भाजपा के शिल्पियों में शामिल सारंग पंचतत्व में विलीन
Monday, 16 November 2020 06:10

  • Print
  • Email

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी को भव्य रूप देने वाले शिल्पियों में से एक थे कैलाश सारंग। उन्होंने पार्टी को गढ़ने, भव्य स्वरूप देने से लेकर कार्यकर्ता तैयार करने में बड़ी भूमिका निभाई। सारंग को रविवार को भोपाल में अंतिम विदाई दी गई। उनका अंतिम संस्कार सुभाषनगर के विश्रामघाट में हुआ। पार्टी के नेताओं ने सारंग की संगठन क्षमता को स्मरण किया। भाजपा के वरिष्ठ नेता सारंग का शनिवार को उपचार के दौरान मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। रविवार को उनका पार्थिव शरीर विमान से भोपाल लाया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्टेट हैंगर पर पहुंचकर सारंग को श्रद्धांजलि अर्पित की।

सारंग का पार्थिव शरीर उनके निवास और फिर वहां से पार्टी कार्यालय लाया गया। पार्टी कार्यालय में नेताओं और कार्यकर्ताओं ने उनके अंतिम दर्शन कर श्रद्धासुमन अर्पित किए। पार्टी नेताओं ने सारंग के शोकाकुल पुत्रों विवेक सारंग एवं प्रदेश सरकार के मंत्री विश्वास सारंग को ढाढस बंधाया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज ने कैलाश सारंग को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि "उनके कारण ही आज भाजपा का यह भव्य स्वरूप बना है। पहले जनसंघ, फिर जनता पार्टी और फिर भाजपा का संगठन उन्होंने प्रदेश में खड़ा किया। सारंग जैसे व्यक्ति युगों में पैदा होते हैं और हम सब के लिए उनका जीवन और कार्यप्रणाली प्रेरणा का स्रोत है।"

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि "कैलाश सारंग का निधन हम सबके लिए अत्यंत दुख की घड़ी है। वे जब तक जिए, उन्होंने भाजपा के कार्यो का विस्तार कैसे हो, नए कार्यकर्ताओं का निर्माण कैसे हो, इसी सोच के साथ निरंतर पार्टी की सेवा की।" शर्मा ने भाजपा मध्यप्रदेश के लाखों कार्यकर्ताओं की ओर से कैलाश सारंग को श्रद्धासुमन अर्पित किए।

भाजपा कार्यालय से उनके पार्थिव शरीर को सुभाषनगर विश्रामघाट ले जाया गया, जहां उनका अंतिम संस्कार हुआ। सारंग के बड़े पुत्र विवेक सारंग ने मुखाग्नि दी।

--आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss