अगर आपके पार्टनर में हैं ऐसी आदतें तो तोड़ लीजिए रिलेशनशिप

Wednesday, 20 September 2017 22:07

जब हम रिलेशनशिप में नए-नए होते हैं तब हमें अपने पार्टनर की हर आदत अच्छी लगती है। हम उसकी हर आदत पर खुश होते हैं लेकिन जब साथ-साथ कुछ वक्त गुजर जाता है तब कई ऐसी आदतों से पर्दा उठता है जिसके बारे में आप अनजान होते हैं। इनमें कुछ ऐसी आदतें भी होती हैं जो आपको मानसिक और भावनात्मक रूप से चोट पहुंचाती हैं। अक्सर आप रिश्तों को ठीक तरह से चलते रहने देने के लिए इन बातों को नजरअंदाज कर जाते हैं। यह आपके भविष्य के लिए सही नहीं है। पार्टनर की कुछ आदतें हैं जिन्हें इग्नोर करना आपको आने वाले दिनों में भारी पड़ सकता है। इसलिए जिन आदतों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं वो अगर आपके पार्टनर में दिखाई दें तो आपको उनसे दूरी बना ही लेनी चाहिए।

1. रिश्तों में एक दूसरे का सम्मान करना बेहद जरूरी होता है। अगर आप किसी ऐसे के साथ रिलेशनशिप में हैं जो आपके साथ गाली-गलौच और मारपीट करता है तो बिना सोचे आप उसके साथ संबंध खत्‍म कर लें। ऐसे लोगों पर भरोसा बिल्कुल भी नहीं किया जा सकता।

2. हर किसी के अपने खुद के थॉट होते हैं। आपके अपने थॉट भी महत्वपूर्ण होते हैं। निश्चित तौर पर उसे आपके पार्टनर द्वारा सुना जाना चाहिए। अगर वो आपसे बातें नहीं करता या फिर आपकी बातें नहीं सुनता तो इस बात को गंभीरता से लें। ऐसा होता है तो इसका मतलब ये है कि आपका पार्टनर आपकी बातों को तवज्‍जो नहीं देता। किसी भी रिलेशनशिप में कम्‍यूनिकेशन गैप नहीं होना चाहिए।

3. अगर आपका पार्टनर अपने हिसाब से रिलेशनशिप चलाना चाहता है तो भी सावधान हो जाएं। शुरुआत में खास तौर से महिलाओं को यह अच्‍छा लगता है कि उनका पार्टनर उन पर हक जताए। मगर बाद में यह बहुत ही बुरी सिचुएशन क्रिएट कर देता है।

4. किसी भी रिलेशनशिप में सपोर्टिव पार्टनर का होना बेहद जरूरी है। अगर आप किसी ऐसे के साथ रिलेशनशिप में हैं जिसे आपके सपनों की परवाह नहीं है तो आपको अपने रिलेशनशिप के बारे में एक बार और सोचना चाहिए।

 

अरब विवाह रैकेट का भंडाफोड़, 8 शेख गिरफ्तार

Wednesday, 20 September 2017 22:06

हैदराबाद में पुलिस ने एक बड़े अरबी विवाह रैकेट का खुलासा करते हुए ओमान और कतर के आठ नागरिकों और तीन काजियों को गिरफ्तार किया है। रैकेट के शिकारों में नाबालिग लड़कियां भी शामिल थीं। गिरफ्तार किए गए काजियों में मुंबई के मुख्य काजी फरीद अहमद खान शामिल हैं। वहीं हैदराबाद के चार लॉज मालिकों और पांच दलालों को भी गिरफ्तार किया गया है।

सिटी पुलिस कमिश्नर एम. महेंद्र रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया कि अरब के शेख दलालों, काजियों और लॉज मालिकों की मदद से नाबालिग लड़कियों से शादी कर रहे थे। गिरफ्तार किए गए शेखों में पांच ओमान के और तीन कतर नागरिक हैं।

यह रैकेट हैदराबाद से ओमान और अन्य अरब देशों में फैल रहा था। पिछले महीने हैदराबाद के पुराने शहर फलकनुमा इलाके में दर्ज एक मामले की जांच के दौरान इस रैकेट का पर्दाफाश किया गया।

एक महिला ने पुलिस से शिकायत की थी कि कुछ दलालों की मदद से उनके पति ने अपनी नाबालिग बेटी को 70 वर्षीय ओमानी नागरिक अहमद अब्दुल्ला को बेच दिया था। लड़की ओमान में फंस गई है।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि लड़की को बचाने, आरोपी को गिरफ्तार करने और उसे हैदराबाद लाने के लिए प्रयास जारी हैं।

चाय निर्यात में 4.58 प्रतिशत वृद्धि

Wednesday, 20 September 2017 21:51

भारतीय चाय बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष प्रथम सात महीनों के दौरान चाय निर्यात 4.58 प्रतिशत बढ़कर 1211.30 लाख किलोग्राम रहा, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान यह 1158.30 लाख किलोग्राम रहा था।

बोर्ड ने बुधवार को कहा कि मूल्य के संदर्भ में जनवरी से जुलाई की अवधि के दौरान चाय निर्यात बढ़कर 2,363.22 करोड़ रुपये का रहा, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान यह 2,260.07 करोड़ रुपये का रहा था।

मिस्र, चीन और श्रीलंका को होने वाले भारतीय चाय निर्यात में काफी वृद्धि हुई है।

चाय बोर्ड के अनुसार, इस अवधि के दौरान श्रीलंका को चाय के निर्यात में 98.23 प्रतिशत वृद्धि हुई और यह 22.60 लाख किलोग्राम से बढ़कर 44.80 लाख किलोग्राम हो गया।

इसी तरह भारत ने चीन को इस अवधि के दौरान 71 प्रतिशत अधिक चाय का निर्यात किया और यह 41.90 लाख किलोग्राम रहा, जबकि श्रीलंका को चाय के निर्यात में 150 प्रतिशत वृद्धि हुई और यह 25 लाख किलोग्राम रहा।

भारत ने इन सात महीनों के दौरान ईरान को 125.20 लाख किलोग्राम चाय का निर्यात किया और संयुक्त अरब अमीरात को 100.10 लाख किलोग्राम चाय का निर्यात किया।

फोर्ब्‍स ने जारी की बिजनेस के लिविंग लीजेंड्स की सूची, तीन भारतीयों का नाम शामिल

Wednesday, 20 September 2017 21:44

दुनिया में सबसे अच्छा कारोबारी दिमाग रखने वाले जीवित दिग्गजों (लिविंग लीजेंड्स) की शीर्ष 100 की सूची में लक्ष्मी मित्तल, रतन टाटा और विनोद खोसला जैसे तीन भारतीय शामिल है। इस विशेष सूची को फोर्ब्स पत्रिका ने दुनिया के ‘100 महान जीवित कारोबारी मस्तिष्क’ शीर्षक से तैयार किया है। लक्ष्मी मित्तल, आर्सेलर मित्तल के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। रतन टाटा, टाटा समूह मानद चेयरमैन हैं और विनोद खोसला सन माइक्रोसिस्टम्स के सह-संस्थापक हैं। इस विशेष सूची में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम भी शामिल है। फोर्ब्स ने उन्हें ‘सेल्समैन एवं असाधारण रिंगमास्टर : मालिक, ट्रंप ऑर्गनाइजेशन, अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति’ का संबोधन दिया है।

इस सूची में अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस, र्विजन समूह के संस्थापक रिचर्ड ब्रानसन, बर्कशायर हैथवे के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वारेन बफेट, माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स और न्यूज कॉरपोरेशन के कार्यकारी चेयरमैन रुपर्ट मडोक का नाम भी शामिल है। साथ ही सीएनएन के संस्थापक टेड टर्नर, टॉक शो चलाने वाली ओपरा विफ्रे, डेल टेक्नोलॉजीस के संस्थापक माइकल डेल, पेपाल, टेस्ला और स्पेसएक्स के सह-संस्थापक इलोन मस्क, फेसबुक की मुख्य परिचालन अधिकारी शर्ली सैंडबर्ग, स्टारबक्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हॉवर्ड स्कल्ज, फेसबुक के सह-संस्थापक मार्क जुकरबर्ग का नाम भी इस सूची में है।

 

सकारात्मक बदलाव लाने वाले स्टार्ट-अप की तलाश

Wednesday, 20 September 2017 21:43

देश में सकारात्मक बदलाव लाने में मदद करने वाले स्टार्ट-अप की तलाश के लिए भारतीय प्रबंधन संस्थान, कलकत्ता इनोवेशन पार्क (आईआईएमसीआईपी) ने व्यापक अंतर्राष्ट्रीय पहल 'स्मार्ट फिफ्टी-50 सॉल्यूशंस टू ट्रांसफॉर्म इंडिया' की बुधवार को घोषणा की। संस्थान की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, केंद्र सरकार की 'स्टार्ट-अप इंडिया' पहल के साथ ही इनोवेशन तथा उद्यमिता के जरिए सामाजिक-आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लक्ष्य के अनुरूप इसकी योजना विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के साथ मिलकर बनाई गई है, जिसका मकसद विभिन्न क्षेत्रों के आकांक्षी और प्रारंभिक स्तर के ऐसे उद्यमियों को पहचानना, उन्हें मान्यता देना और पुरस्कृत करना है, जो अपने इनोवेटिव समाधानों के साथ भारत के सामाजिक-आर्थिक परिदृश्य को बदल सकते हैं।

आईआईएमसीआईपी के निदेशक प्रो. अशोक बनर्जी ने कहा, "हम टिकाऊं, प्रेरणादायी, किफायती, जिम्मेदार और परिवर्तनकारी या स्मार्ट विचारों को प्रोत्साहित करते हैं और उन्हें जरूरी मदद मुहैया कराते हैं, ताकि वे देश में सकारात्मक प्रभाव पैदा कर सकें। हम प्रतिभागियों को मार्गदर्शन, दृश्यता और फंड तक पहुंच प्रदान करेंगे, जो उनके उद्यम को अगले स्तर तक ले जाने में मदद करेंगे।"

चयनित उद्यमियों को आईआईएमसीआईपी के विशेषज्ञों से बिजनेस मॉडल के विभिन्न पहलुओं, फंड जुटाने और वास्तविक जीवन के सबक का भी मार्गदर्शन प्राप्त होगा। दूसरी ओर, डीएसटी समाधान के नमूने (प्रोटोटाइप) के लिए स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र और सीड फंड की उपलब्धता प्रदान करेगा।

आईआईएमसीआईपी बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. आर. रामराज ने कहा, "स्मार्ट फिफ्टी का उद्देश्य ऐसे विचारों पर काम करने वाले स्टार्टअप्स की पहचान करना और उनका मार्गदर्शन करना है, जो भारत में सकारात्मक बदलाव लाने में मदद कर सकता है। हमें इस क्षेत्र में उदयीमान उद्यमियों को परामर्श, सीड फंड, प्रशिक्षण और नेटवर्किं ग के अवसर प्रदान करने में खुशी होगी। आईआईएमसीआईपी ने सभी आवश्यक सपोर्ट के साथ एक पारिस्थितिकी तंत्र बनाया है, जो इनोवेटिव विचारों को आत्मनिर्भर और आर्थिक रूप से स्वतंत्र कारोबार में बदलने में मदद करेगा।"

नवीकरणीय ऊर्जा मेले में जुटी 750 कंपनियां

Wednesday, 20 September 2017 21:42

ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर में बुधवार से शुरू हुए तीन दिवसीय (20 से 22 सितंबर) नवीकरणीय ऊर्जा मेले में 750 कंपनियां हिस्सा ले रही हैं। मेले के दौरान जाने माने अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शकों, सलाहकारों, कारोबार विशेषज्ञों तथा सरकारी अधिकारियों ने पावर एवं उर्जा क्षेत्र से जुड़ी चुनौतियों, इनके समाधानों तथा सर्वश्रेष्ठ विश्वस्तरीय प्रथाओं पर चर्चा की। मेले में जापान, चीन, पोलैंड, फ्रांस, कोरिया और ताईवान के मंडप मौजूद हैं।

भारत हाल ही में अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए 'नव्यकरणी उर्जा देश आकर्षण सूचकांक' में तीसरे स्थान से आगे बढ़कर दूसरे स्थान पर आ गया है।

मेले की आयोजक यूबीएम इंडिया ने कहा कि इस एक्सपो के माध्यम से उद्योग, सरकार एवं निवेशकों को एक ही मंच पर लाया गया है। मेले में सर्वश्रेष्ठ तकनीक, लागत प्रभावी समाधानों, उद्योग जगत के हितधारकों की भागीदारी, विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों के साथ उद्योग जगत के मेल-मिलाप के साथ ही जाने-माने विश्वस्तरीय ब्राण्ड अपने अत्याधुनिक उत्पादों और समाधानों को प्रस्तुत करेंगे।

यूबीएम इंडिया के प्रबन्ध निदेशक योगेश मुद्रास ने कहा, "भारत ने 2022 तक 175 गीगावॉट नव्यकरणी उर्जा पैदा करने का लक्ष्य तय किया है। आज बड़ी संख्या में भारतीय कम्पनियां सोलर मोड्यूल और इससे सम्बधित अन्य उपकरण बना रही हैं। इन्होंने उर्जा उत्पादन को बढ़ाने के लिए आधुनिक तकनीकों का विकास किया है। छोटी कम्पनियां भी इस दृष्टि से भारत को आत्मनिर्भर बनने में योगदान दे रही हैं। हाल ही की एक रिपोर्ट के अनुसार 2017 के पहले उत्तरार्ध में इसने 4765 मेगावॉट अतिरिक्त क्षमता हासिल की है। रूफटॉप सोलर में तेजी से वृद्धि हो रही है और सौर उर्जा की लागत कम होने के कारण यह बड़ी संख्या में उपभोक्ताओं को लुभा रही है।"

मेले में इस बार महिंद्रा सस्टेन द्वारा भारत का पहला मोबाइल पीवी टेस्ट लैब पेश किया गया है। साथ ही मेले के आकर्षण में पीवी मैगजीन, जर्मनी द्वारा क्वालिटी राउंडटेबल- एक गुणवत्तापूर्ण गोलमेज, पीवी मैगजीन, जर्मनी द्वारा सोलर सुपर हीरोज, सोलर इन्सटॉलर्स के लिए स्किल प्रतियोगिता, ईपीसी एवं डेवलपर्स के लिए सोलर डिजाइन चैलेन्ज एवं तेलंगाना राज्य द्वारा भावी निवेश एवं डेवलपर्स को आकर्षित करने के लिए 'अडवान्टेज तेलंगाना' विषय पर एक सेमिनार तथा राजस्थान द्वारा भावी निवेशकों, निर्माताओं और डेवलपर्स को आकर्षित करने के लिए 'अडवान्टेज राजस्थान' विषय पर सेमिनार शामिल हैं।

मेले में इस बार जापान, जर्मनी, फ्रांस, पौलेण्ड, यूएसए, कोरिया, चीन और ताईवान सहित कई देशों के प्रतिभागी हिस्सा ले रहे हैं। कार्यक्रम को नवीन एवं नव्यकरणी उर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) भारतीय सौर उर्जा आयोग (एसईसीआई), इंडियन रीन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेन्ट एजेन्सी लिमिटेड (आईआरईडीए), एनईडीओ जापान, इंडो जर्मन एनर्जी फोरम, (आईजीएफई), ब्लूमबर्ग न्यू एनर्जी फाइनेन्स और मरकोम कैपिटल का समर्थन प्राप्त है।

प्रदर्शनी में हिस्सा लेने वाली कुछ कम्पनियों में शामिल हैं- अदानी सोलर, टाटा पावर सोलर, एजूरे पावर, स्काय पावर, कैनेडियन सोलर, हुवावेई, ट्रिना सोलर, जिंको सोलर, सीमेन्स जेमेसा, विक्रम सोलर, वारी एनर्जीज, मित्सुबिशी, डेल्टा इलेक्ट्रोनिक्स, पैनासोनिक, एसएमए, एबीबी, क्योसेरा, स्टर्लिना एण्ड विल्सन, महिन्द्रा सस्टेन, अप्लाईड मटीरियल्स, पॉस्को और फ्रोनियस।

जयपुर, मैसूर, ईटानगर में आईटीडीसी के होटल राज्यों को सौंपे जाएंगे

Wednesday, 20 September 2017 21:41

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को फैसला किया कि केंद्र अपने तीन आईटीडीसी होटलों की 50 फीसदी हिस्सेदारी संबंधित राज्य सरकारों को सौंप देगा, जिनके पास इन संपत्तियों के पुनर्विकास का पूरा अधिकार होगा। केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, "केंद्र इन आईटीडीसी संपत्तियों में से अपनी 50 फीसदी हिस्सेदारी को वापस ले रहा है और इसे राज्यों को सौंपता है..इन होटलों में अशोक जयपुर, ललिता महल पैलेस (मैसूर) व डोनी पोलो अशोक ईटानगर (अरुणाचल प्रदेश) शामिल हैं।"

उन्होंने कहा, "तीन संपत्तियों पर निर्णय लिया गया है।" उन्होंने कहा कि भारतीय पर्यटन विकास निगम (आईटीडीसी) होटलों का प्रबंधन करता है और यह केंद्र व संबंधित राज्यों के संयुक्त स्वामित्व में है।

जेटली ने कहा कि केंद्र द्वारा स्वामित्व छोड़ने के बाद राज्यों के पास यह निर्णय लेने का अधिकार होगा कि इन होटलों का कैसे फिर से विकास किया जाए, और इसके लिए किसके साथ साझेदारी की जाए।

क्लाउड संचालित एडोब का तीसरी तिमाही में राजस्व 1.84 अरब डॉलर

Wednesday, 20 September 2017 21:41

अपने अनूठे क्लाउड पेशकश के साथ एडोब ने 2017 की तीसरी तिमाही में रिकॉर्ड 1.84 अरब डॉलर का राजस्व हासिल किया, जो इसके सलाना 26 फीसदी की राजस्व वृद्धि को प्रदर्शित करता है।

कंपनी ने बुधवार को एक बयान में कहा कि एडोब एक्सपीरियंस क्लाउड ने 50.8 करोड़ डॉलर का राजस्व हासिल किया।

एडोब के अध्यक्ष व मुख्य कार्यकारी अधिकारी शांतनु नारायण ने कहा, "एडोब ने 26 फीसदी की राजस्व वृद्धि के साथ एक अन्य तिमाही रिकॉर्ड बनाया है।"

नारायण ने कहा, "बुद्धिमत्तापूर्ण, सहज व प्रभावी उपभोक्ता अनुभव देना डिजिटल ट्रांसफार्मेशन के लिए महत्वपूर्ण है और एडोब की क्लाउड पेशकश इसे पूरा कर रही है।"

एडोब के क्लाउड एक्सपीरियंस, क्रिएटिंग क्लाउड व डाक्यूमेंट क्लाउड से इसे 2017 की दूसरी तिमाही में 1.77 अरब डॉलर का रिकॉर्ड तिमाही राजस्व हासिल करने में मदद मिली है।

संप्रग पर्याप्त रोजगार पैदा नहीं कर सका, मोदी सरकार भी विफल : राहुल

Wednesday, 20 September 2017 21:40

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने स्वीकार किया है कि उनकी पार्टी के नेतृत्व वाली पूर्व की संप्रग सरकार पर्याप्त रोजगार पैदा नहीं कर पाई थी और उन्होंने कहा कि मोदी सरकार भी अपने वादे के बावजूद रोजगार पैदा करने में विफल साबित हुई है।

प्रिंस्टन युनिवर्सिटी में यहां मंगलवार को विद्यार्थियों के साथ बातचीत में कांग्रेस नेता ने कहा कि नरेंद्र मोदी और एक हद तक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उदय के पीछे रोजगार का सवाल था।

राहुल ने कहा, "हमारी आबादी के एक बड़े हिस्से के पास रोजगार नहीं है और इसलिए वे परेशान हैं। और उन्होंने इसीलिए इस तरह के नेताओं का समर्थन किया है। समस्या यह है कि रोजगार को लेकर इन नेताओं का रिकार्ड -मैं ट्रंप के बारे में नहीं कहता, क्योंकि उनके बारे में नहीं जानता- लेकिन हमारे प्रधानमंत्री का तो निश्चित रूप से अच्छा नहीं है।"

राहुल ने कहा कि भारत में रोजगार मुख्य चुनौती है और प्रति दिन 30,000 युवा रोजगार बाजार में प्रवेश कर रहे हैं। लेकिन मात्र 450 रोजगार पैदा हो रहे हैं।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने स्वीकार किया कि पूर्व की संप्रग सरकार पर्याप्त रोजगार पैदा नहीं कर पाई थी, और यही एक प्रमुख कारण था कि 2014 के आम चुनाव में मोदी के नेतृत्व में भाजपा की जीत हुई थी।

राहुल ने कहा, "इसलिए जो लोग हमसे नाराज थे, क्योंकि हम 30,000 रोजगार पैदा नहीं कर सके, वही आज मोदी से नाराज हैं। केंद्रीय मुद्दा इस समस्या को सुलझाने का है।"

उन्होंने प्रधानमंत्री पर रोजगार सृजन के मुद्दे से ध्यान हटाने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, "भारत में इस समय लोगों में गुस्सा बढ़ रहा है। हम इसे महसूस कर सकते हैं। ऐसे में मेरे लिए चुनौती यह है कि इस समस्या का एक लोकतांत्रिक तरीके से समाधान कैसे निकाला जाए।"

गांधी ने कहा, "स्पष्ट कहूं तो कांग्रेस पार्टी ऐसा नहीं कर पाई। लेकिन मोदी भी इसमें असफल हैं। यह एक गंभीर समस्या है, इसलिए हमें पहले इसे समस्या के रूप में स्वीकार करना होगा और उसके बाद हमें इसे मिलकर सुलझाना होगा। लेकिन फिलहाल इसे कोई स्वीकारने को तैयार नहीं है।"

राहुल ने कहा, "दूसरी चुनौती शहरों के लिए भारी पलायन है और इन शहरों पर जितना दबाव है, उसे बर्दाश्त करने की स्थिति में वे नहीं हैं।"

उन्होंने कहा कि भारत में सिर्फ अकुशल रोजगार तैयार किए गए हैं।

गांधी ने कहा, "यदि आप आज अकुशल रोजगार को देखें तो चीन उन पर हावी है। चीन उन पर इसलिए हावी हैं, क्योंकि उनके पास एक खास तरह की राजनीतिक व्यवस्था है। वे उनपर हावी होने के लिए ताकत का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन वहां उन्हें प्रतिस्पर्धात्मकता का एक लाभ मिला है।"

उन्होंने कहा, "लोकतांत्रिक देश अकुशल रोजगार पैदा करने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। मेरे हिसाब से यह एक वास्तविक समस्या है, यही समस्या अमेरिका, भारत और यूरोप में है। वे अकुशल रोजगार पैदा करने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं।"

गांधी ने कहा, "जितनी नौकरियों की जरूरत है, उतनी नहीं हैं। भारत में यही समस्या सिर उठाए हुए है।"

राहुल ने कहा कि रोजगार पैदा करने के लिए छोटी कंपनियों को बड़ी कंपनियों में तब्दील किया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।

उन्होंने कहा, "आपके पास मौजूद बड़ी कंपनियां अपनी भूमिका निभा रही हैं, लेकिन जिन छोटी कंपनियों को, मझौली कंपनियों को बड़ी कंपनियों में बदला जाना चाहिए, वह नहीं हो रहा है।"

उन्होंने कहा, "मेरे हिसाब से रोजगार वहीं से पैदा होने हैं। आप कृषि को भी नजरअंदाज नहीं कर सकते। कृषि से ढेर सारे रोजगार पैदा होंगे..हमारी 40 प्रतिशत सब्जियां आज सड़ जाती हैं। यह एक बड़ी बर्बादी है।"

भारत पेरिस समझौते से आगे जाकर काम करेगा : सुषमा

Wednesday, 20 September 2017 21:38

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि प्रकृति के साथ सौहार्द्र के साथ रहना भारत की मूल प्रकृति है और हम पेरिस समझौते से आगे जाकर भी काम करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर बताया कि संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र से इतर मंगलवार को स्वराज ने कहा कि भारत मातृभूमि के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझता है। भारत पेरिस समझौते से ऊपर उठकर और इसके आगे जाकर भी कार्य करेगा। हमारी प्रतिबद्धता भविष्य की पीढ़ियों के लिए है।

उन्होंने कहा कि हम यूएनएसजी और संबंधित यूएन एजेंसियों खासकर अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के परिप्रेक्ष्य में साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने भारत की पहल पर 30 नवंबर, 2015 को यूएन कांफ्रेंस ऑफ पार्टीज(सीओपी) पर्यावरण सम्मेलन में अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन को लांच किया था। दोनों देशों ने सौर संसाधन गठबंधन देशों के रूप में अपनी विशेष ऊर्जा जरूरतों के महत्व पर बल दिया था।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रों की अध्यक्षता में आयोजित 'पर्यावरण समझौते पर एक अलग नेतृत्व सम्मेलन' में सुषमा ने कहा कि भारत पर्यावरण और विकास से संबंधित सभी वैश्विक चर्चा में हिस्सा लेता रहा है।

उन्होंने कहा, "प्रकृति के साथ सौहार्द्रपूर्वक तरीके से रहना और खपत के लिए सतत ढांचा हमारे मूल स्वभाव में शामिल है।"

2जी स्पेक्ट्रम मामले की सुनवाई 25 अक्टूबर तक स्थगित

Wednesday, 20 September 2017 21:38

पूर्व दूरसंचार मंत्री ए.राजा, डीएमके की राज्यसभा सदस्य कनिमोझी और दो अन्य के खिलाफ 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले की सुनवाई एक स्थानीय अदालत ने बुधवार को 25 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी है। केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) के विशेष न्यायाधीश ओ.पी. सैनी ने इस मामले में दाखिल दस्तावेजों की संख्या और तकनीकी प्रकृति की वजह से इसकी सुनवाई स्थगित कर दी।

न्यायाधीश ने कहा कि इन दस्तावेजों के अध्ययन में काफी समय लग सकता है और जरूरत पड़ने पर अन्य स्पष्टीकरण के लिए मामले की सुनवाई के लिए 25 अक्टूबर की तिथित तय कर दी।

अदालत ने कहा कि अगली सुनवाई पर इस मामले में फैसले की तिथि निर्धारित की जाएगी।

अदालत 2जी स्पेक्ट्रम मामले के अंतर्गत दो अलग-अलग मामलों की सुनवाई कर रहा है। एक की जांच सीबीआई कर रही है और दूसरे की जांच प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) कर रहा है। 26 अप्रैल को न्यायालय में इस मामले में अंतिम बहस पूरी हो गई थी।

सीबीआई के अनुसार, ए. राजा ने 2जी स्पेक्ट्रम के आवंटन और दूरसंचार कंपनियों को लाइसेंस देने के मामले में पक्षपातपूर्ण निर्णय लिए थे, जिससे सरकारी खजाने को भारी नुकसान हुआ था।

सीबीआई ने अपने आरोपपत्र में कहा है कि डीबी ग्रुप की ओर से 200 करोड़ रुपये कलैगनार टीवी को स्थानांतरित किए गए, जो स्वान टेलीकॉम प्राइवेट लिमिटेड को 2जी स्पेक्ट्रम आवंटित करने के लिए रिश्वत थी।

वहीं ईडी ने इस मामले में मनी लॉन्डरिंग का मामला दर्ज किया है। ईडी ने राजा, कनिमोझी, डीएमके प्रमुख करुणानिधि की पत्नी अम्माल और अन्य के खिलाफ इस मामले में साजिश रचने का आरोप लगाया है।

राजा समेत सभी आरोपी जमानत पर हैं और 25 अक्टूबर को अदालत एस्सार और लूप के प्रमोटरों के खिलाफ 2जी मामले में भी स्पष्टीकरण पेश करने के लिए कहेगा।

सीबीआई ने आरोप लगाया है कि एस्सार समूह के प्रमोटर लूप टेलीकॉम को जारी किए गए स्पेक्ट्रम और लाइसेंस के वास्तविक लाभार्थी और निवेशकर्ता हैं।

भाजपा काम करने की राजनीति पर विश्वास करती है : शाह

Wednesday, 20 September 2017 21:37

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को यहां कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पार्टी ने वंशवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण की राजनीति छोड़कर एक नए प्रकार की 'काम करने की राजनीति' प्रारंभ की है। शाह ने देहरादून में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, "इस वर्ष मई में हमारी सरकार ने मोदीजी के नेतृत्व में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा किया और इन तीनों वर्षो के दौरान देश में कई परिवर्तन देखने को मिले।"

शाह उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर हैं।

उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा, "कांग्रेस के 10 वर्षो के भ्रष्टाचार और नीतिगत अक्षमता की तुलना में इन तीन वर्षो में हमने पारदर्शी, भ्रष्टाचार मुक्त और निर्णय लेने वाली सरकार दी है"

उन्होंने यह भी कहा कि मोदीजी के कार्यकाल में भाजपा ने वंशवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण की राजनीति को छोड़ दिया और हमने नए प्रकार की काम करने की राजनीति शुरू की।

शाह ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में दुनिया में भारत की छवि तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था वाले देश के रूप में हो रही है।

जम्मू एवं कश्मीर में गत वर्ष नियंत्रण रेखा के पार किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि इससे दुनिया में भारत की छवि बदली है।

उन्होंने कहा कि इससे पहले राजनीतिक इच्छाशक्ति के अभाव की वजह से हम दुश्मनों को माकूल जवाब नहीं दे पाते थे और सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत अमेरिका के बाद ऐसा दूसरा देश बन गया है, जिसने सीमा पार जाकर दुश्मनों का सफाया किया।

नोटबंदी को काला धन समाप्त करने की एक बड़ी कामयाबी बताते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद हमारी सरकार अर्थव्यवस्था से काला धन हटाने में सफल हुई।

पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने 4 आतंकियों के मृत्युदंड पर मुहर लगाई

Wednesday, 20 September 2017 21:36

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने बुधवार को जघन्य अपराधों में शामिल चार 'कट्टर आतंकवादियों' के मृत्युदंड पर मुहर लगा दी। इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के अनुसार, चारों आतंकवादी कानून प्रवर्तन एजेंसियों और सशस्त्र बलों पर किए गए हमलों में शामिल थे।

आईएसपीआर ने कहा कि ये आतंकवादी 21 लोगों की हत्या में शामिल थे और इनके पास से हथियार और विस्फोटक भी बरामद किए गए थे।

इन पर सैन्य अदालतों द्वारा मुकदमा चलाया गया और इन्हें मौत की सजा सुनाई गई।

मप्र : मानहानि मामले में शिवराज ने बयान दर्ज कराए

Wednesday, 20 September 2017 21:34

मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह द्वारा एक नहीं दो-दो सभाओं में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह को कथित तौर पर 'नोट गिनने वाली मशीन' कहे जाने पर दायर किए गए मानहानि मामले में बुधवार को मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) की अदालत में बयान दर्ज कराए। अजय सिंह के अधिवक्ता साजिद अली ने आईएएनएस को बताया कि चौहान ने सीजेएम राकेश शर्मा के सामने कहा कि कांग्रेस नेता अजय सिंह ने एक बार अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया, जिसे सुनकर उन्हें गहरा आघात लगा, मगर उस पर किसी तरह का ऐतराज नहीं जताया। इसके बाद दोबारा फिर उसी शब्द का इस्तेमाल किया गया, जिस पर अजय सिंह को उन्होंने नोटिस भेजा। क्योंकि अजय सिंह ने न माफी मांगी और न ही कोई दस्तावेज पेश किए।

चौहान ने सीजेएम के समक्ष कहा कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान सिंह ने सागर की सभा में कहा था, "साधना भाभी की मशीन में गिने जा रहे हैं नोट।" यह बात उन्हें रात में पत्नी साधना सिंह ने बताई, जिसकी पुष्टि स्रोतों से भी हुई। इतना ही नहीं यह खबर प्रदेश के समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हुई। इसके बाद खरगोन की सभा में फिर यही शब्द दोहराए गए।

अली के मुताबिक, चौहान और उनकी पत्नी ने सीजेएम के समक्ष बयान दर्ज कराते हुए कहा कि अजय सिंह नोटिस के जवाब में अपनी कही बात से मुकर गए। उसके बाद उन्होंने कानूनी रास्ता चुनते हुए अजय सिंह पर मानहानि का एक करोड़ रुपये का परिवाद न्यायालय में दायर किया।

चौहान ने सीजेएम शर्मा के समक्ष अपने बयान दर्ज कराते हुए कहा कि विपक्षी नेता द्वारा सार्वजनिक मंच से कही गई अमर्यादित भाषा ने उन्हें बहुत आहत किया है। पहली बार सिंह के बयान को सुनकर साधना सिंह रात को सो नहीं पाई थीं। मगर दूसरी बार वही बात कहे जाने पर उन्हें लगा कि इस पर कानूनी कदम उठाना आवश्यक है।

चौहान ने अपने बयान में आगे कहा कि इन आरोपों से उनकी विश्वसनीयता पर प्रभावित हुई है और छवि खंडित हुई है। वहीं साधना सिंह ने कहा कि इन आरोपों से वह अवसाद में चली गई थीं, क्योंकि लोग पूछने लगे थे कि यह क्या हो रहा है।

अली के मुताबिक, इस मामले की अगली सुनवाई 12 अक्टूबर को तय की गई है। इस मौके पर जिला अदालत परिसर में मुख्यमंत्री चौहान और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के समर्थक बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

रोहिंग्या मुस्लिम ने सुनाई रूह कंपाने वाली दास्तान- बेटी के साथ गैंग रेप होते देखा है

Wednesday, 20 September 2017 21:32

म्यांमार के रखाइन इलाके से भागकर बांग्लादेश पहुंच रहे रोहिंग्या मुसलमानों जो आपबीती बता रहे हैं उसे सुनकर किसी की भी रूह कांप जाती है. उनका कहना है कि म्यांमार की सेना ने उनके साथ अत्याचार की सारी हदें पार कर दी हैं. बांग्लादेश में बने रोहिंग्या शरणार्थी शिविरों में गुजर-बसर कर रहे इन लोगों के चेहरे पर खौफ और दर्द साफ देखा जा सकता है. इन पीड़ितों में मोहम्मद कासिम (40) भी खुद के साथ बीती दास्तान को बताते हुए रो पड़ते हैं. उन्होंने बताया 'मैंने अपनी बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार होते हुए देखा है. मैंने उनको रोकने की कोशिश की तो उन लोगों ने उनकी जांघ में गर्म से लाल हो चुकी चाकू भोंक दी. इसके बाद बेटी को भी मार डाला. वह सभी बर्मा की सेना के जवान थे.'

कासिम ने रुंधे हुए गले से बताया कि उन्हें नहीं पता कि उनके बाकी बच्चे और पत्नी कहां हैं. जब उनसे पूछा गया वहां की जिंदगी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने याद करते हुए बताया कि वहां उनके पास घर और एक कार थी. लेकिन अब कुछ भी नहीं है. हालांकि मोहम्मद कासिम जो बता रहे हैं उसकी कोई पक्के सबूत फिलहाल नही हैं. लेकिन जब उनसे बार-बार उनकी बेटी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने उसके साथ गैंगरेप वाली बात ही दोहराई.  

आपको बता दें कि अब तक 5 से 10 लाख रोहिंग्या मुस्लिम बंग्लादेश पहुंच चुके हैं. बीते 25 अगस्त को रोहिंग्या आतंकियों की ओर से किए गए एक हमले के जवाब में म्यांमार ने कार्रवाई शुरू की तो इन मासूमों का सब कुछ उजड़ गया. इन रोहिंग्याओं की हालत देख बांग्लादेश के नागरिकों को उनके साथ 1971 के युद्ध की यादें ताजा हो जाती है. उनका कहना है कि अगर उस समय उनको भारत ने शरण न दी होती तो उनकी भी हालत रोहिंग्या मुस्लिमों जैसी हो जाती. रोहिंग्या मुस्लिमों के शिविर बांग्लादेश के कॉक्स बाजार के पास ही बनाए गए हैं. इसी बाजार में एक दुकानदार हिजबुल आलम ने 1971 में हुई घटना की याद करते हुए कहा कि पूरी दुनिया को इन रोहिंग्या मुस्लिमों की मदद करनी चाहिए.

ईडन गार्डन की पिच देखकर हैरान हो गए ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान, बोले- पहले कभी ऐसा नहीं देखा

Wednesday, 20 September 2017 21:31

आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने बुधवार को कहा कि उन्होंने ईडन गार्डन्स स्टेडियम की विकेट पर जितनी घास है, इससे पहले इतनी घास भारत की किसी भी पिच पर नहीं देखी। पांच वनडे मैचों की सीरीज में 1-0 से पिछड़ने के बाद आस्ट्रेलिया की टीम दूसरे मैच में यहां गुरुवार को भारत के खिलाफ सीरीज बराबर करने के मकसद से उतरेगी। पिछले 48 घंटों से लगातार हो रही बारिश के कारण ईडन की पिच को ढक कर रखा गया है। बुधवार को थोड़ी देर के लिए कवर हटाए गए थे, लेकिन कुछ देर बाद ही उन्हें वापस विकेट पर डाल दिया गया। स्मिथ ने बुधवार सुबह पिच को देखा था। जब उनसे इसके बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “उस पर कुछ घास है। विकेट पर जितनी घास है, उतनी मैंने शायद हाल के समय में कभी भारत में किसी पिच पर नहीं देखी।” स्मिथ ने कहा कि वह गुरुवार सुबह विकेट देखने के बाद ही अंतिम एकादश का चयन करेंगे।

उन्होंने कहा, “विकेट थोड़ी बहुत टूटी हुई है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह कुछ ज्यादा प्रभाव डालेगी। ऐसा लग रहा है कि विकेट उपयोग में ली गई है। मुझे नहीं पता की उस पर कौन सा मैच खेला गया है। मैं एक बार फिर कल (गुरुवार को) विकेट को देखूंगा। देखते हैं मौसम क्या गुल खिलाता है। सुबह क्या पता विकेट में कुछ बदलाव हो और हो सकता है वो घास कम कर दें। इन सबकी जांच के बाद ही अंतिम एकादश का चयन किया जाएगा।”

स्मिथ का मानना है कि यहां आकर अभ्यास न कर पाना समस्या नहीं है। आस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इससे कोई असर पड़ेगा। हम जब से भारत में हैं, टीम लगातार कड़ी मेहनत कर रही है। हमने कुछ दिनों पहले ही मैच खेला है। इसलिए टीम अच्छी स्थिति में है। हम खेलने को तैयार हैं।”

 

लड़कियां बेचने के आरोप में धरा गया मुख्य काजी, इंटरनेशनल रैकेट का पर्दाफाश

Wednesday, 20 September 2017 21:29

पुलिस ने ‘अनुबंध पर शादी’ कराने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो मध्य पूर्व और खाड़ी देश के पुरुषों के साथ यहां की स्थानीय महिलाओं और नाबालिग लड़कियों की शादी कराते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को बताया कि पुलिस ने इस मामले में 20 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें आठ विदेशी नागरिक शामिल हैं। विदेशी नागरिक शादी करके नाबालिग लड़कियां यहां से खाड़ी देश ले जाने के लिए आए थे। इन सब की उम्र 50-60 साल बताई जा रही हैं। वहीं एक की उम्र तो करीब 80 साल है।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण मंडल) वी सत्यनारायण ने बताया कि पुलिस ने तीन काजियों (शादी कराने वाले लोग), चार मकान मालिकों और पांच एजेंटो/ दलालों को गिरफ्तार किया है जो इस तरह की शादी संपन्न कराते हैं। इन काजियों में फरीद अहमद नाम का मुंबई का चीफ काजी भी शामिल है। इसे इस रैकेट का सरगना बताया जा रहा है। साथ ही उन्होंने बताया, ‘हमने ‘अनुबंध पर शादी’ (छोटी अवधि की शादी) कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है और अरब, ओमान और कतर के आठ शेखों के स्थानीय लड़कियों से शादी करने के प्रयास को विफल कर दिया।’

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘दो नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया गया। प्राथमिक जांच से सामने आया है कि अनुबंध पर की गई इन शादियों के जरिए यह लोग कम से कम 20 महिलाओं और नाबालिग लड़कियों की तस्करी की योजना बना रहे थे।’ उन्होंने कहा कि गिरोह के संबंध में विस्तृत जांच की जा रही है। हैदराबाद पुलिस ने पहले भी पुराने नगर क्षेत्र में कई ऐसे गिरोहों का भंडाफोड़ किया है जो जाली दस्तावेजों के जरिए ऐसी शादियां करवाते थे। उन्होंने कहा था कि शादी के वक्त, दुल्हन को ‘तलाक’ के कोरे बॉन्ड पेपर पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा जाता है।

बता दें, ऐसा ही मामला कुछ महीने पहले भी सामना आया था, जब ओमान के एक 77 साल के शेख ने 16 साल की लड़की से शादी की थी। शादी के बाद वह उसे अपने साथ ले गया। जिसके बाद उस लड़की ने फोन के जरिए अपने घरवालों को बताया कि शेख उसे शारीरिक और मानसिक तौर पर परेशान कर रहा है। जिसके बाद लड़की मां ने अपने पति, देवर और ननद पर पांच लाख रुपए में बेटी बेच देने का आरोप लगाया था।

जियो को टक्कर देने के लिए BSNL का नया डेटा और अनलिमिटेड कॉलिंग प्लान

Wednesday, 20 September 2017 21:28

भारतीय संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने त्योहारी सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए नया डेटा प्लान शुरू किया है। 249 रुपये के रिचार्ज पर बीएसएनएल उपभोक्ता कॉलिंग के साथ डेटा का लाभ ले सकते हैं। इस ऑफर में ग्राहकों को अनलिमिटेड कॉलिंग के साथ 1जीबी डेटा मिलेगा। इस ऑफर की वेलिडिटी 28 दिनों तक होगी। बीएसएनएल उपभोक्ता इस ऑफर का लाभ 25 अक्टूबर तक उठा सकते हैं। बीएसएनएल ने इस ऑफर की जानकारी अपने अधिकारी साइट और ट्वीट करके दी है।

इससे पहले बीएसएनएल ने 429 रुपये वाला प्लान लांच किया था। इस ऑफर में ग्राहकों को 90 दिनों के लिए अनलिमिटेड वॉयल कॉल और एक जीबी डेटा रोजाना मिलेगा। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इस प्लान के तहत किसी भी नेटवर्क पर (केरल सर्किल को छोड़कर) मुफ्त वॉयस कॉल (लोकल/एसटीडी) 90 दिनों के लिए दी जाएगी तथा एक जीबी डेटा भी प्रतिदिन 90 दिनों तक मिलेगा। बीएसएनएल के बोर्ड निदेशक (कंज्यूमर मोबाइल) आर. के. मित्तल ने कहा, “यह प्लान 429 रुपये में उपलब्ध है, यानी हर महीने 143 रुपये में असीमित वॉयस कॉल के साथ एक जीबी डेटा मिलेगा। यह वर्तमान बाजार परिदृश्य में सबसे प्रतिस्पर्धात्मक प्लान है।

बता दें कि बीएसएनएल ने जियो और एयरटेल को टक्कर देने के लिए अपना यह नया प्लान लॉन्च किया है। 429 रुपये के प्लान में 56 दिन तक अनिलमिटेड इंटरनेट और वॉयस कॉलिंग की सुविधा दी जा रही है। इसमें किसी भी नेटवर्क पर अनलिमिटेड लोकल और एसटीडी कॉल की सुविधा दी जा रही है। वहीं इसमें हाई स्पीड का रोजाना 1GB डेटा मिलेगा। इसके बाद इंटरनेट तो अनलिमिटेड चलता रहेगा लेकिन इसकी स्पीड कम हो जाएगी। इसकी स्पीड 128kbps की रह जाएगी।

एयरटेल के 345 रुपये के प्लान में अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग की सुविधा दी जा रही है। इसके अलावा इसमें रोजाना 1GB हाई स्पीड का डेटा मिलता है। हाई स्पीड डेटा की लिमिट खत्म होने के बाद इंटरनेट बंद हो जाता है। इस प्लान की वैधता 28 दिन की है। वहीं जियो के 309 रुपये के रिचार्ज में अनलिमिटेड इंटरनेट और कॉलिंग की सुविधा दी जा रही है। इसके अलावा इसमें अनलिमिटेड मैसेज की भी सुविधा दी जा रही है। इस प्लान की वैधता 56 दिन की है।

दिल्‍ली: सिगरेट पीने से रोका तो दो लोगों पर चढ़ा दी कार, एक की मौत

Wednesday, 20 September 2017 21:26

दिल्‍ली में रोडरेज की एक घटना में, एक शख्‍स ने मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को कार से ठोकर मार दी। उनका कसूर इतना था कि उन्‍होंने उस व्‍यक्ति को उनके मुंह पर सिगरेट पीने से मना किया था। दोनों घायलों में से एक ही बुधवार को मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि वह इस बात की जांच कर रहे हैं कि यह एक हादसा था या फिर आरोपी ने जानबूझकर दोनों को ठोकर मारी। टाइम्‍स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार, गुरप्रीत और मनिंदर सिंह (दोनों की उम्र 20-30 वर्ष के बीच) एम्‍स के पास फुटपाथ निवासियों पर एक डॉक्‍युमेंट्री शूट करने आए थे। प्रत्‍यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि जब दोनों सफदरजंग अस्‍पताल के पास डिनर कर रहे थे तो एक व्‍यक्ति आया और उनके चेहरे पर सिगरेट का धुआं छोड़ना शुरू कर दिया। पीड़‍ित परिवार के मुताबिक, दोनों ने इस पर आपत्ति जताई और उसे ऐसा करने से मना किया मगर नशे में चूर उस शख्‍स ने गंभीर नतीजे भुगतने की चेतावनी दी।

परिवार के अनुसार, दोनों बात को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे इसलिए वहां से जाने लगे। हालांकि उस शख्‍स ने उन दोनों का पीछा किया और एम्‍स के नजदीक उनकी बाइक को पीछे से टक्‍कर मार दी। बाद में ड्राइवर ने एक ऑटोरिक्‍शा और एक कैब को भी ठोकर मारी। घायल लड़कों को अस्‍पताल पहुंचाया गया जहां बुधवार को गुरप्रीत की मौत हो गई जबकि मनिंदर का इलाज जारी है।

आरोपी की पहचान रोहित कृष्‍ण महंता के रूप में हुई है, जिसे मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि बाद में उसे जमानत मिल गई, वह वकालत की पढ़ाई कर रही है। वह एक अस्‍पताल में है और पुलिस उससे पूछताछ का इंतजार कर रही है।

गुरप्रीत की मौत के बाद, पुलिस ने आईपीसी की धारा 304 के तहत एफआईआर दर्ज की है। हालांकि मृतक के परिवार ने दावा किया कि यह हत्‍या का मामला है।

कोस्टगार्ड ने 10 दिन से गहरे समंदर में फंसे 14 मछुआरों की बचाई जान

Wednesday, 20 September 2017 21:23

भारतीय तटरक्षक दल ने 10 दिन से गहरे समंदर में फंसे 14 मछुआरों की जान बचाई. ये  मछुआरे पिछले 10 दिनों से बिना पानी और भोजन के जिंदा रहने के लिए संघर्ष कर रहे थे. उनकी नाव का इंजन खराब हो गया था.
 
मुंबई से तकरीबन 200 किलोमीटर अंदर समंदर में कहर ढाती लहरें, तेज हवा और खराब मौसम के चलते उनके बचने की कोई उम्मीद नहीं थी, लेकिन भारतीय तटरक्षक दल ने उन्हें खोज निकाला और सभी को सकुशल बचा लिया. भारतीय तटरक्षक दल के पश्चिमी कमान के आईजी के आर नौटियाल के मुताबिक 17 सितंबर को तटरक्षक दल को मछुआरों के फंसे होने की सूचना मिली थी. तुरंत तटरक्षक दल की जहाज समुद्र प्रहरी को बचाव के लिए रवाना किया गया. खराब मौसम में भी जहाज ने मछुआरों की नाव को खोज लिया.

खाना और पानी खत्म हो चुका था
मछुआरों की नाव का पानी और भोजन खत्म हो चुका था. सभी भूखे थे. उन्हें खाने को दिया गया. पानी दिया गया और फिर उनकी नाव को खींचकर समंदर किनारे लाया गया. आईजी के आर नौटियाल के मुताबिक भारतीय तटरक्षक दल ने ऐसे ही जैकन 3 नामक जहाज में फंसे 19 मछुआरों को बचाया और उन्हें मुरुड जंजीरा में सुरक्षित पहुंचा दिया गया.

 

फाइटर प्लेन ने गलती से दाग दिया कार पर मिसाइल, देखें- घटना का दिल दहला देने वाला Video

Wednesday, 20 September 2017 21:21

रूस और बेलारूस की सेना की ओर से चलाए जा रहे अभ्यास ऑपरेशन में लड़ाकू विमान ने गलती से पार्किंग एरिया में खड़ी कारों का निशाना बना डाला. हेलिकॉप्टर से दागी गई मिसाइल की चपेट में आने से पल भर में एक कार के परखच्चे उड़ जाते हैं और आसपास के इलाके में धूल और धुएं का गुबार उठ जाता है. इस घटना के वीडियो को रूस की एक न्यूज वेबसाइट की ओर से जारी किया गया है.

वीडियो में दिख रहा है कि एक शख्स जो कि कारों की पास ही चलता हुआ पहुंच जाता है तभी पीछे से आ रहे एक हेलिकॉप्टर ने उन कारों पर मिसाइल दाग देता है. इसके बाद कुछ भी दिखाई नहीं देता है. ये हेलिकॉप्टर पार्क में खड़े कुछ ट्रकों को निशाना बनाने का अभ्यास कर रहे थे जिनको एक जाल से ढक दिया गया था.

इन ट्रकों से कुछ ही दूरी पर कारें खड़ी थीं. ऐसा लगता है फाइटर प्लेन का पायलेट इन कारों को देखकर अंदाजा नहीं लगा पाया और मिसाइल दाग दी. जिसने भी इस घटना का वीडियो बनाया है वह थोड़ी ही दूर पर खड़ा इस अभ्यास को देख रहा था. वहीं रूस के रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में माना गया है कि गलती से कारों को निशाना बनाया गया है. हालांकि इस घटना में किसी के हताहत नहीं होने का भी दावा भी किया गया है. 
 

40 दिन के इलाज के लिए बेंगलुरु गए थे कपिल शर्मा, लेकिन 12वें दिन ही लौटे

Wednesday, 20 September 2017 21:13

'द कपिल शर्मा शो' का टीवी पर इंतजार कर रहे फैन्स के लिए एक अच्छी खबर है. खराब तबीयत के चलते कपिल का बेंगलुरु के होलिस्टिक हेल्थकेयर सेंटर में आयुर्वेदिक इलाज चल रहा था. उनके फैंस को यह जानकर खुशी होगी कि अब कपिल अस्पताल से डिस्चॉर्ज हो गए हैं. डीएनए में  छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कपिल शर्मा के करीबी दोस्त ने बताया कि उन्हें रविवार को डिस्चार्ज कर दिया गया है.हालांकि, कपिल शराब की लत से पूरी तरह मुक्ति पाने के लिए बेंगलुरु स्थित आयुर्वेदिक क्लिनिक में 40 दिनों के लिए भर्ती होने गए थे. लेकिन 12 दिन के अंतर ही वह रिहेब सेंटर से बाहर आ गए और उनके दोस्त के मुताबिक पूरी तरह से इस लत से छुटकारा पा चुके हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, अपने वर्क कमिटमेंट्स की वजह से कपिल रविवार को मुंबई लौट आए हैं. उनका जल्दी लौटने का कारण नई फिल्म 'फिरंगी' को भी माना जा रहा है. मुंबई लौटकर वे जल्द से जल्द 'फिरंगी' की शूटिंग खत्म कर फिल्म का प्रमोशन शुरू करेंगे, जो इस नवंबर रिलीज होने वाली है. कपिल के दोस्त के मुताबिक, पूरी तरह ठीक होने के बाद वे दोबारा 'द कपिल शर्मा शो' शुरू करेंगे. 

मालूम हो कि, कपिल शर्मा की बिगड़ती तबियत को देखते हुए कपिल शर्मा के शो को बंद कर दिया गया. इस महीने की शुरुआत में सोनी एंटरटेंमेंट चैनल ने 'द कपिल शर्मा शो' में एक छोटे अंतराल की घोषणा की. चैनल के एक आधिकारिक प्रवक्ता ने आईएएनएस को दिए एक बयान में कहा, "कपिल का स्वास्थ्य ठीक नहीं है, जिस कारण हम आपस में सलाह-मशविरा करने के बाद एक छोटा ब्रेक लेने पर सहमत हुए हैं. हालांकि, एक बार कपिल पूरी तरह से ठीक हो जाएं, तो हम एक बार फिर से शूटिंग शुरू करेंगे. हम कपिल के साथ अपने रिश्ते की कद्र करते हैं और उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना करते हैं."

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने कहा : रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस ले म्यांमार

Wednesday, 20 September 2017 18:21

ढाका:भारत सहित दुनिया के कई देशों ने म्यांमार से रोहिंग्या मुसलमानों की दिक्कतों को लेकर अपनी अपनी चिंताओं से अवगत कराया है. ऐसे में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने एक बार फिर म्यांमार से कहा है कि वह करीब 4,20,000 रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस ले, जो बौद्ध बहुल देश में हिंसा के कारण भाग आए हैं. मीडिया खबरों में कहा गया है कि शेख हसीना ने पिछले तीन सप्ताह से जारी नए संकट को लेकर म्यामां पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढाने का भी आह्वान किया. वह संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में शामिल होने के लिए न्यूयार्क में हैं जहां वह बांग्लादेशी कार्यकर्ताओं से बातचीत कर रही थीं.

उन्होंने कल रात कहा, ‘‘हमने म्यांमार से कहा है, वे लोग आपके नागरिक हैं, आपको उन्हें वापस लेना चाहिये , उन्हें सुरक्षित रखिए, उन्हें आश्रय दीजिए, कोई दमन और प्रताड़ना नहीं होनी चाहिए.’’

हसीना ने कहा कि बांग्लादेश राजनयिक प्रयास कर रहा है ताकि म्यामां शरणार्थियों को वापस ले.
उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन सरकार म्यामां आह्वान पर ध्यान नहीं दे रही है. बजाय इसके , म्यामां सीमा पर बारूदी सुरंग बिछा रहा है ताकि रोहिंग्या अपने मूल देश नहीं लौट सकें.’’ संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर इस्लामी देशों की एक बैठक में हसीना ने कहा कि रोहिंग्या लोगों को बंगाली करार देने के लिए म्यामां दुष्प्रचार कर रहा है. उन्होंने जोर दिया कि उन लोगों को म्यामां की नागरिकता दी जानी चाहिए.

UPA के कार्यकाल में कालेधन पर तैयार रिपोर्टों की समीक्षा कर रहे हैं : वित्त मंत्रालय

Wednesday, 20 September 2017 18:15

वित्त मंत्रालय ने कहा है कि वह पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के कार्यकाल में देश और विदेश में भारतीयों के कालेधन पर तीन रिपोर्टों की समीक्षा कर रहा है. यूपीए सरकार के कार्यकाल में ये रपटें तैयार कराई गई थीं. इन्हें तीन साल पहले सौंपा जा चुका है.

सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में मंत्रालय ने कहा कि इन रपटों के निष्कर्षों को आरटीआई कानून के तहत ‘खुलासे से छूट’ है और अभी उनकी समीक्षा की जा रही है. अभी इन रपटों को संसद के पास नहीं भेजा गया है.

दिल्ली के नेशनल इंस्टिट्यूट आफ पब्लिक फाइनेंस एंड पॉलिसी (एनआईपीएफपी), नेशनल काउंसिल आफ एप्लायड इकनामिक रिसर्च (एनसीएईआर) के अलावा फरीदाबाद के नेशनल इंस्टिट्यूट आफ फाइनेंशियल मैनेजमेंट (एनआईएफएम) ने यह रपटें तैयार की हैं. एनआईपीएफपी, एनसीएईआर और एनआईएफएम की रपटें सरकार को क्रमश: 30 दिसंबर, 2013, 18 जुलाई, 2014 और 21 अगस्त, 2014 को मिली हैं. मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार मई 2014 में सत्ता में आई थी. वित्त मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा कि आरटीआई कानून, 2005 की धारा 8 (1) (सी) के तहत इस सूचना का खुलासा न करने की छूट है. तीनों संस्थानों से मिली रपटों की सरकार समीक्षा कर रही है. इन रपटों को सरकार के जवाब के साथ अभी तक वित्त पर स्थायी समिति के जरिये संसद में नहीं रखा गया है.

ये रपटें संसद की वित्त पर स्थायी समिति को पहले ही सौंपी जा चुकी हैं. अभी तक देश और विदेश में कालेधन के बारे में कोई आधिकारिक आंकड़ा नहीं है.

अमेरिकी शोध संस्थान ग्लोबल फाइनेंशियल इंटिग्रिटी (जीएफआई) के हालिया अध्ययन के अनुसार 2005 से 2014 के दौरान भारत में 770 अरब डॉलर का कालाधन आया. वहीं इस अवधि में देश से बाहर 165 अरब डॉलर का कालाधन गया.

POPULAR ON IBN7.IN