केरल : सड़क दुर्घटना मामले में आईएएस अधिकारी की जमानत पर रोक
Tuesday, 13 August 2019 20:24

  • Print
  • Email

कोच्चि: केरल हाईकोर्ट ने एक सड़क दुर्घटना मामले में मंगलवार को सप्ताह में दूसरी बार आईएएस अधिकारी श्रीराम वेंकटरमन की जमानत पर रोक लगा दी है। सड़क दुर्घटना में एक युवा पत्रकार की मौत हो गई थी। यह सड़क हादसा तीन अगस्त को हुआ, जब नशे में धुत वेंकटरमन ने एक तेज रफ्तार कार से मोटरसाइकिल पर सवार के. एम. को बशीर टक्कर मार दी थी। वेंकटरमन अपनी महिला मित्र के साथ देर रात पार्टी से लौट रहे थे। वह कार उनकी महिला मित्र की थी।

इस दुर्घटना में बशीर की मौके पर ही मौत हो गई थी। वह एक पत्रकार थे और एक मलयालम दैनिक में काम करते थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, उस समय वेंकटरमन के साथ उनके दोस्त वाहा फिरोज भी मौके पर थे।

आरोप लगाया गया है कि जब पुलिस को यह पता चला कि आरोपी एक आईएएस अधिकारी है तो उन्होंने इस सड़क दुर्घटना मामले में अनिवार्य चिकित्सा परीक्षण में देरी की।

उच्च न्यायालय ने मंगलवार को अभियोजन पक्ष (केरल सरकार) द्वारा दायर याचिका पर अपना फैसला सुनाया। याचिका में निचली अदालत द्वारा वेंकटरमन को दी गई जमानत को रद्द करने की मांग की गई थी।

अदालत ने देखा कि केवल मौखिक गवाही ही पर्याप्त नहीं है, जिसमें कहा गया था कि अधिकारी शराब के प्रभाव में थे, जबकि लैब टेस्ट की रिपोर्ट कुछ और ही साबित कर रही है।

इस दौरान इस बात पर भी गौर किया गया कि जिस तरह से पुलिस ने दुर्घटना के तुरंत बाद अपना काम किया, उसमें गंभीर खामियां थीं।

अदालत ने पुलिस की इस दलील को भी खारिज कर दिया कि उन्हें आईएएस अधिकारी से पूछताछ करने की जरूरत है।

पिछले बुधवार को भी उच्च न्यायालय ने वेंकटरमन के खिलाफ सबूत इकट्ठा करने के लिए पुलिस के काम करने के तरीके पर सवाल उठाए थे।

पिछले मंगलवार को आईएएस अधिकारी को राज्य की राजधानी में एक निचली अदालत से जमानत मिल गई थी। इसके बाद अगले दिन केरल सरकार ने एक तत्काल याचिका दायर कर इस फैसले को रद्द करने की मांग की थी।

दो गवाहों का कहना है कि आईएएस अधिकारी को शराब के प्रभाव में देखा गया था। पुलिस टीम हालांकि समय पर उनका ब्लड सैंपल (रक्त का नमूना) लेने में विफल रही। ब्लड सैंपल घटना के नौ घंटे बाद लिया गया और रिपोर्ट में शराब के सेवन की पुष्टि नहीं हुई।

वेंकटरमन को पिछले सप्ताह निलंबित कर दिया गया था। उन्हें राज्य की राजधानी में संचालित मेडिकल कॉलेज अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद उन्हें सोमवार को छुट्टी दे दी गई थी।

--आईएएनएस

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss