सादे नमक की तुलना में बेहतर विकल्प है हिमालयन नमक
Monday, 05 August 2019 14:14

  • Print
  • Email

इस्लामाबाद: सादे नमक की तुलना में गुलाबी हिमालयन नमक बेहतर विकल्प है। प्राकृतिक प्रक्रिया की वजह से गुलाबी हिमालयन नमक में कई अन्य खनिजों व तत्व मिले हुए होते हैं, जोकि साधारण नमक में देखने को नहीं मिलते। पाकिस्तान सशस्त्र बल (पीएएफ) अस्पताल की आहार विशेषज्ञ डॉ. नोशेन अब्बास ने कहा कि खेवड़ा की खदानों से निकाला जाने वाला गुलाबी हिमालयन नमक नियमित इस्तेमाल करने वाले सादे नमक के मुकाबले एक बेहतर विकल्प है।

सोडियम कई जैविक (बायोलॉजिकल) कामों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिसमें तरल संतुलन (फ्यूएड बैलेंस) के साथ ही तंत्रिका चालन (नर्व कंडक्शन) और मांसपेशी संकुचन (मसल कंट्रैक्शन) शामिल हैं।

दि एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, अब्बास ने कहा कि यह गुलाबी नमक सीधे किराने की दुकान तक पहुंचता है। जबकि सादा नमक सोडियम क्लोराइड के अलावा अशुद्धियों और अन्य खनिजों को हटाने के लिए एक शोधन (रिफाइनिंग) प्रक्रिया से गुजरता है।

उन्होंने कहा कि नमी को अवशोषित करने में मदद करने के लिए इसमें कभी-कभार एंटीसेकिंग एजेंटों को मिलाया जाता है और आयोडीन की कमी को रोकने में अक्सर आयोडीन शामिल किया जाता है।

उन्होंने कहा कि गुलाबी हिमालयन नमक को हाथ से निकाला जाता है, इसलिए यह एडिटिव्स (किसी चीज को खराब होने से बचाने के लिए मिश्रण किया जाता है) से मुक्त होता है। अब्बास ने कहा कि यह नमक सादे नमक की तुलना में काफी प्राकृतिक माना जाता है।

--आईएएनएस

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss