मप्र में भाजपा को भवन निर्माताओं व जमीन करोबारियों ने दिया दान : एडीआर
Saturday, 04 May 2013 09:13

  • Print
  • Email

मध्य प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को बीते वर्ष 2011-12 में 500 से ज्यादा लोगों ने लगभग छह करोड़ रुपये का दान दिया है। इनमें 67 भवन निर्माताओं और जमीन कारोबारीयों के अलावा शैक्षणिक संस्थाओं के संचालकों का नाम भी शामिल है। इसी अवधि में कांग्रेस को सिर्फ दो लाख 40 हजार का दान मिला है। यह खुलासा 'एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म' (एडीआर) एवं 'इलेक्शन वॉच' ने शुक्रवार को भोपाल में एक संवाददाता सम्मेलन में किया।

एडीआर के संचालक जगदीप छोकर ने एक संवाददाता सम्मेलन में विभिन्न दलों की दान राशि का ब्यौरा जारी किया। एडीआर ने सूचना के अधिकार के तहत यह ब्यौरा आयकर विभाग से हासिल किया है।

छोकर ने हासिल दस्तावेजों के आधार पर बताया कि भाजपा को वर्ष 2011-12 में 1104 लोगों ने दान दिया। इन दानदाताओं ने भाजपा को पांच करोड़ 90 लाख रुपयों का दान दिया है। इसी अवधि में कांग्रेस को दो लाख रुपये बतौर चंदे में मिले हैं। समाजवादी पार्टी ऐसा दल है जिसे मध्य प्रदेश में किसी ने दान नहीं दिया।

उन्होंने बताया कि यह ब्यौरा उन लोगों का है जिन्होंने 20 हजार से अधिक की राशि दान में दी है।

इलेक्शन वॉच व एडीआर द्वारा जारी किए गए ब्यौरे में बताया गया कि वर्ष 2003-04 से 2011-12 के बीच भाजपा व कांग्रेस को चंदे के रूप में विदेशी धन भी मिला है। भाजपा को 19 करोड़ 42 लाख और कांग्रेस को नौ करोड़ 83 लाख रुपये विदेशी चंदा मिला।

दोनों दलों को विदेशी धन देने वालों में वेदांता समूह (सेसा गोवा, मद्रास एल्युमीनियम कंपनी लिमिटेड, स्टरलाइट इंडस्ट्रीज), पब्लिक एण्ड पॉलिटिकल अवेयरनेस ट्रस्ट वेदांता व हयात रिजेंसी और डाओ केमिकल्स शामिल रहे हैं।

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी हितैषी वाजपेयी का कहना है कि उनका दल चंदा इकट्ठा करने के मामले में पूरी तरह पारदर्शी है। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने आजीवन सदस्यता निधि जमा करने के लिए अभियान चलाया था। इस अभियान में भाजपा को राज्य में लगभग सात करोड़ रुपये मिले। इसका ऑडिट होता है और आयकर विभाग को भी ब्यौरा दिया जाता है।

छोकर ने बताया कि वर्ष 2004-05 से 2010-11 के मध्य सबसे ज्यादा आय वाले दलों की सूची में कांग्रेस सबसे ऊपर है। कांग्रेस की आय दो हजार आठ करोड़, भाजपा की आय 994 करोड़, बसपा की 438 करोड़ और सपा की आय 278 करोड़ थी।

दान हासिल वाले दलों में भाजपा सबसे ऊपर है। भाजपा को वर्ष 2004-05 से 2010-11 के मध्य 820 करोड़ का दान मिला जो कुल आय का 82़ 43 प्रतिशत है। कांग्रेस को 27 करोड़ का दान मिला जो कुल आय का 13़ 57 प्रतिशत है। बसपा को दान में 30 करोड़ मिले जो कुल आय का 70़ 71 प्रतिशत और सपा को कुल आय का 76़.35 प्रतिशत राशि दान में मिली।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss