दिल्ली : कोरोना के एक हजार नए मामले, आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए आधे
Thursday, 06 August 2020 08:54

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 1076 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान कोरोना की जांच के लिए दिल्ली में पहले के मुकाबले आधे से भी कम आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए हैं। एक महीना पहले तक जहां दिल्ली में प्रतिदिन 10 से 11 हजार हजार आरटी-पीसीआर टेस्ट किए जा रहे थे, वहीं अब 4 से 5 हजार आरटी पीसीआर टेस्ट किए जा रहे हैं। कोरोना की जांच के लिए बीते 24 घंटे के दौरान दिल्ली में केवल 4870 आरटी पीसीआर टेस्ट किए गए हैं। जुलाई माह की शुरूआत में 1 जुलाई को दिल्ली में कोरोना की जांच के लिए लगभग 11,000 आरटी-पीसीआर और करीब 10,000 एंटीजेंट टेस्ट किए गए थे।

बुधवार को दिल्ली सरकार ने कोरोना बुलेटिन जारी करते हुए कहा, "बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 1076 नए मामले सामने आए हैं। इसी दौरान 890 कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ हुए हैं। 24 घंटे के दौरान ही दिल्ली में 11 व्यक्तियों की कोरोना से मृत्यु हुई। दिल्ली में अब तक 40,44 व्यक्ति कोरोना के कारण अपनी जान गवा चुके हैं। राष्ट्रीय राजधानी में कुल 1,40,232 व्यक्तियों को कोरोना हुआ। इनमें से 1,26,116 व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं। दिल्ली में फिलहाल 10,072 एक्टिव कोरोना रोगी है। इनमें से 5227 कोरोना रोगियों का उपचार उनके घरों पर ही चल रहा है।"

दिल्ली सरकार ने कहा, "दिल्ली के दो करोड़ लोगों की मेहनत और सूझबूझ की वजह से दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार हुआ है। आज दिल्ली के मॉडल की चर्चा पूरे देश और पूरी दुनिया में की जा रही है। दिल्ली में 2 से 3 फीसदी कोरोना संक्रमित रोगियों की मृत्यु हुई है।"

बुधवार को कोरोना की स्थिति पर दिल्ली में एक उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की गई बैठक आयोजित की गई। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक के दौरान सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के कारण हो रही मृत्यु पर समीक्षा की गई। वहीं दिल्ली के मुख्य सचिव ने भी कोरोना के उपचार में अपनाई जाने वाली रणनीति को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की।

दिल्ली के अस्पतालों में 13,578 बेड, कोरोना रोगियों के लिए आरक्षित रखे गए हैं। इनमें से 2995 बेड उपयोग में है जबकि 10,072 बेड विभिन्न अस्पतालों में रिक्त पड़े हैं।

--आईएएनएस

जीसीबी

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss