कोविड-19 : दिल्ली में बन रहा है देश का पहला प्लाज्मा बैंक
Monday, 29 June 2020 15:05

  • Print
  • Email

 नई दिल्ली: कोरोना रोगियों के उपचार हेतु दिल्ली में प्लाज्मा बैंक बनाया जाएगा। यह बैंक किसी सामान्य ब्लड बैंक की तरह काम करेगा। कोरोना रोगी आवश्यकता पड़ने पर प्लाज्मा थेरेपी के लिए यहां से प्लाज्मा हासिल कर सकेंगे। दिल्ली सरकार ने यह प्लाज्मा बैंक आईएलबीएस अस्पताल में स्थापित करने का फैसला लिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली में प्लाज्मा से कोरोना का सफल उपचार करने के उपरांत केंद्र सरकार से प्लाज्मा थेरेपी की इजाजत तो मिल गई, लेकिन समस्या यह थी कि प्लाज्मा मिलेगा कहां से। इसी समस्या का समाधान करते हुए दिल्ली सरकार ने प्लाज्मा बैंक बनाने का फैसला लिया है। यह देश भर में पहला प्लाज्मा बैंक होगा। बीते दो-तीन दिनों में दिल्ली सरकार ने प्लाज्मा बैंकों के संबंध में सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं।"

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली सरकार ने यह प्लाज्मा बैंक आईएलबीएस अस्पताल में बनाने का निर्णय लिया है। केवल उपचार कर रहे डॉ या फिर अस्पताल द्वारा लिख कर देने की स्थिति में ही आईएलबीएस प्लाज्मा उपलब्ध कराएगा।"

मुख्यमंत्री और दिल्ली सरकार ने ऐसे सभी व्यक्तियों से सामने आकर रक्तदान की अपील की है जो कोरोना उपचार के उपरांत स्वस्थ हो चुके हैं। दरअसल कोरोना को हरा चुके व्यक्तियों द्वारा किए गए रक्तदान से ही कोरोना से लड़ने वाला प्लाज्मा प्राप्त होता है। दिल्ली सरकार जल्द ही एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी करेगी। इस नंबर पर फोन या व्हाट्सएप के माध्यम से प्लाज्मा दान करने के इच्छुक व्यक्ति संपर्क कर सकते हैं।

दिल्ली सरकार ने प्लाज्मा देने वाले व्यक्तियों की सुरक्षा एवं सुविधा को ध्यान में रखते हुए आईएलबीएस अस्पताल को प्लाज्मा बैंक और रक्तदान केंद्र बनाया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, "आईएलबीएस में कोरोना का उपचार नहीं होता, इसलिए यहां से किसी को कोरोना संक्रमण होने का खतरा नहीं है। इसके साथ ही प्लाज्मा दान करने वाले व्यक्तियों को लाने और ले जाने के लिए टैक्सी का प्रबंध भी दिल्ली सरकार द्वारा किया जाएगा।"

मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण के बाद स्वस्थ हो चुके व्यक्तियों से कहा, "जो व्यक्ति ठीक हो चुके हैं उनसे मेरी हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि आप सब लोग सामने आकर प्लाज्मा डोनेट करें ताकि लोगों की जान बचाई जा सके। किसी की जान बचाने का अवसर बड़ी मुश्किल से मिलता है। आप लोगों के पास यह अवसर है इसलिए सामने आकर लोगों की जान बचाएं।"

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss