Advertisement

उप्र : दलित ने मुख्यमंत्री योगी से इच्छामृत्यु की इजाजत मांगी

Tuesday, 14 August 2018 11:02

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में एक दलित ने मुफलिसी की जिंदगी से छुटकारा पाने के लिए मुख्यमंत्री से परिवार सहित इच्छामृत्यु की इजाजत मांगी है। उसने आरोप लगाया कि उसे किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है।

मकरी गांव के भूमिहीन दलित मातादीन ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे अपने पत्र में कहा,"मेरा परिवार खपरैल के खंडहरनुमा घरौंदे में रह रहा है। मैंने जिले के अधिकारियों तक के चक्कर लगाए लेकिन अभी तक न तो शौचालय मिला और न ही राशन कार्ड दिया गया।"

उसने पत्र में लिखा कि वह अपनी पत्नी शकुंतला के साथ जान देना चाहता है, लिहाजा उसे इच्छामृत्यु की इजाजत दी जाए।

इस मामले में जिलाकारी डी.पी. गिरि का कहना है कि उन्हें दलित द्वारा इच्छामृत्यु मांगे जाने की जानकारी नहीं है। उन्हें जॉब कार्ड, इंदिरा आवास और शौचालय पहले ही दिया जा चुका है। 

--आईएएनएस

पाकिस्तान में देशभक्ति व उत्साह के साथ मनाया जा रहा स्वतंत्रता दिवस

Tuesday, 14 August 2018 09:05

पाकिस्तान में लोग पूरे जोश और देशभक्ति के साथ मंगलवार को देश का 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। देश के विभिन्न शहरों व कस्बों में लोगों ने मध्यरात्रि से ही आतिशबाजी करनी शुरू कर दी। स्वतंत्रता दिवस के लिए इमारतों को भी रोशन किया गया। 

डॉन ऑनलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, दिन की शुरुआत आजादी की मुबारकबाद और सार्वजनिक इमारतों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ हुई। 

राजधानी में 31 बंदूकों की सलामी के साथ आजादी का यह जश्न शुरू हुआ। इसके बाद सभी चार प्रांतीय राजधानियों में भी 21 बंदूकों की सलामी दी गई। 

पाकिस्तानी रेंजर्स के अधिकारियों ने वाघा सीमा पर भारतीय सीमा सुरक्षाबल के साथ मिठाइयां बांटी। 

आजादी का मुख्य समारोह इस्लामाबाद के कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया जाएगा, जहां राष्ट्रपति ममनून हुसैन राष्ट्रीय ध्वज फहरा सकते हैं। इस दौरान केयरटेकर प्रधानमंत्री नसीरुल मुल्क, तीनों सेनाओं के प्रमुख और अन्य गणमान्य मौजूद रहेंगे। 

कराची और लाहौर में कायद-ए-आजम मुहम्मद अली जिन्ना और अलामा इकबाल के मकबरों में भी चेंज ऑफ गार्ड समारोह आयोजित किए गए।

--आईएएनएस

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर भूस्खलन के बाद यातायात बाधित

Tuesday, 14 August 2018 09:05

रामबन और उधमपुर जिलों में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलनों की वजह से मंगलवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बंद कर दिया गया। यातायात अधिकारी ने बताया कि उधमपुर में भूस्खलन और रामबन जिले में कई स्थानों पर पत्थर ढहने की घटना की वजह से राजमार्ग को बंद कर दिया गया।

उन्होंने कहा, 'राजमार्ग के कई क्षेत्रों में अभी भी भारी बारिश हो रही है। सड़कों को साफ करने का अभियान बारिश बंद होने के बाद तत्काल शुरू किया जाएगा।"

राजमार्ग को सोमवार को नौ घंटों की भारी बारिश के बाद यातायात के लिए खोला गया था।

--आईएएनएस

डिजिटल डिवाइसों की नीली रोशनी से अंधेपन का खतरा

Tuesday, 14 August 2018 08:31

डिजिटल डिवाइसों से निकलनेवाली नीली रोशनी अंधेपन का कारण बन सकती है। शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की सोमवार की रिपोर्ट में बताया गया कि अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ टोलेडो में किए गए एक शोध के मुताबिक, लगातार नीला प्रकाश देखने से आंखों की प्रकाश के लिए संवेदनशील कोशिकाएं में जहरीले अणु उत्पन्न हो सकते हैं, जो धब्बेदार अपघटन का कारण बन सकता है। 

यह अमेरिका में अंधापन के प्रमुख कारणों में से एक है। 

यूनिवर्सिटी के रसायन और जैवरसायन विभाग के सहायक प्रोफेसर अजित करुणाथने ने बताया, "यह कोई रहस्य नहीं है कि नीला प्रकाश हमारे देखने की क्षमता को हानि पहुंचाता है और आंख की रेटिना को नुकसान पहुंचाता है। हमारे शोध से यह पता चलता है कि ऐसा कैसे होगा। हमें उम्मीद है कि इससे इसे रोकने के लिए दवाइयां बनाने में मदद मिलेगी और नए प्रकार का आई ड्रॉप बनाया जा सकेगा।"

धब्बेदार अपघटन का मुख्य कारण फोटोरिसेप्टर कोशिकाओं का मरना है, जो प्रकाश के प्रति संवेदनशील कोशिकाएं होती हैं। 

--आईएएनएस

प्रभात डेयरी का मुनाफा 93 फीसदी बढ़ा

Tuesday, 14 August 2018 08:30

दूध और दूध उत्पाद तैयार करनेवाली कंपनी प्रभात डेयरी लि. ने जून में खत्म हुई तिमाही में मुनाफे में 93 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है, जोकि 11.1 करोड़ रुपये रहा, जबकि वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में यह 5.8 करोड़ रुपये था। 

कंपनी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसके उपभोक्ता कारोबार में 28 फीसदी की वृद्धि हुई है, जिसका कुल बिक्री में 36 फीसदी योगदान है, जबकि पिछले साल कुल बिक्री में उपभोक्ता कारोबार की कुल बिक्री में 30 फीसदी हिस्सेदारी थी। कंपनी ने बताया कि नए उत्पादों के लांच करने तथा विपणन पहलों के कारण उपभोक्ता कारोबार में वृद्धि हुई है। 

बयान में कहा गया कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसके मार्जिन में 23 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में यह 17 फीसदी था। 

समीक्षाधीन तिमाही में प्रभात डेयरी के राजस्व में साल-दर-साल आधार पर 7 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 386 करोड़ रुपये रहा। वहीं, कंपनी के परिचालन मुनाफे में इस दौरान 14 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई, जोकि 32 करोड़ रुपये रहा। 

प्रभात डेयरी के संयुक्त प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी विवेक निर्मल ने बताया, "हमारी विकास दर निरंतर बढ़ी है, खासतौर से उपभोक्ता खंड में। दूध के दाम बढ़ने से हमारा मार्जिन बेहतर हुआ है। हमारे सभी खंडों की बिक्री में तेजी आई है। हम अपने फ्लैगशिप आउटलेट गुडनेस जोन्स के विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।"

--आईएएनएस

पीएनबी घोटाला : केंद्र ने पूर्व एमडी को अंतिम दिन किया बर्खास्त

Tuesday, 14 August 2018 08:29

केंद्र सरकार ने सोमवार को इलाहाबाद बैंक की पूर्व प्रबंध निदेशक उषा अनंतसुब्रमण्यम को सेवानिवृत्ति के दिन बर्खास्त कर दिया। आधिकारिक अधिसूचना से यह जानकारी मिली है। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी द्वारा कथित रूप से किए गए 14,000 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा अनंतसुब्रमण्यम के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल करने के बाद उनसे इलाहाबाद बैंक के एमडी के सारे अधिकार छीन लिए गए थे, लेकिन वे बैंक की कर्मचारी बनी हुई थीं। 

अनंतसुब्रमण्यम इलाहाबाद बैंक में जाने से पहले साल 2015 के अगस्त से 2017 के मई तक पीएनबी की मुख्य कार्यकारी थी। इससे पहले वे 2011 के जुलाई से 2013 के नवंबर तक पीएनबी में कार्यकारी निदेशक के पद पर थीं। 

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सोमवार को सरकार ने सीबीआई को अनंतसुब्रमण्यम और पीएनबी के मुख्य कार्यकारी निदेशक संजय सरण के खिलाफ अभियोजन चलाने की मंजूरी दी। इस घोटाले में मोदी का मामा मेहुल चोकसी सह-आरोपी है और वो भी फरार है। 

मुंबई की एक अदालत में मई में दाखिल आरोपपत्र में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि अनंतसुब्रमण्यम समेत पीएनबी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को इस घोटाले की जानकारी थी, लेकिन उन्होंने इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया।

--आईएएनएस

कांग्रेस ने की अमित शाह की राज्यसभा सदस्यता रद्द करने की मांग

Tuesday, 14 August 2018 08:25

कांग्रेस ने सोमवार को मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) ओ. पी. रावत से मुलाकात कर उनसे भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की राज्यसभा की सदस्यता रद्द करने की मांग की। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष ने पिछले साल राज्यसभा चुनाव के दौरान अपने हलफनामे में उपने दायित्व का खुलासा नहीं किया था, जिसके लिए उनकी सदस्यता रद्द होनी चाहिए। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य चुनाव आयुक्त से मिला। सिब्बल ने कहा, "हमारा प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयुक्त से मिला। जनता का प्रतिनिधित्व अधिनियम 2004 के तहत जो कोई चुनाव लड़ता है उसे अपनी परिसंपत्ति व जायदाद का खुलासा करना होता है।"

उन्होंने कहा, "अगर कोई दायित्व है तो उन्हें उसका भी खुलासा करना चाहिए। अमित शाह अपनी दो जायदाद अपने पुत्र जय शाह के माध्यम से गुजरात में एक सहकारी बैंक के पास गिरवी रखी है, जिस पर उन्होंने 25 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है। लेकिन उन्होंने चुनाव में दिए हलफनामे में उसका खुलासा नहीं किया है।"

सिब्बल ने कहा, "हमने चुनाव आयुक्त को कहा कि यह 2004 के कानून का उल्लंघन है। हमारे ज्ञापन को राज्यसभा के सभापति के पास भेजा जाना चाहिए ताकि अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई हो सके।"

उन्होंने कहा, "चुनाव आयुक्त ने कहा कि उसने इसे संज्ञान में लिया है और जल्द ही इसपर फैसला लिया जाएगा। साथ ही समुचित कार्रवाई भी की जाएगी। हम इसे राजनीतिक मुद्दा बनाना नहीं चाहते हैं। हम चाहते हैं कि चुनाव आयुक्त इसपर कार्रवाई करें।"

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में पार्टी के नेता अभिषेक मनु सिंघवी, जयराम रमेश, विवेक तन्खा और प्रणव झा शामिल थे। 

चुनाव आयुक्त को सौंपे ज्ञापन में पार्टी ने कहा, "हाल ही में आई खबर में यह बात प्रकाश में आई है कि 2017 में संसद सदस्य के तौर पर राज्यसभा चुनाव के नामांकन में अमित शाह ने अपनी घोषणा में जानबूझकर दायित्व की महत्वपूर्ण जानकारी छिपाई।"

कांग्रेस ने कहा, "उच्च सदन के लिए हुए चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करने के पहले ही अमित शाह ने अपने पुत्र जय शाह के व्यापारिक उद्यम कुसुम फिनसर्व एलएलपी के लिए कालुपुर कमर्शियल को-ऑपरेटिव बैंक (गुजराक सबसे बड़े सहकारी बैंकों में एक) के पास अपनी दो जायदाद गिरवी रखी थी।"

कांग्रेस ने कहा कि शाह की जायदाद बैंक द्वारा उनके पुत्र की कंपनी को दिए गए 25 करोड़ रुपये के कर्ज के बदले में गिरवी रखी गई थी। 

कांग्रेस ने चुनाव आयोग से ज्ञापन पर संज्ञान लेते हुए अमित शाह की राज्यसभा सदस्यता तत्काल प्रभाव से रद्द करने के लिए समुचित कार्यवाही करने की मांग की। 

कांग्रेस ने कहा, "चुनाव आयोग को झूठा हलफनामा दाखिल करने के लिए अमित शाह के खिलाफ अवश्य कार्रवाई करनी चाहिए। झूठा हलफनामा दाखिल करने के लिए छह महीने कारावास और या जुर्माने का प्रावधान है।"

--आईएएनएस

भाजपा का गरीब, किसान व कमजोर वर्ग से कोई रिश्ता नहीं : अखिलेश

Tuesday, 14 August 2018 08:24

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि भाजपा का गरीब, किसान व कमजोर वर्ग के लोगों के साथ कभी कोई रिश्ता नहीं रहा है। भाजपा नेतृत्व किसानों, बेरोजगारों व व्यपारियों और जनता की समस्याओं के निदान पर सोचने के बजाय सिर्फ मुद्दों को भटकाने की ही कवायद करती रहती है 

उन्होंने कहा कि मेरठ में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई, जिसमें सिर्फ विपक्ष को कोसने और सामाजिक नफरत की राजनीति को धार देने की ही कोशिश की गई। गरीबों, पीड़ितों, वंचितों व समाज के कमजोर वर्गों के लिए उसमें कोई संदेश नहीं दिया गया।

अखिलेश ने सोमवार को पार्टी मुख्यालय पर आयोजित 'यशस्वी भव' कार्यक्रम में यूपी बोर्ड के 19 मेधावियों को लैपटॉप वितरण किया। इसके बाद प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश ने भाजपा को निशाने पर लिया। 

सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा हिटलर के प्रचार मंत्री गोएबल्स की राह पर चल रही है और लोक लुभावन घोषणाएं कर रही है। एक झूठ को सौ बार दुहराने की कला में पारंगत भाजपा नेतृत्व अब चाहे जितने जतन कर ले, कितनी भी यूपी में रैली, मंथन और विश्राम की परंपरा अपना ले, 2019 के चुनावों में जनता किसी भी तरह उनको समर्थन देने से रही। अब अच्छे दिनों का धोखा भी सबके सामने होगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र के साथ ही योगी सरकार भी सिर्फ हवाई किला बनाने में मस्त है। उन्होंने अपने वादों को पूरा नहीं किया है। मेधावियों को लैपटॉप वितरित करते हुए अखिलेश ने कहा कि वह मेधवियों का सम्मान देकर योगी सरकार को उनका काम याद दिला रहे हैं। 

अखिलेश ने कहा, "जब हम अपनी सरकार में लैपटॉप बांट रहे थे तो भाजपा के लोग इसको झुनझुना बता रहे थे। इसके बाद अपने घोषणापत्र में इसको रखा। अब तो यह लोग मेधावियों का भी सम्मान करने से कतरा रहे हैं।"

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार आज मुद्दों से हट रही है। इनको तो अपना कोई भी वादा अब याद नहीं है। भाजपा वाले तो ऐसे लोग हैं जो गूगल को भी घुमा देते हैं। आने वाले लोकसभा चुनाव के बारे में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब भाजपा '73 प्लस' की बात करती है। उनको अपनी गिनती सही करनी चाहिए, क्योंकि तीन तो भाजपा पहले ही हार चुकी है। 

उन्होंने कहा कि परिवारवाद की बात करने वाले आज खुद परिवारवाद कर रहे हैं। भाजपा उत्तर प्रदेश को लेकर चाहे जो दावा करती रहे, पर यूपी की जनता ने प्रदेश से भाजपा का सफाया करने का लक्ष्य तय कर लिया है। 

कार्यक्रम में सपा विधायक दल के नेता राम गोविंद चौधरी, पूर्व मंत्री अहमद हसन के साथ सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम भी मौजूद थे।

--आईएएनएस

15 दिसंबर से कोई भी नाला गंगा में नहीं गिरेगा : योगी

Tuesday, 14 August 2018 08:23

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि 15 दिसंबर से कोई भी नाला गंगा नदी में नहीं गिराया जाएगा। उन्होंने कहा कि 'हमारा यह दायित्व है कि हम अपने पूर्वजों की धरोहरों को संरक्षित रखें। हमें कम से कम यह प्रयास करना चाहिए कि गंगा में गंदगी न करें।' 

योगी ने कहा कि कुंभ से पहले हर हाल में गंगा स्वच्छ हो जानी चाहिए। उन्होंने कहा, "मैंने प्रदेश के अधिकारियों से कहा है कि हर हाल में बिजनौर से बलिया तक पवित्र गंगा नदी में जाने वाले सभी नालों के शोधन की तैयारी कर ली जाए। मैं आश्वस्त करता हूं कि 15 दिसंबर से कोई भी नाला गंगा नदी में नहीं जाएगा।" 

उन्होंने कहा, "हमने अफसरों के साथ मिल कर वृहद योजना तैयार की है। अधिकारी इसपर दिन-रात काम कर रहे हैं। यह काम मुश्किल है, लेकिन हमने गंगा स्वच्छता को चुनौती के रूप में स्वीकार किया है।"

मुख्यमंत्री योगी नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में कानपुर एवं बिठूर के 20 घाटों के लोकार्पण समारोह में संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने नमामि गंगे परियोजना और राष्ट्रीय गंगा नदी प्राधिकरण के तहत 20 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी का आभार जताया। 

योगी ने कहा, "कुंभ का पहला स्नान 15 जनवरी को प्रयागराज में होगा। देश व दुनिया से करोड़ों श्रद्धालु यहां आएंगे। हम सभी के स्वागत के लिए प्रतिबद्ध हैं। उसके लिए हम सुनिश्चित करेंगे कि गंगा से जुड़ी सभी परियोजनाओं को समय से पूरा कर लिया जाए।" 

उन्होंने कहा कि अगले साल के लिए एक बड़ी योजना बनाई गई है। अगर गंगा की अविरलता को बनाए रखना है तो हमें उसकी मूल धारा को यथावत बनाए रखते हुए उस पर कार्य करना होगा। इसके लिए जरूरी है कि गंगा और यमुना के दोनों तटों पर हर एक किलोमीटर पर एक-एक बड़े तालाब बनाकर उनमें जल संचयन करें और व्यापक वृक्षारोपण भी करें। 

योगी ने कहा, "हमने 15 अगस्त को 9 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य रखा है। अगले वर्ष हम इस अभियान को गंगा और अन्य नदियों के आस-पास चलाएंगे, ताकि इस अभियान से नदियों की अविरलता और निर्मलता को बरकरार रखा जा सके।"

मुख्यमंत्री ने अयोध्या, गढ़ मुक्ते श्वर से लेकर वाराणसी तक एसटीपी की प्रदेश सरकार की योजनाओं व राजमार्ग निर्माण के लिए सरकार का सहयोग करने पर केंद्रीय मंत्री गडकरी से आभार जताया। 

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी, केंद्रीय मंत्री गडकरी व सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत कानपुर एवं बिठूर के घाटों का लोकार्पण किया। इससे पहले मंत्रियों ने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ गंगा के घाटों के निर्माण कार्य व सफाई का निरीक्षण किया।

--आईएएनएस 

 

भारत ने बढ़ाई बांग्लादेश, म्यांमार सीमा की चौकसी

Tuesday, 14 August 2018 08:19

स्वतंत्रता दिवस से पहले भारत ने बांग्लादेश और म्यांमार सीमा पर चौकसी बढ़ा दी है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि भारतीय प्राधिकरणों को दोनों देशों की सीमा पर स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर देने को कहा गया है। बांग्लादेश से लगती भारत की सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ)के जवान निगरानी कर रहे हैं, जबकि म्यांमार से लगी देशी की सीमा पर असम रायफल्स को तैनात किया गया है। 

त्रिपुरा के पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) के.वी. श्रीजेश ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, "किसी प्रकार की घुसपैठ और गुप्त सीमापार आवाजाही को रोकने के लिए हमने बीएसएफ को भारत-बांग्लादेश सीमा पर चौकसी कड़ी कर देने को कहा है।"

त्रिपुरा के सभी प्रवेश और निर्गम मार्ग पर अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है और वाहनों और लोगों के आवागमन की गहन निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। 

श्रीजेश ने कहा, "हवाई अड्डों, रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों, शॉपिंग मॉल्स, बाजार और भीड़-भाड़ वाली जगहों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। संवेदनशील और महत्वपूर्ण जगहों की गहन निगरानी की जा रही है।"

--आईएएनएस

JNU छात्र उमर खालिद पर हमला करने वाले का CCTV फुटेज इमेज जारी, विट्टलभाई मार्ग पर दिख रहा है भागता

Tuesday, 14 August 2018 08:17

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र उमर खालिद  पर सोमवार को कांस्टीट्यूशन क्लब के बाहर एक अज्ञात व्यक्ति ने गोली चलाई, लेकिन खालिद को चोट नहीं आई्. यह हमला अपरान्ह करीब 2.30 बजे हुआ, जब खालिद एक चाय की दुकान पर थे. पुलिस उपायुक्त मधुर वर्मा ने खालिद के हवाले से कहा कि उन्होंने (खालिद ने) कहा कि किसी ने उन पर हमला किया गया और धक्का दिया. वर्मा ने कहा, "इसके बाद हमलावर ने खालिद पर फायर करने की कोशिश की, लेकिन, व्यक्ति तत्काल पर फायर नहीं कर सका." उन्होंने कहा कि खालिद ने बताया कि लोगों ने हमलावर का पीछा किया जिस पर उसने हवा में फायरिंग की.

दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक, करीब 2.30 बजे एक सीसीटीवी में एक शख्स बिट्ठल भाई पटेल मार्ग की तरफ भागता नजर आ रहा है. पुलिस को एक पिस्‍टल बरामद हुई थी जो कंट्री मेड है, जिसमें 6 जिंदा कारतूस भी मिले है. अभी तक पता नहीं लगा है कि फायरिंग हुई है और पुलिस की  जांच जारी है. पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ आर्म्स एक्ट और हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर लिया है. संसद मार्ग थाने में केस दर्ज हुआ है लोकल पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच भी मामले की जांच में लगी हुई है. उमर खालिद पर हमला करने वाले का पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज एमेज जारी किया है. 
अपने उपर हुए हमले के बाद उमर खालिद ने कहा कि 'देश में खौफ का माहौल है और सरकार के खिलाफ बोलने वाले हर व्यक्ति को डराया-धमकाया जा रहा है.' खालिद ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि मैं पुलिस सुरक्षा की मांग करूंगा. खालिद 'यूनाइटेड अगेंस्ट हेट' संगठन के 'खौफ से आजादी' नामक एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. 

हमले के बाद उमर खालिद ने कहा कि हमलोग एक कार्यक्रम के लिए आए थे. कार्यक्रम शुरू होने में कुछ समय था. मैं चाय पीने के लिए बाहर गया था. जैसे ही मैं चाय पीकर अंदर जा रहा था, उसने मुझे धक्का दिया और दूसरी तरफ जाकर गोली चला दी. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि गोली चलाने वाला कौन था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से जो मेरे खिलाफ दुष्प्रचार किया गया है कि अब लोगों को लगता है कि ऐसे लोगों को मार दिया जाना चाहिए.

ifktl5rg

घटनास्थल से बरामद पिस्टल.

खालिद ने कहा कि मेरे ऊपर हमला एक आदमी ने किया. मैं आरोपी का चेहरा नहीं देख पाया. उन्होंने कहा कि आप इस सरकार के खिलाफ बोलने की कोशिश करेंगे तो आपके उपर एक तमगा लगाया जाएगा कि कुछ भी किया जा सकता है. एक ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि कभी भी कुछ हो सकता है. ऐसे खौफ के माहौल में लोग कब तक जी पाएंगे. वहीं, जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हमले के पीछे कौन है यह ढूंढना पुलिस का काम है. उन्होंने कहा कि हमले किस वजह से हो रहे हैं यह वजह हम सबको पता है.
जिस कार्यक्रम में शामिल होने उमर खालिद मौजूद थे उसके लिए वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण भी पहुंचे थे. उनका कहना है कि इस तरह की घटना खौफ पैदा करने की कोशिश है. उन्होंने कहा कि बीजेपी और सरकार के गुंडे खौफ पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं. दिन दहाड़े ऐसी घटना हुई और पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई. यानी उसको पूरा यकीन था कि पुलिस उसका कुछ नहीं कर पाएगी. यही मॉब लिंचिंग में हो रहा है.
प्रोफेसर अपूर्वानंद भी उस वक्त वहां मौजूद थे. उन्होंने कहा, 'आप सोच सकते हैं कि किस माहौल में जी रहे हैं, जहां आप कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं. आप अगर किसी सेमिनार में जाते हैं तो आपको मारा जा सकता है. वहीं, बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी का मानना है कि घटना को सनसनीखेज बनाया जा रहा है.

वहीं दलित नेता और गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी ने हमले के लिए भाजपा और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया.

कौन हैं उमर ख़ालिद?
उमर ख़ालिद जेएनयू के पीएचडी छात्र हैं
अफ़ज़ल गुरु की फांसी की बरसी पर कार्यक्रम से सुर्खियों में आए खालिद
उमर खालिद पर 9 फ़रवरी 2016 को कैंपस में देशविरोधी नारे लगाने का आरोप 
उमर खालिद देशद्रोह के आरोप में गिरफ़्तार भी हुए, ज़मानत पर छूटे
JNU की कमेटी ने खालिद को दोषी माना, यूनिवर्सिटी से निकाला
उमर ख़ालिद ने इस हाइकोर्ट में चुनौती दी, हाइकोर्ट ने JNU से बलपूर्वक कार्रवाई न करने को कहा

सेंसेक्स में 224 अंकों की गिरावट

Monday, 13 August 2018 16:38

देश के शेयर बाजारों में सोमवार को गिरावट रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 224.33 अंकों की गिरावट के साथ 37,644.90 पर और निफ्टी 73.75 अंकों की गिरावट के साथ 11,355.75 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 176.04 अंकों की गिरावट के साथ 37,693.19 पर खुला और 224.33 अंकों या 0.59 फीसदी गिरावट के साथ 37,644.90 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 37,799.54 के ऊपरी स्तर और 37,559.26 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी गिरावट रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 113.00 अंकों की गिरावट के साथ 16,097.78 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 130.35 अंकों की गिरावट के साथ 16,653.85 पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 59.9 अंकों की गिरावट के साथ 11,369.60 पर खुला और 73.75 अंकों या 0.65 फीसदी गिरावट के साथ 11,355.75 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 11,406.30 के ऊपरी और 11,340.30 के निचले स्तर को छुआ। 

बीएसई के 19 में से पांच सेक्टरों में तेजी रही, जिसमें सूचना प्रौद्योगिकी (1.24 फीसदी), प्रौद्योगिकी (0.77 फीसदी), स्वास्थ्य सेवाएं (0.55 फीसदी), तेज खपत उपभोक्ता वस्तुएं (0.16 फीसदी) और उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं (0.06 फीसदी) शामिल रहे। 

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे - तेल और गैस (1.93 फीसदी), ऊर्जा (1.70 फीसदी), वित्त (1.33 फीसदी), बैंकिंग (1.20 फीसदी) और आधारभूत सामग्री (1.12 फीसदी)।

--आईएएनएस

बाबा रामदेव ने की गौ रक्षकों की वकालत

Monday, 13 August 2018 16:37

योग गुरू बाबा रामदेव ने आज कहा कि गौ तस्करी रोकने में पुलिस और प्रशासन को जितनी सख्ती से कार्रवाई करनी चाहिए, वह नहीं होने के कारण गौरक्षकों को सडकों पर आना पडता है। एक कार्यक्रम में भाग लेने यहां आये रामदेव ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अवैध तरीके से जो लोग गायों को कत्लखानों में कटवातें है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि कुछ गौ रक्षक ज्यादती कर देते हैं जिनके चलते 90 प्रतिशत गौरक्षकों की छवि धूमिल होती है। बाबा रामदेव ने कहा कि गौ हत्यारों के खिलाफ कोई नहीं बोलता है। गौ हत्यारों को प्रोत्साहन क्यों मिलता है, यह कतई नहीं होना चाहिए। यदि किसी ने कत्लखाने का लाइसेंस भी ले रखा है, और उनका परिवहन कर रहा है तो हम इसके पक्षधर नहीं है।

पूर्ण गौ हत्या रोकने की पैरवी करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसे राष्ट्रभक्त और गौ भक्त देश में और कौन होगा। उन्हें केन्द्र में पूर्ण गौहत्या रोकने का कानून बनाना चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा कि चार सालों में केन्द्र ने अभी तक कानून नहीं बनाया है और हम ऐसा कानून बनने की उम्मीद लगाये बैठै हैं।

उन्होंने देश में घुसपैठियों के एक अन्य प्रश्न के जवाब में कहा कि एक भी आदमी अवैध तरीके से भारत में नहीं रहना चाहिए चाहे वह बांग्लादेशी, पाकिस्तानी या फिर अमेरिका का क्यों न हो। भारत में करीब तीन से चार करोड़ लोग अवैध रूप से रह रहे हैं। ऐसे लोग कितनी बडी हानि देश की अंखडता, एकता और सम्प्रभुता के लिये कर सकते हैं जिसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता।

 

पीएम मोदी के बयान पर राहुल गांधी का ताना

Monday, 13 August 2018 16:34

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (13 अगस्त) को कर्नाटक के बीदर में जनसभा की। यहां उन्‍होंने दो दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आईआईटी-बॉम्‍बे में दिए गए बयान पर तंज कसा। मोदी ने कहा था कि उन्‍होंने पढ़ा था कि एक व्‍यक्ति नाले से निकलने वाली गैस का इस्‍तेमाल कर चाय बनाता था। वह 10 अगस्‍त को विश्‍व जैव ईंधन दिवस के अवसर पर बोल रहे थे। राहुल ने बीदर में कहा, ”(मोदी ने) 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात की। और अब कहते हैं, पकौड़े बनाओ, हम आपको गैस नहीं देंगे। गैस भी आपको नाले में से निकाल कर कुकर में डालनी पड़ेगी।”

राहुल ने कहा, ”नाले में पाईप लगाओ और ढाबे पर पकौड़े बनाओ। ये है नरेन्द्र मोदी जी की युवाओं को रोजगार देने की रणनीति।” कांग्रेस अध्‍यक्ष ने प्रधानमंत्री को चुनौती देते हुए कहा, ”चुनाव में हमने कहा था कि जैसे ही कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार आएगी, हमारा पहला काम किसानों का कर्जा माफ करने का होगा। जो हमने कहा था, करके दिखा दिया। नरेंद्र मोदी जी किसानों का कर्जा माफ नहीं कर सकते हैं। बड़े-बड़े भाषण करेंगे। मैं मोदी जी को चुनौती देता हूं कि कर्नाटक की सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया, उसका आधा कर्जा हिंदुस्तान के किसानों का कर के दिखा दें।”

उन्‍होंने आगे कहा, ”मोदी जी एमएसपी बढ़ाने की बात करते हैं और कहते हैं पूरे देश में 10 हजार करोड़ रुपया एमएसपी बढ़ाई। उससे तीन गुना ज्यादा कर्नाटका की सरकार ने कर्जा माफी करके दिखाई। पूरे देश में किसान आत्महत्या करते हैं लेकिन प्रधानमंत्री जी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।”

राहुल ने राफेल सौदे पर भी केंद्र को घेरा। उन्‍होंने कहा, ” संसद में पूरे देश को मैंने समझाया कि नरेन्द्र मोदी जी ने रफेल मामले में भ्रष्टाचार किया है। फ्रांस के राष्ट्रपति ने मुझे बताया कि रफेल हवाई जहाज का दाम सीक्रेट पैक्ट में नहीं आता है। यदि हिंदुस्तान की सरकार चाहे तो वो दाम बता सकती है। चौकीदार अब भागीदार है। नरेन्द्र मोदी जी ने आपका पैसा चोरी करके अनिल अंबानी को दिया है। प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के डेलिगेशन में अनिल अंबानी जी थे। नरेन्द्र मोदी जी ने युवाओं से रोजगार छीन कर अनिल अंबानी को दिया।”

जीएसटी को लेकर भी राहुल ने मोदी सरकार पर हमले किया। कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा, ”एक तरफ मोदी जी ढाई लाख रुपया उद्योगपतियों का माफ करते हैं दूसरी तरफ आम जनता को कहते हैं लाइन में लग जाओ, मैं नोटबंदी करने वाला हूं। जैसे ही 2019 में कांग्रेस की सरकार आयेगी हम गब्बर सिंह टैक्स को जीएसटी में बदल देंगे। आपको एक टैक्स देंगे। ये (मोदी) हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री नहीं है। ये 15-20 सबसे बड़े लोगों के प्रधानमंत्री हैं। नरेंद्र मोदी के विजन में पूरा का पूरा फायदा 15-20 लोगों को है। देश के युवाओं को पकौड़ा बनाना है। अगर गैस चाहिए तो नाले में से पाईप निकाल के पकौड़े बनाओ।”

IRCTC और काउंटर टिकट बुकिंग सॉफ्टवेयर में बदलाव

Monday, 13 August 2018 16:33

रेलवे अपने सिक्योरिटी सिस्टम में लगातार बदलाव कर रहा है। अब बिना टिकट और फर्जी टिकट पर यात्रा करने वालों के लिए भी खास इंतजाम होने जा रहा है। दरअसल अब रेलवे एक अब अपनी टिकट पर बारकोड डालने जा रहा है। यह बारकोड IRCTC की वेबसाइट और रेलवे टिकट बुकिंग काउंटर से बुक की गई टिकट पर मिलेगा। इसका फायदा टिकट का फर्जीवाड़ा रोकने में मिलेगा। साथ ही चलती ट्रेन में सीटों की ब्लैकमेलिंग पर भी लगाम लगेगी। इसका सबसे बड़ा फायदा वेटिंग और आरएसी टिकट पर यात्रा करने वालों को होगा। लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम के मुताबिक ट्रेन के रिजर्वेशन का डेटा सॉफ्टवेयर में आते ही खाली सीट उन पैसेंजर्स को अपने आप अलॉट हो जाएंगी जिनका टिकट वेटिंग में है। वेटिंग वाले पैसेंजर्स की सीट जब कन्फर्म होगी तो उसकी जानकारी टिकट बुक कराते समय दिए गए मोबाइल नंबर पर मैसेज करके दी जाएगी।

ट्रेन में टीटीई ऐसी मशीन दी जाएंगी, जो ट्रेन टिकट पर दिए बार कोड को पढ़ सकेंगी। यह मशीने रेलवे के सर्वर से कनेक्ट होंगी। इन मशीनों पर ट्रेन की टिकट से संबंधित डेटा अपने आप अपलोड होता रहेगा। ट्रेन में टिकट चैकिंग के दौरान टीटीई इन्हीं मशीनों से टिकट चैक किया करेंगे। टिकट पर मौजूद बार कोड को स्कैन करने के बाद वह जानकारी मशीन में आ जाएगी जो उस PNR से संबंधित है और रेलवे के सर्वर में मौजूद है, जैसे यात्री का नाम, ट्रेन का नाम-नंबर, कहां से कहां तक यात्रा करनी है आदि। टिकट पर मौजूद यात्रा का विवरण और मशीन में बार कोड स्कैन करने के बाद आने वाला यात्रा का विवरण एक होना चाहिए।

अभी रेलवे की टिकट में फर्जीवाड़े का खतरा रहता है। दरअसल यात्री एजेंट्स से अपनी टिकट बुक कराते हैं। कुछ एजेंट यात्रियों को फर्जी PNR (टिकट) जेनरेट करके दे देते हैं। बाद में पता चलता है कि यह टिकट तो किसी और के नाम का है। इस चक्कर में यात्रियों को कई बार ट्रेन में परेशानी उठानी पड़ती है।  इससे रेलवे की शाख भी खराब होती है। बार कोड आने के बाद से फर्जी टिकट का खेल लगभग खत्म हो जाएगा।

हो गया तय! अक्टूबर से टीवी पर दोबारा लौटेंगे कपिल शर्मा

Monday, 13 August 2018 16:32

मंगेतर गिन्नी के साथ ग्रीस में छुट्टियां बिताने के बाद अब कॉमेडियन कपिल शर्मा जल्द ही एक बार फिर से टीवी पर वापसी करने जा रहे हैं। कपिल शर्मा का शो फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा अप्रैल माह में स्वास्थ्य खराब होने के चलते ऑफएयर कर दिया गया था। ताजा मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कपिल शर्मा एक बार फिर से वापसी के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

बताया जाता है कि टीवी पर वापसी करने से पहले कॉमेडियन अपने वजन को भी कम करना चाहते हैं। अपने शेप में वापस आने के लिए वह जल्द ही ट्रेनिंग शुरू करने वाले हैं। डीएनए ने एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा- ”कपिल ने अपनी लाइफ को चार्ज करने का फैसला लिया है। वे केवल अपनी लाइफस्टाइल ही नहीं बल्कि खुद को फिट भी करना चाहते हैं। उन्होंने अपने लिए एक पर्सनल ट्रेनल भी नियुक्त किया है। कॉमेडियन अपने नए शो के लिए नया आइडिया और प्लानिंग कर रहे हैं, दो महीने के बाद वे फिर से कमबैक कर सकते हैं।”

आपको बता दें, कपिल शर्मा का ‘फैमिली टाइम विद कपिल शर्मा’ शो के ऑफ एयर होने के बाद से ही कपिल को लेकर कई तरह की खबरें आ रही थीं। कहा जा रहा था कि कपिल शर्मा डिप्रेशन में हैं। इसके बाद कपिल की पत्रकार से गाली गलौच की बात सामने आई थी। कपिल और पत्रकार के बीच बातचीत का एक ऑडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इस दौरान कपिल शर्मा की कई तस्वीर सामने आई थीं जिसमें कपिल मोटे और बीमार नजर आ रहे थे। छोटे पर्दे के अलावा कपिल बॉलीवुड में भी अपना हाथ अजमा चुके हैं। हालांकि उनकी फिल्में ‘फिरंगी’ और ‘किस किस को प्यार करुं’ बॉक्सऑफिस पर कमाल नहीं दिखा सकी थीं।

स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पाकिस्तान ने रिहा किए 30 भारतीय कैदी

Monday, 13 August 2018 16:29

पाकिस्तान ने स्वतंत्रता दिवस के एक दिन पहले सद्भावना दिखाते हुए 27 मछुआरों समेत 30 भारतीय कैदियों को आज जेल से रिहा कर दिया। विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने एक बयान में कहा कि कैदियों की रिहाई ‘‘मानवीय मुद्दों का राजनीतिकरण नहीं करने की पाकिस्तान की अटल नीति के अनुसार की गई है।’’ बयान में बताया गया है कि जिन 30 कैदियों को रिहा किया गया है उनमें 27 मछुआरे शामिल हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह 14 अगस्त को पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस मनाने का मानवीय भाव है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि भारतीय पक्ष भी इसी तरह का व्यवहार दिखाएगा।’’ देश के उच्चतम न्यायालय के समक्ष जुलाई में सौंपी गई एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार, 418 मछुआरों समेत 470 भारतीय पाकिस्तानी जेलों में बंद हैं। 27 मछुआरे आज लाहौर पहुंचे और उन्हें वाघा सीमा पर भारतीय अधिकारियों को सौंपा जाएगा। कराची में मालिर जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक गुलाम बक्श ने कहा कि उन्होंने कल मछुआरों को रिहा किया था और गृह मंत्रालय से आदेश मिलने के बाद ट्रेन के जरिए उन्हें लाहौर भेजा। उन्होंने कहा, ‘‘मछुआरों को सद्भावना के कदम के तौर पर रिहा किया गया है।’’

एदी वेल्फेयर ट्रस्ट के फैसल एदी ने कहा कि निश्चित तौर पर रिहा किए जाने पर मछुआरे खुश है। उनमें से कुछ ने पिछले दो साल जेल में बिताए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने उन्हें ट्रेन से लाहौर भेजने और वाघा सीमा तक लाने समेत उनका खर्चा उठाया। हमने सद्भाव के तौर पर उन्हें नकद रुपये और उपहार भी दिए।’’ अरब सागर में समुद्री सीमा का स्पष्ट सीमांकन ना होने के कारण पाकिस्तान और भारत आए दिन एक दूसरे के मछुआरों को गिरफ्तार करते रहते हैं।

 

'73 प्लस' की बात करने वाले अपने आंकड़े दुरुस्त कर लें : अखिलेश

Monday, 13 August 2018 16:28

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग आज '73 प्लस' का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं, उन्हें अपना आंकड़ा दुरुस्त कर लेना चाहिए, क्योंकि वे तीन सीटें पहले ही हार चुके हैं। अगले लोकसभा चुनाव के संदर्भ में भाजपा प्रमुख अमित शाह के बयान पर कटाक्ष करते हुए सपा प्रमुख ने कहा, "भाजपा 73 प्लस की बात करती है, लेकिन उन्हें अपनी गिनती सही कर लेनी चाहिए। तीन सीटें तो भाजपा पहले ही हार चुकी है। जहां तक परिवारवाद की बात है, आज भाजपा वाले खुद परिवारवाद कर रहे हैं। राजनाथ सिंह या कल्याण सिंह ही नहीं, इनके परिवारवाद के ढेर उदाहरण हैं।"

लखनऊ स्थित सपा पार्टी कार्यालय में सोमवार को पार्टी अध्यक्ष अखिलेश ने बाराबंकी के 14 और सीतापुर के पांच मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटॉप बांटे। इस दौरान उन्होंने विद्यार्थियों का हौसला बढ़ाने के साथ-साथ प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला।

अखिलेश ने कहा, "यूपी के टॉपर्स को हम लैपटॉप देकर प्रदेश सरकार को ये याद दिला रहे हैं कि उन्होंने अपने वादों को पूरा नहीं किया है। हम कम बच्चों को लैपटॉप दे पाए हैं, सरकार आगे आए और बच्चों से किए वादों को पूरा करे।"

सपा अध्यक्ष ने कहा, "मुझे खुशी है कि रायबरेली का एम्स आज शुरू हो गया है। आखिरकार एम्स के लिए जमीन तो हमने ही दी थी। गोरखपुर में भी समाजवादी सरकार ने जमीन दी थी, पर वहां के काम का कुछ अता-पता ही नहीं है।"

अखिलेश ने कहा कि आज सरकार मुद्दों से हट रही है। वे पुरानी बातों पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। नोटबंदी पर भाजपा अब चुप है। उन्होंने सिर्फ जनता को गुमराह किया है। भाजपा वाले तो ऐसे लोग हैं जो गूगल को भी घुमा देते हैं।

--आईएएनएस

सीजन के आखिरी डेढ़ महीने रूई बाजार में रहेगी स्थिरता : कारोबारी

Monday, 13 August 2018 16:27

यूएसडीए की मासिक रपट के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में रूई के दाम में गिरावट आने के कारण भारतीय वायदा बाजार में भी सोमवार को कमजोरी आई। लेकिन घरेलू बाजार में रूई (कॉटन) के दाम में आगे कमजोरी आने की संभावना कम है, क्योंकि मौजूदा हालात में कॉटन को फंडामेंटल और टेक्निकल दोनों सपोर्ट मिल रहा है। अमेरिका में वर्ष 2018-19 में कॉटन उत्पादन अनुमान में बढ़ोतरी की रपट के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार को कॉटन के दाम में गिरावट आई, जिसके बाद भारत समेत दुनियाभर के बाजारों में कॉटन की कीमतों में सुस्ती आई है। हालांकि बाजार के जानकारों के अनुसार भारतीय हाजिर बाजार में कॉटन के दाम में कोई खास बदलाव नहीं आने वाला है और सीजन के आखिरी दो महीने में स्थिरता का रुख रहेगा। जानकारों का यह भी कहना है कि फसल की प्रगति अगर कमजोर रही तो तेजी बनेगी लेकिन मंदी की संभावना कम है।

उल्लेखनीय है कि कॉटन का सीजन पहली अक्टूबर से 30 सितंबर, यानी 12 महीने का होता है।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर अक्टूबर वायदा अपराह्न् 3.11 बजे 260 रुपये यानी 1.08 फीसदी की गिरावट के साथ 23,930 रुपये प्रति गांठ है। कारोबार के दौरान ऊपरी स्तर 24,100 रुपये और निचला स्तर 23,900 रुपये प्रति गांठ रहा। 

इंटरकांनिटनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर कॉटन वायदा सोमवार को 0.84 फीसदी फिसल कर 84.51 सेंट प्रति पाउंड पर कारोबार कर रहा था। आईसीई पर शुक्रवार को भी कॉटन वायदे में गिरावट आई थी।

अमेरिकी कृषि विभाग (यूएसएडी) की ओर से शुक्रवार को जारी अगस्त महीने की रपट में अमेरिका में कॉटन उत्पादन 226.7 लाख गांठ (170 किलो) होने की उम्मीद जाहिर की गई है, जबकि पिछले महीने की रपट में 237.2 लाख गांठ का अनुमान जारी किया गया था। 

यूएसएडी ने अगस्त में कॉटन का वैश्विक उत्पादन अनुमान को बढ़ाकर 15.456 करोड़ गांठ कर दिया है, जोकि पिछले महीने 15.402 करोड़ गांठ था।

हालांकि यूएसएडी ने दुनिया के सबसे बड़े कॉटन उत्पादक भारत में अगले साल कॉटन उत्पादन का अनुमान 368 लाख गांठ पर स्थिर रखा है। 

वर्धमान टेक्सटाइल्स लिमिटेड के निदेशक (कच्चा माल खरीद) इंद्रजीत धूरिया ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि सीजन के आखिरी दो महीनों में कॉटन बाजार पर फसल की प्रगति का ज्यादा असर देखने को मिलेगा। 

पिछले हफ्ते मॉनसून की चाल कमजोर रहने से कॉटन में तेजी दिखी, जबकि पहले मॉनसून के सामान्य रहने की खबर से बाजार में कमजोरी आई। लेकिन हाजिर बाजार पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ा और कॉटन के दाम में तकरीबन स्थिरता बनी रही। 

गुजरात के एक कारोबारी ने कहा कि फसल की रपट अच्छी है, लेकिन रकबा अभी तक पिछले साल के मुकाबले तकरीबन चार फीसदी कम है, खासतौर से देश के सबसे ज्यादा कपास उत्पादक प्रदेश गुजरात में। सौराष्ट्र इलाके में बारिश कम होने से किसानों की चिंता बढ़ गई है, जिसका बाजार को सपोर्ट मिल सकता है। 

पिछले हफ्ते तक देशभर में कपास का रकबा बीते सीजन के मुकाबले 3.85 फीसदी कम 112.60 लाख हेक्टेयर दर्ज किया गया।

कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अतुल गंतरा का कहना है कि कपास पर बीते साल पिंक बालवर्म का हमला होने से फसल को काफी नुकसान हुआ था और इस साल भी अभी खतरे को लेकर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इसलिए अगले सीजन में उत्पादन में बढ़ोतरी की संभावना कम है। 

कुछ जगहों से फसल पर कीट के हमले की रपट आई भी है और आगे हमले बढ़ने की आशंका बनी हुई है। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार, यह बहुत ही महत्वपूर्ण समय है जब कपास का पौधों में फूल व कोश लग रहे हैं। ऐसे समय में फसल को ज्यादा पोषण की जरूरत है, मगर कीट आकर उसके पत्तों का रस चूसकर उसे कमजोर कर दें तो फिर फसल में आगे वृद्धि नहीं हो पाएगी और पैदावार पर असर पड़ेगा। इसलिए फसल को कीटों से बचाना बहुत महत्वपूर्ण है। 

मुंबई के कॉटन बाजार विश्लेषक गिरीश काबरा का अनुमान है कि अगस्त में कॉटन वायदे में बड़ी तेजी नहीं भी आए तो भी कारोबारी रुझान मजबूत रहेगा, क्योंकि स्टॉक कम है और मांग लगातार बनी हुई है। बड़ी तेजी क्षणिक रहेगी, जोकि किसी फसल की प्रगति की रपट या मौसम की खराबी के कारण आ सकती है। अमेरिका और चीन के बीच व्यापार जंग पर बाजार कई बार अपनी प्रतिक्रिया दे चुका है, इसलिए उसको लेकर अभी कोई बड़ा उतार-चढ़ाव नहीं हो सकता है। लेकिन व्यापार जंग की नौबत को दूर करने के लिए अगर वैश्विक स्तर पर कोई भी प्रयास होगा तो बाजार जबरदस्त प्रतिक्रिया दे सकता है।

आई. जी. धूरिया ने बताया कि वर्तमान में भारतीय कॉटन की कीमत 89-90 सेंट प्रति पाउंड है और सीजन के आखिरी दो महीने में भी कॉटन इसी के आस-पास कारोबार करेगा। 

गुजरात शंकर-6 (29 एमएम) में सोमवार को 48,500 रुपये प्रति कैंडी पर कारोबार दर्ज किया गया। 

--आईएएनएस

प्रधानमंत्री का साक्षात्कार 'प्रोपोगंडा' : शिवसेना

Monday, 13 August 2018 16:25

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रकाशित साक्षात्कार पर सोमवार को पहली प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा के गठबंधन सहयोगी शिवसेना ने इसे 'विशुद्ध प्रोपोगंडा' बताया। शिवसेना के मुखपत्र 'सामना', 'दोपहर का सामना' में पार्टी ने कहा है, "पत्रकार पीएमओ में प्रश्न भेजते हैं, जिसका लिखित जवाब दिया जाता है। कई इसे एक साक्षात्कार के रूप में बताते हैं। दूसरे शब्दों में यह प्रोपोगंडा है।"

पार्टी ने कहा, "यह चीन, रूस और वामपंथी देशों में होता है, एकतरफा संवाद।"

शिवसेना ने कहा कि यदि सीधी बातचीत हुई होती तो उसमें कई प्रकार के प्रश्न पूछे गए होते और साक्षात्कार करने वाला किसी भी तरह के 'फर्जी बयान' को पकड़ लिया होता। "पत्रकारों को यह आजादी अवश्य दी जानी चाहिए।"

पार्टी ने अपने बयान में कहा है, "मौजूदा प्रधानमंत्री इस परंपरा को समाप्त कर देना चाहते हैं। उन्हें जो उचित लगता है, उसी का जवाब देते हैं और साक्षात्कार को उसी हिसाब से प्रकाशित किया जाता है।"

शिवसेना ने कहा कि प्रधानमंत्री ने साक्षात्कार में कहा कि एक वर्ष में 70 लाख नौकरियां सृजत हुईं, जिसमें सितंबर 2017 और अप्रैल 2018 के बीच 45 लाख नौकरियों का सृजन हुआ।

पार्टी ने कहा है, "अगर यह साक्षात्कार आमने-सामने होता तो, पत्रकार को यह पूछने का अवसर मिल सकता था कि किस क्षेत्र में इन नौकरियों का सृजन हुआ है और कैसे इस दावे की पुष्टि हुई है।"

शिवसेना ने कहा, "अगर इतनी नौकरियों का सृजन हो रहा है, तो क्यों बेरोजगार युवा बेरोजगारी और नौकरियों में आरक्षण को लेकर सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।"

पार्टी ने कहा है कि नोटबंदी के बाद संगठित और असंगठित क्षेत्रों में काफी ज्यादा नौकरियां समाप्त हुई हैं।

शिवसेना ने कहा है, "मुंबई के महत्वपूर्ण नौकरी सृजन क्षेत्र जैसे निर्माण, उत्पादन, सेवा क्षेत्र अब वीरान हो गए हैं।"

उन्होंने कहा, "हाल ही में मराठा प्रदर्शन के दौरान, औरंगाबाद और पुणे में 500 कारखानों पर हमला किया गया। सरकार की नीतियों को धन्यवाद।"

सामना के अनुसार, "पिछले चार वर्षो में प्रधानमंत्री ने एक भी संवाददाता सम्मेलन आयोजित नहीं किया है, लेकिन अपने मन की बात एक रेडियो कार्यक्रम के जरिए जाहिर करते हैं, जिसके बारे में मीडिया रिपोर्ट करता है। लेकिन इससे मोदी को कोई प्रतिष्ठा नहीं मिली।"

