'सेक्‍स सीडी' सामने आने के बाद हार्दिक पटेल ग्रुप ने कहा, ऐसे और 52 वीडियो क्लिप आने हैं सामने

अहमदाबाद: कथित सेक्‍स सीडी के आने के कुछ दिन बाद हार्दिक पटेल की पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि बीजेपी ये वीडियो के साथ छेड़छाड़ कर रही है. उन्‍होंने कहा कि अभी ऐसे और 52 वीडियो क्लिप आने हैं. 

पीएएएस ने कहना है कि हमारो सूत्रों ने बताया कि इन 52 वीडियो क्लिप में से 22 क्लिप हार्दिक पटेल के और अन्‍य पीएएएस के नेताओं के हैं. पीएएएस ने आरोप लगाया कि उसके नेता हार्दिक पटेल के ‘फर्जी’ सेक्स क्लिप के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जिम्मेदार हैं. हालांकि सत्तारूढ पार्टी ने इस आरोप को खारिज किया है.

भाजपा ने इन आरोपों को ‘बेबुनियाद’ करार दिया और वीडियो क्लिपों के फैलने के लिए पीएएएस के भीतर विवाद का जिम्मेदार ठहराया. पीएएएस संयोजक दिनेश बमभानिया ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में आरोप लगाया कि हमें पता चला है कि भाजपा समर्थक सूरत का एक बिल्डर और एक अन्य व्यक्ति इन फर्जी क्लिपों के पीछे हैं. उन्होंने भाजपा को बचाने के लिए चुनावों से पहले हार्दिक की छवि खराब करने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी के इशारे पर यह किया.’ उन्होंने आरोप लगाया कि यह ‘40 करोड़ रुपये के सौदे’ के तहत किया गया.

हार्दिक के करीबी सहयोगी बमभानिया ने आरोप लगाया कि भाजपा के इशारे पर सूरत के दो लोगों द्वारा भारत से बाहर ऐसी 52 और ‘फर्जी’ वीडियो तैयार किये गये हैं. कहा जा रहा है कि कथित रूप से हार्दिक की कम से कम तीन ‘अंतरंग’ वीडियो फैलाई जा रही हैं. पहली क्लिप आने के बाद हार्दिक ने भाजपा पर निशाना साधा था.

बमभानिया ने आरोप लगाया, 'चूंकि भाजपा हार्दिक की बढ़ती लोकप्रियता से चिंतित है, उन्होंने पार्टी को और नुकसान को रोकने के लिए चुनावों से पहले उन्हें सलाखों के पीछे डालने की साजिश रची है।’