बेटे की टिप्पणी से आहत नीतीश बोले- अब नहीं करूंगा लालू यादव को फोन!
Monday, 09 July 2018 19:07

  • Print
  • Email

बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा है कि वो अब पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू यादव को फोन नहीं करेंगे। लोक संवाद कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में नीतीश ने कहा कि उन्होंने बीमार लालू यादव का हालचाल जानने के लिए चार बार फोन किया। उन्होंने कहा कि राजद सांसद मनोज झा और विधायक भोला यादव से भी बात की लेकिन शिष्टाचार के तहत उनके द्वारा बात करने पर राजनीतिक दुष्प्रचार किया गया। उन्होंने कहा कि उनके लिए नो एंट्री को बोर्ड लगाने की बात कहना हास्यास्पद है। नीतीश ने कहा कि हम चाहेंगे कि लालू जी स्वस्थ रहें। उन्होंने कहा कि उनसे राजनीतिक मतभेद है, व्यक्तिगत तौर पर क्या मतभेद हो सकता है? मुख्यमंत्री ने कहा कि वो अक्सर शादी विवाह में उनके घर जाते रहे हैं। बता दें कि लालू और नीतीश राजनीतिक दोस्त रहे हैं। दोनों नेता कभी एकसाथ एक ही दल में रहकर राजनीति करते थे।

नीतीश ने कहा, “नहीं अब और नहीं। मैंने चार बार लालू यादव की तबीयत के बारे में जानने के लिए फोन किया लेकिन अब फोन नहीं करूंगा। उनके स्वास्थ्य के बारे में अब अखबार पढ़कर ही जानकारी हासिल कर लूंगा।” बता दें कि लालू यादव लंबे समय से बीमार चल रहे हैं। उनका इलाज मुंबई के एशियन हार्ट हॉस्पिटल में चल रहा है। आज ही वो मुंबई से पटना लौटे हैं। पिछले महीने की 26 जून को नीतीश कुमार ने लालू यादव से तबीयत जानने के लिए फोन पर बातचीत की थी। तब लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने कहा था कि नीतीश कुमार ने बहुत देर से शिष्टाचार कॉल की। लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने भी कहा था कि चाचा के लिए गठबंधन में आने के रास्ते बंद हो चुके हैं।

नीतीश कुमार ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि अगर कोई किसी से बात करेगा और उसका गलत अर्थ निकाला जाएगा तो कोई किसी को दोबारा फोन क्यों करेगा। उन्होंने इस तरह के आचरण को ओछा करार दिया। उन्होंने कहा कि उनकी किसी के साथ कोई चिढ़ या दुश्मनी नहीं है। नीतीश ने नो एंट्रे की सवाल पर कहा कि तेज प्रताप मीडिया में सुर्खियां पाने के लिए ऐसे बयान देते रहते हैं।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.