महाराष्ट्र में भारी बारिश ने ली 47 की जान, कर्नाटक में स्थिति गंभीर, प्रधानमंत्री ने दोनों राज्यों के सीएम से की बात
Friday, 16 October 2020 16:48

  • Print
  • Email

नई दिल्‍ली: भारी बारिश और बड़े बांधों से पानी छोड़े जाने की वजह से कर्नाटक के कई हिस्सों में बाढ़ के हालात शुक्रवार को भी गंभीर बने रहे जबकि पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के पुणे, औरंगाबाद और कोंकण डिवीजन में भारी बारिश और बाढ़ से पिछले तीन दिनों में 47 लोगों की जान जा चुकी है और लाखों हेक्टेयर फसलों को नुकसान हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और केंद्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

पश्चिमी महाराष्ट्र में 28 लोगों की मौत वर्षा जनित घटनाओं में हुई है। राज्य का यह हिस्सा पुणे डिवीजन में आता है। मध्य महाराष्ट्र के औरंगाबाद डिवीजन में 16 और तटीय कोंकण में तीन लोगों की जान गई है। पुणे के डिवीजनल आयुक्त कार्यालय के मुताबिक, भारी वर्षा और बाढ़ से 2300 से ज्यादा घर क्षतिग्रस्त हुए हैं और 21000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। पुणे, सोलापुर, सतारा और सांगली जिलों में 57,000 हेक्टेयर में गन्ना, सोयाबीन, सब्जी, धान, अनार और कपास जैसी फसलों को नुकसान हुआ है।

एक अधिकारी ने बताया, 'सोलापुर में 14, सांगली में नौ, पुणे में चार और सतारा में एक व्यक्ति की मौत हुई है।' इन चार जिलों में 513 पशुओं की भी जान गई है और 2319 घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। सोलापुर में 17000, सांगली में 1079, पुणे में 3000 और सतारा में 213 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। आपदा से पश्चिमी महाराष्ट्र में सोलापुर, सतारा, कोल्हापुर, सांगली, पुणे और मराठवाड़ा में लातूर, उस्मानाबाद और बीड सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। 

कर्नाटक में भारी बारिश से तटीय और उत्तरी क्षेत्रों में बाढ़ आ गई जिससे कटाई से पहले खरीफ की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। कर्नाटक के उत्तर और उत्तर-पश्चिम क्षेत्रों में बागलकोट, बेल्लारी, बेलगावी, बीदर, धारवाड़, गदग, हावेरी, हुबली, कलबुरगी, कोप्पल, रायचूर, विजयपुरा और यादगीर सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। एनडीआरएफ की छह टीमों को बचाव और राहत कार्यों के लिए बीदर, कलबुरगी और यादगीर जिलों में तैनात किया गया है। पीएम मोदी ने बीते दिनों तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्र‍ियों से बात करके हालात की जानकारी ली थी। 

तेलंगाना के हैदराबाद में अली नगर निवासी मुहम्मद अब्दुल ताहिर के परिवार के पांच लोगों के शव शुक्रवार को मिल गए। दो दिन पहले भारी बारिश के कारण आई बाढ़ के तेज बहाव में ये सभी बह गए थे। कुरैशी के दामाद मुहम्मद उमर ने बताया कि अपने घर के पास पानी बढ़ता देख परिवार पड़ोस के एक अपार्टमेंट में जाने के लिए निकला था। मारे गए पांच लोगों में कुरैशी के एक भाई, तीन बहुएं और एक पोती शामिल हैं। उनके दो बेटे और एक पोता अभी भी लापता हैं।

पीएम मोदी ने कहा, 'महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे जी से बात हुई। राज्य के कुछ हिस्सों में बाढ़ और भारी बारिश के कारण पैदा हुए हालात के बारे में जानकारी ली। मेरी प्रार्थना उन बहनों और भाइयों के साथ हैं जो इस आपदा में प्रभावित हुए हैं। केंद्र सरकार राहत और बचाव कार्य में हर संभव मदद करेगी।' पीएम मोदी ने आगे कहा, कर्नाटक में बारिश और बाढ़ की स्थति को लेकर बीएस येदियुरप्पा जी से बात की। हम बाढ़ से प्रभावित कर्नाटक की अपनी बहनों और भाइयों के साथ एकजुटता से खड़े हैं। 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.