मप्र : तबलीगी जमात में गए 82 लोगों की पहचान, आईसोलन में रखा जाएगा
Wednesday, 01 April 2020 12:54

  • Print
  • Email

भोपाल: दिल्ली में आयोजित इस्लामिक सम्मेलन (तबलीगी जमात) में भाग लेने वाले मध्य प्रदेश के 107 लोगों में से 82 की पहचान कर ली गई है और उन्हें आईसोलेशन में रखा जा रहा है। वहीं शेष लोगों की तलाश जारी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार की सुबह संवाददाताओं कहा, "दिल्ली में आयोजित तबलीगी जमात में शामिल होने के बाद 107 लोग राज्य में आए थे। ये लोग भोपाल, विदिशा, रायसेन, शाजापुर अलग-अलग जिलों में आए। सबसे ज्यादा भोपाल में आए है। प्रशासन इन लोगों की खोज कर रही है।"

चौहान ने आगे बताया, "अब तक राज्य में ऐसे 82 लोगों का पता कर लिया गया है, जो दिल्ली के तबलीगी जमात में शामिल हुए थे। इन सभी को आईसोलेशन और क्वारंटाइन में रखा जाएगा। अभी 82 लोगों के अलावा जो लोग शेष रह गए है उन्हें खोजा जा रहा है। दिल्ली में जो संक्रमण फैला है वह गंभीर मसला है।"

इंदौर के हालात की चर्चा करते हुए चौहान ने कहा, "कोरोना के खिलाफ राज्य में जंग जारी है। पूरे प्रदेश को टोटल लॉक डाउन कर दिया गया हैं। जहां तक इंदौर की बात है, पूरी तरह सीमाओं को सील कर दिया गया है। यहां के कुछ हिस्सों में मुहल्लों विशेष में इस वायरस का संक्रमण बहुत ज्यादा फैला है।"

ज्ञात हो कि पुालिस मुख्यालय के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (गुप्तवार्ता) द्वारा मंगलवार को भोपाल के पुलिस उप महानिरीक्षक को जारी निर्देश में कहा गया था कि हाल ही में दिल्ली के निजामुददीन कॉलोनी स्थित तबलीगी मकरज की स्थानीय लोगों ने यात्रा की थी। अन्य राज्यों में वे कुछ लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए है, जिन्होंने तबलीगी मरकज की यात्रा की थी। इन स्थितियों में भोपाल से यात्रा पर गए कार्यकर्ताओं के संक्रमित होने की आशंका को नकारा नहीं जा सकता।

पुलिस मुख्यालय ने ऐसे लोगों को क्वारंटाइन व आइसोलशन में रखने की हिदायत दी गई है, जिन्होंने तबलीगी मरकज की यात्रा की है। इसके साथ ही उन 36 लोगों की सूची भी उपलब्ध कराई गई है, जो इस धार्मिक सम्मेलन में शामिल हुए थे।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss