सुर-संगम-2019 गुरुग्राम में 13 अप्रैल को
Sunday, 07 April 2019 19:48

  • Print
  • Email

गुरुग्राम: रागाज म्यूजिक एकेडमी के सहयोग से प्राचीन कला केंद्र एक पूर्ण संगीत संध्या सुर-संगम-2019 का आयोजन 13 अप्रैल को यहां के सेक्टर-44 स्थित एपिसेंटर में करने जा रहा है। इसमें भारतीय फ्यूजन बैंड और शीर्ष श्रेणी के शास्त्रीय कलाकारों की जुगलबंदी होगी। 

विज्ञप्ति के अनुसार, कार्यक्रम दोपहर 2 बजे से रात 10.30 बजे तक चलेगा। सुर-संगम भारतीय शास्त्रीय संगीत, प्रदर्शन कला और ललित कला के जादू को फिर से समकालीन बनाने का एक प्रयास है। यह एक अग्रणी कार्यक्रम है, जो युवा कलाकारों को मंच प्रदान करेगा। साथ ही पंडित रोनू मजूमदार, पंडित कैवल्य कुमार गवरव, पंडित तन्मय बोस जैसे चर्चित कलाकारों को भी मंच पर लाएगा।

रागाज म्यूजिक की संस्थापक और प्राचीन कला केंद्र के साथ इस कार्यक्रम की प्रस्तुतकर्ता अपर्णा भट्टाचार्य कहती हैं, "यह कार्यक्रम विभिन्न पीढ़ियों और संगीत की शैली को एक साथ लाता है। पूरे कार्यक्रम के दौरान ऊजार्वान माहौल दर्शकों को प्रफुल्लित करेगा। कला प्रदर्शनी का विशाल भाग, बैटल ऑफ बैंड्स, विभिन्न कलाकारों द्वारा किया जाने वाला प्रदर्शन और एक सुंदर शाम शास्त्रीय संगीत समारोह सभी कलाओं और संगीत प्रेमियों के लिए एक एक यादगार बनने जा रहा है।"

उन्होंने कहा कि पूरे दिन के आयोजन में दिल्ली-एनसीआर से 'सुर-संगम बैंड ऑफ द ईयर-2019' के लिए प्रतिस्पर्धा करते हुए कई बैंड दिखाई देंगे। बैंड का प्रतिनिधित्व सलमान खान और जमान खान करेंगे। शाम के संगीत कार्यक्रम में बांसुरी वादक पंडित रोनू मजूमदार, पंडित कैवल्य कुमार गौरव (गायन), पंडित तन्मय बोस (तबला) जैसे कई निपुण कलाकार दिखाई देंगे।

डॉ. समीरा कोसर (कथक) और देबाशीष अधिकारी (तबला), उस्ताद गुलाम सिराज नियाजी और गुलाम अजीज नियाजी (गायक) और युवा कलाकार अब्दुल समद खान नियाजी (गायन ) का आनंद भी कलाप्रेमी ले सकेंगे।

--आईएएनएस

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.