जयपुर के एसएमएस मेडिकल कॉलेज का कैंटीन सील, संचालक को कोरोना
Monday, 06 April 2020 17:42

  • Print
  • Email

जयपुर: जयपुर में एसएमएस मेडिकल कॉलेज के कैंटीन के संचालक के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद कैंटीन को सील कर दिया गया। स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की और कहा कि वायरस की मौजूदगी का पता लगाने के लिए कैंटीन के स्टोर रूम को भी सील कर दिया गया है। राजस्थान की राजधानी में रविवार को एसएमएस मेडिकल कॉलेज के संचालक सहित 39 मरीज कोरोना संक्रमित निकले, जबकि उसी दिन राज्य में कोरोना के कुल 60 मामले सामने आए।

कैंटीन संचालक की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव अने के बाद डर का माहौल बन गया, क्योंकि यह कैंटीन कई अन्य लोगों के अलावा एसएमएस डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ और मेडिकल छात्रों को भोजन परोसती रही है।

कैंटीन का संचालक रामगंज का निवासी है, जो इस क्षेत्र में लगभग 70 रोगियों के साथ कोरोनोवायरस के केंद्र के रूप में उभरा है।

वह पिछले कई दिनों से खांसी और जुकाम से पीड़ित है, हालांकि नियमित रूप से अपनी कैंटीन का संचालन करता रहा, जहां प्रिंसिपल ऑफिस और वायरोलॉजी लैब के मेडिकल स्टाफ सहित अन्य स्टाफ सदस्य भोजन करते देखे जाते थे।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने पुष्टि की कि कैंटीन और उसके स्टोर रूम को सील कर लिया गया है, जबकि उसके संपर्क में आए अस्पताल के लगभग 50 स्टाफ सदस्यों को क्वारंटीन किए जाने के लिए कहा गया है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया कि सोमवार तक इन स्टाफ सदस्यों के संपर्क में आए 50 लोगों की पहचान की जा चुकी है, जबकि अन्य का पता लगाया जा रहा है।

इस बीच, रामगंज में रविवार को एक कोरोना रोगी की मौत के बाद, उसके पड़ोसियों सहित लगभग 60 लोगों को दो बसों में संगरोध केंद्र भेजा गया था।

यहां रहने वाले लगभग 10,000 परिवारों की स्क्रीनिंग की गई।

इस बीच, अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि विभाग के लिए रामगंज सबसे बड़ी चिंता के रूप में उभरा है, क्योंकि इस क्षेत्र का स्वरूप अलग है। यह घनी आबादी वाला है। लोग यहां निकटता में रहते हैं और सामाजिक दूरी बनाए रखना उनके लिए काफी मुश्किल है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss