मध्‍य प्रदेश एग्‍जिट पोल में भाजपा को बढ़त, कांग्रेस को 10 से 12 सीट मिलने का अनुमान
Saturday, 07 November 2020 19:09

  • Print
  • Email

भोपालमध्य प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव की 28 सीटों के लिए 3 नवंबर को मतदान हुआ था, जिसके लिए शनिवार शाम से एग्‍जिट पोल आने शुरू हो गए हैं। इंडिया टुडे ग्रुप और एक्सिस माइ इंडिया के एक्जिट पोल के अनुसार मध्य प्रदेश में भाजपा को 16-18 सीटें और कांग्रेस को 10-12 मिलने का अनुमान है। 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा को 46 फीसद वोट और कांग्रेस को 43 फीसद मिलने का अनुमान है।

विभिन्न सर्वे एजेंसियों की ओर से किए गए एग्जिट पोल को जागरण डॉट कॉम पर देखा जा सकेगा। एग्जिट पोल के जरिए यह अनुमान लगाना संभव होगा कि मध्‍य प्रदेश में मौजूदा शिवराज सिंह चौहान की सरकार बरकरार रहेगी या कांग्रेस की वापसी होगी।

बता दें कि एग्‍जिट पोल के अनुसार, परिणाम का स्‍पष्‍ट अनुमान नहीं लगाया जा सकेगा क्‍योंकि यह अनुमान भर होता है। कई बार ये एग्‍जिट पोल के लिए किए गए सर्वे गलत भी साबित होते हैं। असल परिणाम 10 नवंबर को मतों की गिनती के बाद सामने आएगा।

इंडिया टीवी (India TV Exit Poll) का एग्‍जिट पोल, आज तक (AAJ TAK Exit Poll) का एग्जिट पोल, एबीपी न्यूज (ABP Exit Poll) का एग्जिट पोल, रिपब्लिक भारत का एग्जिट पोल (Republic Bharat exit poll), और न्यूज 24 का एग्जिट पोल (News 24 Exit poll) जारी हो सकता है। इन तमाम चैनलों के सर्वे आधारित एग्जिट पोल के जरिए उपचुनाव के नतीजों के बारे में अनुमान लगाया जा सकता है। 

मध्‍यप्रदेश में कुल 230 विधानसभा सीटें हैं। यहां जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी को 8 सीटों की आवश्‍यकता है क्‍योंकि इसे बहुमत का आंकड़ा 115 तक पहुंचना है और कांग्रेस को सत्‍ता में वापस आने के लिए 28 सीटों पर जीत की आवश्‍यकता है।

सदन में भाजपा के 107 विधायक हैं। बता दें कि मार्च में कुल 25 कांग्रेस के विधायकों ने इस्‍तीफा दे दिया और भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। इसके बाद कांग्रेस की संख्‍या में कमी आ गई और यह 87 पर अटक गई। दूसरी ओर सदन में चार निर्दलीय दो बसपा और एक सपा के विधायक हैं। 25 विधायकों के इस्‍तीफा और तीन विधायकों के निधन के कारण 28 सीटों पर उपचुनाव कराया गया है।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss