Print this page

एम्स के मेस कर्मी का कोरोना से निधन, आरडीए ने सावधानी में चूक का आरोप लगाया
Friday, 22 May 2020 19:42

नई दिल्ली: दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के एक मेस कर्मचारी ने कोरोना वायरस के कारण दम तोड़ दिया। एम्स रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने शुक्रवार को संस्थान के निदेशक को एक पत्र लिखा, जिसमें कहा गया, "आरपीसी कैंटीन के एक कर्मचारी की कोविड-19 से मौत हो गई।"

आरडीए ने पत्र में आरोप लगाया कि हॉस्टल अनुभाग ने एहतियाती कदम उठाने से इनकार कर दिया जबकि आरडीए द्वारा एक महीने से अधिक समय पहले ही इसकी मांग की गई थी।

आरडीए ने यह भी आरोप लगाया कि छात्रावास के अधीक्षक ने कैंटीन श्रमिक की मौत को संभावित कार्डियक अरेस्ट के एक मामले के रूप में पेश करने की कोशिश की।

आरडीए ने इस घटना के लिए हॉस्टल अधीक्षक और वरिष्ठ वार्डन के इस्तीफे की मांग की है।

पत्र में कहा गया है, "हम सभी मेस मजदूरों और निवासियों के परीक्षण के बाद महामारी के कारण मृतक पीड़ित परिवार के लिए मुआवजे की मांग करते हैं, जो लोग महामारी के दौरान हमारी सेवा कर रहा था।"

एक सूत्र ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, "एम्स अपने निवासियों और कर्मचारियों के लिए उचित सावधानी नहीं बरत रहा है। दो महीने पहले, हमने नियमित जांच और थर्मल स्कैनर, सैनिटाइजर, मास्क आदि जैसे उपायों की मांग की थी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि मेस कर्मचारी सुरक्षित रहें। लेकिन प्रशासन ने हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया।"

--आईएएनएस