पार्टी के अनुसार, "2014 चुनाव से पहले, मोदी मीडिया के दोस्त थे, लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद, वह एक पिंजरे में बंद हो गए हैं..अगर यह चलता रहा, तो कई पत्रकारों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ सकती हैं।"

--आईएएनएस

जेएनयू छात्र उमर खालिद पर फायरिंग

Monday, 13 August 2018 14:23

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र उमर खालिद पर सोमवार को कांस्टीट्यूशन क्लब के बाहर एक अज्ञात व्यक्ति ने गोली चलाई, जिसमें खालिद बाल-बाल बच गए। यह हमला अपरान्ह करीब 2.30 बजे हुआ, जब खालिद एक चाय की दुकान पर थे।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "खालिद व उनके दोस्तों के अनुसार, दो लोगों ने उनसे संपर्क किया। इनमें से एक ने उन पर पिस्तौल से गोली चलाई। इसके बाद हमलावर वारदात स्थल से फरार हो गए। खालिद को कोई चोट नहीं आई।"

अधिकारी ने कहा कि घटनास्थल से पिस्तौल बरामद की गई है।

खालिद कांस्टीट्यूशन क्लब में 'युनाइटेड अगेंस्ट हेट' कार्यक्रम में भाग लेने गए थे।

--आईएएनएस

जानलेवा बीमारियों में इस्तेमाल होने वाली 13 फीसदी दवाएं नकली

Monday, 13 August 2018 14:23

वैज्ञानिकों का कहना है कि मलेरिया जैसी जानलेवा बीमारी सहित दूसरी बीमारियों की नकली और खराब गुणवत्ता वाली दवाएं विकासशील देशों में धड़ल्ले से इस्तेमाल की जा रही हैं।
वैज्ञानिकों ने साथ ही कहा कि कम एवं मध्यम आय वाले देशों से नमूने के तौर पर ली गयी दवाओं में से 13 प्रतिशत दवाएं खराब गुणवत्ता की थीं। अमेरिका की यूनिर्विसटी आॅफ नॉर्थ कैरोलिना (यूएनसी) के शोधकर्ताओं के एक अध्ययन में पता चला कि अफ्रीका में इस्तेमाल में लायी जा रही 19 प्रतिशत जरूरी दवाएं नकली या खराब गुणवत्ता की थीं। इस तरह की दवा खाने से लोगों का स्वाथ्य ठीक होने की बजाए और खराब हो रहा है।  शोधकर्ताओं ने पाया कि कम और मध्यम आय वाले देशों में 19 प्रतिशत मलेरिया रोधी और 12 प्रतिशत एंटीबॉयोटिक दवाएं नकली या खराब गुणवत्ता की थीं।

यूएनसी में सहायक प्रोफेसर साचिको ओजावा ने कहा, ‘‘खराब गुणवत्ता वाली या नकली दवाओं का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल एक गंभीर जनस्वास्थ्य समस्या है क्योंकि ये दवाएं अप्रभावी या नुकसानदेह हो सकती हैं और बीमारी को लंबे समय के लिए खींच सकती है, विषाक्तता को जन्म दे सकती है या शरीर पर खतरनाक नकारात्मक असर डाल सकती हैं।

यूएनसी के प्रोफेसर जेम्स हेरिंगटन ने कहा, ‘‘हमें दवाओं की गुणवत्ता को लेकर कानून लागू करने, गुणवत्ता नियंत्रण क्षमता बढ़ाने और निगरानी एवं डेटा साझा संबंधी सुधार की जरूरत है। इस तरह की दवाओं की रोकथाम के लिए कठोर कदम उठाने की जरूरत है। भारत भी विकासशील देशों की श्रेणी में आता है इसलिए हमारे यहां भी इस तरह की दवाइयां धड़ल्ले से बेची जा रही हैं।

कोहली ने स्वीकारा, गलत किया अंतिम एकादश का चुनाव

Monday, 13 August 2018 14:21

इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच भी हारने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अंतिम एकादश चुनाव की गलती को स्वीकारा है। वेबसाइट 'ईएसपीएन' की रिपोर्ट के अनुसार, कोहली ने कहा कि उन्होंने मैच से पहले टीम का संयोजन गलत किया। 

उल्लेखनीय है कि लॉर्ड्स पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने भारत को पारी और 159 रन से करारी मात दी। इस जीत के साथ मेजबान टीम ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली है। 

कोहली ने अंतिम एकादश के चुनाव पर कहा कि उन्होंने स्पिन गेंदबाजों के चुनाव में गलती की, क्योंकि लॉर्ड्स का वातावरण तेज गेंदबाजों के पक्ष में था। 

कप्तान कोहली ने कहा, "मौसम का अंदाजा लगा पाना संभव नहीं था। मैच की शुरुआत में यह बिल्कुल अलग था, लेकिन मेरा मानना है कि मैंने टीम के संयोजन में गलती की। अगले मैच में हमारे पास इस गलती को सुधारने का मौका है।"

कोहली ने कहा कि सबसे सही यहीं होगा कि भारतीय टीम अगले मैच में जीत हासिल कर सीरीज का स्कोर 2-1 करे और इसके बाद सीरीज को रोमांचक बनाए। 

दूसरे टेस्ट मैच के दौरान कोहली को पीठ में दर्द की शिकायत भी हुई थी। इस पर कप्तान ने कहा, "सबसे अच्छी बात यह है कि तीसरा टेस्ट मैच 18 अगस्त से शुरू होना है और ऐसे में हमारे पास पांच दिन का समय है। मैं आश्वस्त हूं कि मैं अगले मैच के लिए बिल्कुल तैयार हो जाएंगे।"

--आईएएनएस

बांग्लादेश : युद्ध अपराध के लिए 5 को मौत की सजा

Monday, 13 August 2018 13:00

बांग्लादेश की एक अदालत ने सोमवार को 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान मानवता के खिलाफ किए गए अपराधों के लिए पांच दोषियों को मौत की सजा सुनाई। बीडीन्यूज 24 के अनुसार, न्यायमूर्ति शाहिनुर इस्लाम के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायाधिकरण के तीन न्यायाधीशों के पैनल ने इस मामले में अपना फैसला सुनाया। 

युद्ध के दौरान पटुखली के इटाबरिया गांव में 17 लोगों की हत्या करने, बर्बरता, आगजनी, अपहरण और यातना के लिए पांचों दोषियों को सजा सुनाई गई। 

उन्हें उसी गांव से कम से कम 15 महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के लिए भी मौत की सजा सुनाई गई।

अदालत ने कहा कि दोषियों ने दुष्कर्म को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया और पीड़ितों पर हमेशा उसका असर बना रहेगा। 

न्यायाधिकरण ने फैसले में कहा, "ये महिलाएं सच्ची नायिकाएं हैं। अब उन्हें पहचानने का समय है।"

हालांकि, दोषी फैसले के एक महीने के भीतर सर्वोच्च न्यायालय में फैसले के खिलाफ अपील कर सकते हैं। 

अभियोजन पक्ष के अनुसार, सभी अभियुक्त 1971 से पहले पारंपरिक मुस्लिम लीग के समर्थक थे लेकिन 2015 में उनकी गिरफ्तारी के समय वह बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के स्थानीय विंग से जुड़े थे।

न्यायालय ने उन्हें 8 मार्च, 2017 को दोषी ठहराया था।

--आईएएनएस

POPULAR ON IBN7.IN