गुजरात निकाय चुनाव : बीजेपी ने 75 में से 47 सीटें जीती, कांग्रेस के खाते में 16 सीटें

अहमदाबाद: गुजरात में सत्तारूढ़ बीजेपी ने राज्‍य में नगर निकाय चुनावों में 75 में से 47 सीटें जीत ली हैं जबकि कांग्रेस के खाते में 16 सीटें गई हैं. 6 सीटों पर किसी भी उम्‍मीदवार को बहुमत नहीं मिल सका जबकि 4 सीटों पर निर्दलीय उम्‍मीदवार जीते हैं और 2 पर अन्‍य. 75 नगर निगम/नगर पालिकाओं, दो जिला पंचायत और 17 तालुका पंचायतों के लिए शनिवार को चुनाव हुए थे. 2013 में बीजेपी ने 79 नगर निकायों में 59 पर जीत दर्ज की थी. उस वक्‍त कांग्रेस को 11 सीटें मिली थीं लेकिन बाद में वह उनमें से पांच हार गई थी क्‍योंकि उसके नेता बीजेपी के साथ हो लिये थे.

हालांकि अगर 2013 के चुनाव से तुलना की जाए तो बीजेपी को कम सीटें मिली हैं. पिछले शनिवार को 75 नगरपालिकाओं के लिए मतदान हुआ था, जिनके नतीजे सोमवार को घोषित किए गए. राज्य निर्वाचन आयुक्त वारेश सिन्हा ने बताया, ‘‘भाजपा ने 47, कांग्रेस ने 16, और राकांपा और बसपा ने एक-एक नगरपालिका में जीत हासिल की है. निर्दलीय उम्मीदवारों की झोली में चार नगरपालिकाएं गई हैं, जबकि छह नगरपालिकाएं त्रिशंकु रहीं, जहां किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला.’’ पिछले बरस दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने लगातार छठी बार जीत दर्ज करते हुए 99 सीटें जीतीं थीं, जबकि कांग्रेस को 182 सदस्यीय विधानसभा में 77 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था.

सिन्हा ने बताया कि 24 जिलों की 75 नगरपालिकाओं की 2,060 सीटों में से भाजपा ने 1,167 सीटें जीतीं, जबकि कांग्रेस के पाले में 630 सीटें गई. राकांपा ने 28 और बसपा ने 15 सीटें जीतीं. अन्य छोटी राजनीतिक पार्टियों ने 18 सीटें अपने नाम की हैं. वहीं निर्दलीय प्रत्याशियों ने 202 सीटें हासिल कीं. उन्होंने कहा मतगणना की प्रक्रिया शांतिपूर्ण रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह नगर मेहसाणा जिले के वडनगर में भाजपा ने 28 सीटों में से 27 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि एक सीट कांग्रेस के खाते में गई है.

 
 


नतीजों के ऐलान के साथ ही भाजपा कार्यकर्ता गांधीनगर में स्थित पार्टी मुख्यालय में जश्न मनाने लगे, जबकि कांग्रेस ने कहा कि उसने सीटों की संख्या में इजाफा किया है. भाजपा प्रवक्ता भरत पांड्या ने कहा कि यह जीत कांग्रेस की नकारात्मक राजनीति और कार्यक्रमों के खिलाफ है. गुजरात के लोगों ने एक बार फिर से कांग्रेस की नकारात्मकता को खारिज कर दिया है. कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने कहा कि पार्टी के पास पहले आठ नगरपालिकाएं थीं, लेकिन अब हमारे पास निर्दलियों के समर्थन से 20 नगरपालिकाएं होंगी.

1988 सीटों के लिए 17 फरवरी को हुए थे मतदान
इन सीटों के लिए मतदान 17 फरवरी को 522 नगरपालिका बोर्डों के साथ 1988 सीटों के लिए हुए थे. यहां कुल 2,763 मतदान केंद्र बने थे जिनमे से 530 बूथों को वोटिंग वाले दिन संवेदनशील घोषित किया गया था. वहीं 95 अति संवेदनशील थे. इसके कारण यह लगभग 15,000 ज्यादा कर्मियों को तैनात किया गया था. गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद पिछले 22 सालों से सत्ता में रही बीजेपी सरकार एक बार फिर अपनी सरकार बनाने में कामयाबी मिली. इस चुनाव में कांग्रेस ने भी बीजेपी को कड़ी टक्कर दी थी. गुजरात विधानसभा चुनाव बीजेपी ने कुल 182 सीटों में से 99 सीटें मिली, जबकि कांग्रेस को 80 सीटें और अन्य के खाते में 3 सीटें गई.