मुंबई में इमारत गिरने की घटना में मरने वालों की संख्या पहुंची 6
Friday, 17 July 2020 12:07

  • Print
  • Email

मुंबई: दक्षिणी मुंबई में 80 साल पुरानी भानुशाली बिल्डिंग के गुरुवार को गिरने के कारण हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर छह हो गई है। बचाव कार्य के दौरान रात को मलबे से करीब पांच शव बरामद किए गए। वहीं इस हादसे में 18 अन्य घायल हो गए हैं। यह जानकारी बीएमसी आपदा नियंत्रण ने शुक्रवार को दी।

पीड़ितों में कुसुम पी. गुप्ता(45), ज्योत्सना पी. गुप्ता(50), पद्मलाल एम. गुप्ता(51), और दो अज्ञात शामिल हैं।

वहीं गुरुवार रात को बचाई गईं नेहा गुप्ता(45) सर जे. जे. अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है, जबकि दो अन्य घायलों में भालचंद्र कांडू (48) और शैलेश भालचंद्र कांडू (17) शामिल हैं।

इस मानसून सीजन में मुंबई के पहले दो प्रमुख इमारत गिरने की दुर्घटना में फोर्ट में जीपीओ के पास पांच मंजिला भानुशाली बिल्डिंग और मलाड वेस्ट के मालवणी में कलेक्टर कंपाउंड के प्लॉट नंबर 8बी में तीन मंजिला टेनमेंट शामिल है।

दोनों दुर्घटनाओं में अब तक कुल आठ लोग अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं 30 से अधिक घायल हो गए हैं, जबकि एक दर्जन से अधिक लोगों को सुरक्षित रूप से निकाला गया हैं।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, आवास मंत्री जितेंद्र अवध, महापौर किशोरी पेडनेकर, नगर आयुक्त आई. एस. चहल, पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने स्थल पर जाकर दक्षिण मुंबई में राहत और बचाव कार्यों की समीक्षा की।

मलाड दुर्घटना के पीड़ितों की पहचान 23 वर्षीय महिला अंजुम एस शेख और 18 वर्षीय युवक फैजल डब्ल्यू सैयद के रूप में की गई है। मलाड दुर्घटना में बचाए गए 13 अन्य लोगों को मामूली चोट आई थी, जिन्हें हयात अस्पताल में ईलाज के बाद छुट्टी दे दी गई।

मलाड दुर्घटना स्थल का दौरा करने के पश्चात मुंबई उपनगरीय जिला संरक्षक मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि पीड़ित परिवारों में से प्रत्येक को 400,000 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, जबकि घायलों के परिवारों को इलाज के अलावा 5,000 रुपये दिए जाएंगे।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss