जलियांवाला बाग की गैलरी से महिलाओं की अर्धनग्न तस्वीर हटाई गई
Tuesday, 21 July 2020 15:46

  • Print
  • Email

चंडीगढ़: तीखी आलोचना और विरोध के बाद, अधिकारियों ने जलियांवाला बाग की एक फोटो गैलरी में लगाई गई दो अर्धनग्न महिलाओं की एक तस्वीर को हटा दिया है, यह तस्वीर अजंता एलोरा गुफाओं के चित्र से मिलती-जुलती है। राष्ट्रीय नायकों और प्रथम सिख गुरु गुरुनानक देव के चित्रों के बीच यह आपत्तिजनक तस्वीर लगाई गई थी। सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट विकास हीरा ने कहा कि तस्वीर हटा दी गई है।

यह पता चला है कि विवाद बढ़ने के बाद हीरा ने चल रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण किया और कंपनी से बात की जो भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में राष्ट्रीय स्मारक में फोटो प्रदर्शित करने के बारे में जलियांवाला बाग के केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित नवीकरण कार्यो को अंजाम दे रही है।

एक सरकारी अधिकारी ने मंगलवार को आईएएनएस को बताया, "अपनी गलती को स्वीकार करते हुए, कंपनी ने फोटो हटाने का फैसला किया।"

आईएएनएस ने 19 जुलाई को इस संबंध में अपनी एक खबर में आपत्तिजनक तस्वीर के मुद्दे पर प्रकाश डाला था।

जलियांवाला बाग परिसर वर्तमान में सौंदर्यीकरण का काम बड़े पैमाने पर चल रहा है। अधिकारियों का कहना है कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की देखरेख में 15 फरवरी को जीर्णोद्धार और बहाली शुरू हुई और 31 जुलाई से जनता के लिए फिर से खोल दी जाएगी।

केंद्र ने संस्कृति मंत्रालय के माध्यम से पहले चरण में 20 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

जीर्णोद्धार कार्य की देखरेख भाजपा के राज्यसभा सदस्य श्वेत मलिक की निगरानी में हो रही है, जो जलियांवाला बाग नेशनल मेमोरियल ट्रस्ट के ट्रस्टी भी हैं। उन्होंने आखिरी बार 17 जुलाई को गैलरी का दौरा किया था।

संसद के स्थानीय सदस्य गुरजीत सिंह औजला और अंतर्राष्ट्रीय सर्व कम्बोज समाज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष जोरदार विरोध दर्ज कराया था और उनसे तस्वीर को हटाने की मांग की थी। मोदी जलियांवाला बाग नेशनल मेमोरियल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं।

अंतर्राष्ट्रीय सर्व कम्बोज समाज के अध्यक्ष बॉबी कम्बोज ने आईएएनएस से कहा कि जलियांवाला बाग हर भारतीय के लिए किसी तीर्थस्थल से कम नहीं है। स्कूली बच्चे और परिवारों के सैकड़ों लोग देश के लिए कुर्बान होने वालों के प्रति सम्मान जाहिर करने के लिए हर रोज इसका दौरा करते हैं।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss