Print this page

शिवराज ने प्रधानमंत्री को आत्मनिर्भर मप्र के रोडमैप से अवगत कराया
Tuesday, 01 December 2020 20:55

भोपाल/दिल्ली: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और विभिन्न विषयों पर उनकी चर्चा हुई। मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री मोदी को अगले तीन वर्षो में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप के बारे में बताया। आधिकारिक तौर पर भोपाल में दी गई जानकारी में बताया गया है कि मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके निवास पर मुलाकात कर प्रदेश में चल रही प्रमुख योजनाओं की प्रगति के साथ विगत आठ माह में प्रदेश की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से चर्चा की।

लगभग सवा घंटे चली इस बैठक में मुख्यमंत्री चौहान ने केंद्र द्वारा हाल ही में विभिन्न मदों में जारी की गई राशि के लिए प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद ज्ञापित किया। हाल ही में केंद्र सरकार ने रबी 2020-21 में 22 लाख मीट्रिक टन यूरिया का आवंटन, बाढ़ संकट के दौरान 611 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता और कैम्पा निधि के अंतर्गत प्रदेश को 860 करोड़ रुपये राज्य सरकार को जारी किए हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने मध्यप्रदेश में आगामी तीन वर्षो में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश 2023 के रोडमैप के बारे में प्रधानमंत्री मोदी को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि रोडमैप नीति आयोग के सक्रिय सहयोग एवं देश के प्रख्यात विशेषज्ञों, संयुक्त राष्ट्र की संस्थाओं के प्रतिनिधियों, शिक्षाविदों और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कई चरणों एवं स्तरों के गहन विचार-विमर्श एवं मंथन के बाद तैयार किया गया है। साथ ही रोडमैप की प्रति प्रधानमंत्री को भेंट की गई।

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि रोडमैप में आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के सर्वागीण एवं समावेशी विकास को समाहित किया गया है। इसमें अधोसंरचना, सुशासन, स्वास्थ्य, शिक्षा तथा अर्थव्यवस्था एवं रोजगार के लिए दीर्घकालीन, मध्यकालीन और अल्पकालीन लक्ष्य निर्धारित किए गए हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री को कोविड काल में आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने और उपभोक्ता खपत को बढ़ाने में राज्य सरकार द्वारा किए गए प्रयासों से अवगत कराया। प्रदेश में कोविड की वर्तमान स्थिति और टीकाकरण से जुड़ी व्यापक तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि राज्य एवं जिला स्तर पर कोविड-19 के टीकाकरण के समन्वय के लिए समितियां गठित की गई हैं तथा राज्य में अनुभाग स्तर पर पर्यवेक्षण एवं समन्वय के लिए अनुविभागीय अधिकारियों की अध्यक्षता में समितियों का गठन किया जाएगा।

इसके अलावा मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री को प्रदेश में संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं- प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना, श्रम सिद्धि अभियान, मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना, स्व-सहायता समूहों का सशक्तिकरण, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना, कृषि अधोसंरचना निधि और कृषि उत्पादन योजना सहित अन्य योजनाओं की प्रगति से अवगत कराया।

--आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके