पंजाब में जहरीली देसी शराब पीने से 13 और की मौत, तीन दिन में 62 लोगों की जान गई
Saturday, 01 August 2020 11:52

  • Print
  • Email

अमृतसर/चंडीगढ़/ तरनतारन: पंजाब के तरनतारन और अमृतसर में जहरीली शराब पीने से 13 और लाेंगों की शनिवार को मौत हो गई। इससे पहले वीरवार और शुक्रवार को 49 लोगों की मौत हो गई थी। इस तरह पंजाब के तीन जिलों में अवैध शराब पीने से मरने वालों की संख्‍या 62 हो गई है। शनिवार को अमृतसर के मुच्‍छल गांव में शराब पीने वाले एक व्‍यक्ति की मौत हो गई तरनतारन में 12 लोगों की मौत हो गई। इस घटना से राज्‍य में हड़कंप मच गया है। अब तक तरनतारन जिले में 42, अमृतसर जिले में 12 और गुरदासपुर जिले के बटाला में आठ लोगों की मौत हाे चुकी है।

पंजाब में लॉकडाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री पर चल रही सियासी खींचतान के बीच इन मौतों से सियासत गर्मा गई है। बता दें कि शुक्रवार को तीन सीमावर्ती जिलों तरनतारन, अमृतसर और गुरदासपुर में जहरीली देसी शराब पीने से 42 लोगों की मौत हो गई थी। तरनतारन में सबसे ज्यादा 30, बटाला (गुरदासपुर) में आठ और अमृतसर में चार लोगों की मौत हुई थी।

वीरवार को अमृतसर में सात लोगों की जान गई थी। शनिवार को 13 और लोगों की मौत हाे गई। इस तरह दो दिन में 10 गांवों और दो शहरी इलाकों में 62 लोगों की मौत हो चुकी है। कई लोगों की हालत अब भी गंभीर है। मरने वाले लोग ज्यादातर मजदूर तबके के हैं। मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। हालांकि सरकार ने अब तक 38 मौतों की पुष्टि की है।

तरनतारन में जिस शराब से लोगों की जान गई, वह खडूर साहिब के गांव पंडोरी गोला में तैयार की गई थी। इसे अवैध तरीके से अन्य गांवों में बेचा गया। यह गांव अवैध शराब की तस्करी के लिए बदनाम है। वहीं, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को जालंधर के डिवीजनल कमिश्नर राज कमल चौधरी को घटना की न्यायिक जांच सौंप कर तीन हफ्ते में रिपोर्ट मांगी थी। इस जांच में ज्वाइंट एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर व संबंधित जिलों के पुलिस अधीक्षक भी शामिल होंगे। इसके अलावा बटाला और अमृतसर में भी एसआइटी गठित की गई है। अब तक कुल आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

अमृतसर के तरसिका थाने के निलंबित एसएचओ (थाना प्रभारी) विक्रम सिह को शुक्रवार को हिरासत में लिया गया था। उन पर शिकायत के बावजूद कार्रवाई न करने का आरोप है। वहीं, गांव मुच्छल की शराब बेचने वाली महिला बलविंदर कौर को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) व एक्साइज एक्ट में केस दर्ज किया गया। तरनतारन के गांव पंडोरी गोला में भी पांच लोगों को हिरासत में लिया गया। इनमें दो तस्कर अमरजीत सिंह व बलजीत सिंह शामिल हैं। आरोपितों ने स्वीकार किया है कि वह शराब तैयार करने लिए ज्यादा मात्रा में एल्कोहल, धतूरा व यूरिया खाद का इस्तेमाल करते थे।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss