश्मीर के लोगों ने सुरक्षा बलों पर आरोप लगाया है कि वे लोगों को डराने के लिए इस मामले में कथित अपराधियों को बचा रहे हैं।