मप्र में कोरोना हर हिस्से में पहुंचने के करीब
Thursday, 21 May 2020 17:06

  • Print
  • Email

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है, मात्र दो जिले ही ऐसे बचे हैं जहां इस बीमारी के मरीज नहीं मिले हैं। यह बीमारी राज्य के 52 में से 50 जिलों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है।

राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। अब तो बड़े शहरों से छोटे शहरों तक इस बीमारी के मरीज मिल रहे हैं। अचानक कई जिलों में प्रवासी मजदूरों के पहुंचने के बाद मरीजों की संख्या में इजाफा भी हुआ है। वर्तमान में राज्य में नरसिंहपुर और कटनी ही ऐसे दो जिले बचे हैं जहां कोरोना के मरीज नहीं मिले। वहीं राज्य में 26 ऐसे जिले है जहां मरीजों की संख्या दहाई में नहीं है अर्थात एक से नौ तक है।

राज्य का बालाघाट उन चुनिंदा जिलों में से एक था जहां कोरोना का मरीज नहीं मिला था, मगर वहां भी एक मरीज मिला जो पिछले दिनों ही मुम्बई से लौटा था। जिलाधिकारी दिलीप आर्य ने आईएएनएस को बताया, "कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए योजना बनाई गई थी और बाहर से आने वालों को क्वारंटाइन सेंटर में रखने के अलावा घरों में भी क्वारंटाइन किया जा रहा था। जो मजदूर बाहर से लौट रहे हैं उनके स्वास्थ्य की नियमित रुप से जानकारी हासिल की जाती है। उसी के चलते एक व्यक्ति का नमूना जांच के लिए भेजा गया तो उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।"

इसी तरह बुंदेलखंड के छतरपुर जिले भी आसपास के जिलों में संक्रमित मरीजों के मिलने के बावजूद इस बीमारी के मरीजों से बचा हुआ था, मगर बीते दो दिनों में कोरोना के दो मरीज मिले। यह मरीज पिछले दिनों ही बाहर से आए हैं। जिलाधिकारी शीलेंद्र सिंह बताते है, "लगातार बाहर से आ रहे प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिंग की जा रही है उन्हें क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग और अन्य अमले का दल लगातार गांव गांव में घर-घर पहुंचकर सर्वे कार्य करने में लगा है।"

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान के अनुसार, प्रदेश में कोरोना संक्रमित क्षेत्रों की संख्या में कमी आयी है। अब ये क्षेत्र 701 हो गए हैं। प्रदेश के कुल नौ जिले संक्रमण मुक्त हैं, जिसमें कटनी, नरसिंहपुर में कोरोना का अभी तक कोई भी प्रकरण सामने नहीं आया है। वहीं सात जिले आगर-मालवा, अलीराजपुर, अनूपपुर, छिंदवाड़ा, हरदा, शहडोल तथा शाजापुर हैं जहां कोरोना प्रकरण थे परंतु अब वे संक्रमण मुक्त हो गए हैं।

ज्ञात हो कि पिछले दिनों राज्य सरकार ने सभी जिलों को रेड और ग्रीन जोन में बांटा है। राज्य में इंदौर व उज्जैन के संपूर्ण जिले रेड जोन में हैं। इन दोनों जिलों के शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों तक संक्रमण है। इसके अलावा भेापाल, बुरहानपुर, जबलपुर, खंडवा व देवास के नगर पालिक निगम क्षेत्र, मंदसौर, धार, कुक्षी व नीमच के नगर पालिका क्षेत्र.. यह रेड जोन की श्रेणी में हैं, बाकी सभी जिले ग्रीन जोन की श्रेणी में हैं।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss