महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कहा, भाजपा-ड्रग्स लिंक की जांच करे एनसीबी, नहीं तो हम करेंगे
Saturday, 17 October 2020 08:35

  • Print
  • Email

मुंबई: भारतीय जनता पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं के खिलाफ ड्रग्स मामले की जांच का मुद्दा गर्माने लगा है। इस पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शुक्रवार को कहा कि अगर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) इस मामले की जांच नहीं करती है, तो फिर मुंबई पुलिस इसकी जांच करेगी। देशमुख ने कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत के नेतृत्व में एक कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को यह आश्वासन दिया, जो इस मामले में उनसे उचित कदम उठाने की अपील करने के लिए मिला था।

महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस समिति (एमपीसीसी) ने शुक्रवार को राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख से कथित 'बॉलीवुड और भाजपा ड्रग संबंधों' की जांच के लिए आग्रह किया, जिसके बाद देशमुख के तीखे तेवर देखने को मिले।

देशमुख ने मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह को प्राथमिकता के आधार पर इस मामले में एनसीबी के उप निदेशक के साथ समन्वय स्थापित करने के निर्देश जारी किए। इसके साथ ही देशमुख ने कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को सूचित किया कि यदि एनसीबी जवाब नहीं देती है, तो मुंबई पुलिस खुद मामले की जांच करेगी।

मीडिया को संबोधित करते हुए, सावंत ने राजू वाघमारे और रत्नाकर सिंह के साथ कहा कि यह बड़ा संयोग रहा कि अभिनेता बॉलीवुड विवेक ओबेरॉय के घर पर कर्नाटक पुलिस ने छापा मारा और उसी दिन बायोपिक 'पीएम नरेंद्र मोदी' को फिर से जारी किया गया।

उन्होंने कहा, बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले की जांच तीन केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की गई, लेकिन कुछ भी सामने नहीं आया। एनसीबी की जांच ड्रग्स एंगल पर की गई, ताकि लोगों को भ्रमित किया जा सके, लेकिन यह भी एक हद तक कम हो गई है।

सावंत ने दावा किया कि ओबेरॉय के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ घनिष्ठ संबंध हैं और अतीत में वह पार्टी के स्टार प्रचारक रहे हैं।

दरअसल बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेरॉय की पत्नी प्रियंका अल्वा के भाई आदित्य को बेंगलुरू पुलिस की केंद्रीय अपराध शाखा द्वारा ड्रग्स की जांच में आरोपी के रूप में नामित किए जाने के बाद कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से भाजपा के कथित ड्रग लिंक की जांच की मांग की है।

--आईएएनएस

एकेके/जेएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.