हैदराबाद : जेएनयू हिंसा के खिलाफ विश्वविद्यालयों में प्रदर्शन
Monday, 06 January 2020 16:48

  • Print
  • Email

हैदराबाद: दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में नकाबपोश हमलावरों द्वारा छात्रों और शिक्षकों पर किए गए हमले के खिलाफ हैदराबाद में तीन विश्वविद्यालयों में प्रदर्शन हुआ। हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी (एचसीयू), मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी और उस्मानिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने जेएनयू हिंसा की निंदा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

उस्मानिया विवि में वामपंथी छात्रों और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्रों द्वारा इस मुद्दे पर एक-दूसरे पर आरोप लगाने से हल्का तनाव भी पैदा हुआ।

उस्मानिया विवि परिसर में आर्ट्स कॉलेज के सामने पीपुल्स डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स यूनियन (पीडीएसयू) और स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) से जुड़े छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए जेएनयू हिंसा की निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

प्रदर्शनकारी जेएनयू हिंसा के लिए एबीवीपी पर आरोप लगाकर उसके खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। उन्होंने एबीवीपी का एक पुतला भी जलाया।

इसके बाद एबीवीपी के कुछ सदस्यों ने भी 'वाम दलों द्वारा पूर्व नियोजित हिंसा' की निंदा करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "जेएनयू में हमले वाम दलों के गुंडों ने किए और वे हमें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं।"

एबीवीपी का झंडा पकड़े प्रदर्शनकारियों ने भी वाम दलों का पुतला जलाया। उन्हें बाद में पुलिस ने खदेड़ा। पुलिस स्थिति पर बारीक नजर बनाए हुए है।

मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी (एमएएनयूयू) के छात्रों तथा शिक्षकों ने भी विरोध मार्च निकालकर जेएनयू हिंसा की निंदा की और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

विवि के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, "शिक्षकों के परिजन भी विरोध मार्च में शामिल हो गए।"

एचसीयू में रविवार देर रात प्रदर्शन हुआ। यहां छात्रों ने जेएनयू परिसर में फैलाए गए आतंक के खिलाफ पूरे परिसर में मार्च किया और दोषियों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की।

प्रदर्शनकारियों ने हमले के लिए एबीवीपी और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया।

एक छात्र ने कहा, "छात्रों पर हमला करने के लिए पुलिसकर्मी जेएनयू में घुस गए और जेएनयू में वे छात्रों और शिक्षकों पर आतंक के मूक दर्शक बने रहे।"

एसएफआई ने सोमवार शाम को और विरोध प्रदर्शनों का आवाह्न किया है।

एसएफआई के एक पोस्टर पर लिखा था, "भगवा आतंक के खिलाफ आक्रोश में जागो।"

छात्रों के एक समूह ने जेएनयू हमले की निंदा करते हुए रविवार रात हैदराबाद के बीच में टैंक बूंद में अंबेडकर की मूर्ति पर मोमबत्ती जलाकर जुलूस निकाला।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss