महाराष्ट्र के पालघर में कांगो बुखार को लेकर अलर्ट
Wednesday, 30 September 2020 08:37

  • Print
  • Email

पालघर: कोरोनावायरस महामारी के बीच, पालघर में अधिकारियों ने घातक क्रिमियन कांगो हैमरेज फीवर (सीसीएचएफ) या कांगों फीवर को लेकर अलर्ट जारी किया है। ऐसा माना जा रहा है कि यह पशुओं से मानव में फैला है। शीर्ष अधिकारियों ने यहां मंगलवार को यह जानकारी दी। कलेक्टरेट ने सभी मीट और पॉल्ट्री विक्रेताओं और उपभोक्ताओं को कांगो बुखार को लेकर अलर्ट रहने और एहतियात बरतने के लिए कहा है, जिसका मृत्युदर 10 से 40 प्रतिशत के बीच है और इसकी कोई वैक्सीन भी उपलब्ध नहीं है।

कलेक्टर डॉ. मानेक गुरसाले ने आईएएनएस से कहा, "हमने सभी मीट विक्रेताओं को हाइजीन और सफाई के लिए आवश्यक उपाय करने, और गलव्स व मास्क पहनने को कहा है। साथ ही संबंधित विभाग से संपर्क करने के बाद ही गुजरात सीमा के रास्ते पशुओं को महाराष्ट्र लाने के दौरान समुचित जांच करने के लिए कहा है।"

जिला सिविल सर्जन कंचन वनारे ने कहा कि पालघर में हालांकि कांगो बुखार का कोई केस अभी तक नहीं आया है, पड़ोसी गुजरात में इस बीमारी से संक्रमित पाए गए हैं, इसलिए एहतियात बरते जा रहे हैं।

एनिमल हसबेंड्री डिपार्टमेंट के डिप्टी कमिश्नर डॉ. पी डी कांबले ने कहा, "अगर इसका पता नहीं लगाया गया और समय पर इलाज नहीं किया गया, करीब एक तिहाई रोगियों की मौत हो जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, इसकी मृत्यु दर 10-40 प्रतिशत है। पशुओं या इंसान के लिए कोई वैक्सीन उपलब्ध नहीं है।"

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

 

 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss