दाभोलकर के हत्यारों का एक माह बाद भी सुराग नहीं
Friday, 20 September 2013 23:06

  • Print
  • Email

पुणे: महाराष्ट्र के सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की दिनदहाड़े हुई हत्या के एक महीने बाद भी पुलिस को हत्यारों का सुराग नहीं लगा है और वह अभी भी अंधेरे में हाथ-पांव मार रही है। पुलिस ने कुछ संदिग्धों के स्केच जारी किए और दर्जनों लोगों से पूछताछ भी की, लेकिन अभी तक कोई भी उल्लेखनीय प्रगति नहीं हो पाई है।

जादूटोना और चमत्कार विरोधी कार्यकर्ता और मृदु व्यवहार वाले चिकित्सक, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार दाभोलकर को पुणे में ओंकारेश्वर मंदिर के समीप अपने घर के पास 20 अगस्त को सुबह की सैर के समय नजदीक से गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद राष्ट्रव्यापी आक्रोश भड़का था।

हत्यारों ने चार गोलियां चलाई थी जिनमें से दो दाभोलकर को लगी। उनकी गर्दन और पीठ में गोलियां लगी थी। गोली लगने के तुरंत बाद ही सरकारी सैस्सून अस्पताल में उनकी मौत हो गई।

हत्या से स्तब्ध मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने तुरंत ही दाभोलकर के हत्यारों का सुराग देने वालों को 10 लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की थी। लेकिन इसके बाद भी कोई सुराग नहीं मिल सका है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss