मेरी फालतू बातें भी सुन लेती है दिशा : रिद्धि डोगरा

Thursday, 27 July 2017 13:52

टेलीविजन धारावाहिक 'वो..अपना सा' में अभिनेत्री दिशा परमार के साथ अक्सर झगड़ती दिखाई देने वाली अभिनेत्री रिद्धि डोगरा का कहना है कि पर्दे के पीछे दोनों के बीच बेहतरीन रिश्ता है और दिशा उनकी आलतू-फालतू सारी बातें सुनती हैं। उन्होंने बताया कि दिशा एक अच्छी श्रोता हैं और वह उनकी फालतू बातों पर भी ध्यान देती हैं।

उन्होंने कहा, "धारावाहिक में निशा का मेरा किरदार बहुत चुनौतीपूर्ण है। दिशा, जाह्नवी की पारंपरिक नायिका की भूमिका में हैं। इसलिए पर्दे पर हम एक-दूसरे के खिलाफ हैं।"

उन्होंने कहा कि पर्दे के बाहर हम दोनों का संबंध बिल्कुल भिन्न है।

उन्होंने कहा, "हम हमेशा हंसते रहते हैं, खासकर उन दृश्यों को लेकर जिसमें हम एक-दूसरे से झगड़ते हैं। चूंकि, मैं और दिशा दोनों दिल्ली से हैं इसलएि हम एक-दूसरे के साथ सहज हैं।"

उन्होंेने कहा, "मुझे बात करना पसंद है और दिशा अच्छी श्रोता है। वह मेरी फालतू बातें भी सुन लेती है। सेट पर एक-दूसरे का साथ मजेदार है। तनावपूर्ण रिश्ते के बावजूद, हम दोनों को बहुत मजा आता है और वह अद्भुत मित्र है।"

वहीं दिशा ने कहा, "ज्यादा समय नहीं लगा और हम अच्छे दोस्त बन गए। वह बहुत अच्छी है और हम दोनों के बीच खास रिश्ता है।"

लालू की धमकी- नीतीश की बहुत सारी निजी बातें जानता हूं, सुप्रीम कोर्ट जाऊंगा

Thursday, 27 July 2017 13:51

बिहार की राजनीति में मचे सियासी भूचाल के बीच नीतीश कुमार ने दोबारा 27 जुलाई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। वहीं उपमुख्यमंत्री का पद अब लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव से छिनकर बीजेपी के सुशील मोदी को मिल चुका है। नीतीश इस्तीफा देने के महज 24 घंटे से भी कम समय में बीजेपी से समर्थन पाकर वापिस सीएम बन गए हैं। इसी बीच लालू यादव ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। लालू ने प्रेस वार्ता कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। लालू ने कहा, “नीतीश कुमार जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं लेकिन मैं बता दूं कि यह(नीतीश) 302 के मुद्दाले हैं। मैं नीतीश कुमार के बहुत सारे व्यक्तिगत विवाद जानता हूं लेकिन कहना अच्छा नहीं लगता।” लालू ने यह भी कहा कि वह नीतीश और बीजेपी के गठबंधन की सरकार बनाने के खिलाफ अपील करेंगे। उन्होंने कहा, “हम राज्यपाल के फैसले(नई सरकार के गठन) के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे”

 

लालू यादव ने और भी कई बातें कही। उन्होंने नीतीश कुमार को भसमासुर और खुद को शंकर भगवान भी बताया। लालू ने कहा, “हम बोले, शंकर भगवान की तरह जाओ राज करो, पर यह(नीतीश) तो भसमासुर निकला।” इसके अलावा उन्होंने कहा, “नीतीश को जिधर सत्ता दिखती है उधर चले जाते हैं। नीतीश ने कहा था कि मिट्टी में मिलेंगे लेकिन बीजेपी से नहीं मिलेंगे।” नीतीश सरकार की शराबबंदी को लेकर भी लालू ने निशाना साधा। लालू ने कहा, “शराबबंदी एक ढोंग था। दूसरे राज्यों से शराब आ रही थी।”

 

वहीं लालू यादव ने कुछ मीडिया संस्थानों पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, “कुछ मीडिया संस्थान जिन्हें हम अच्छा समझते थे उन्होंने हमारी सुपारी ले ली। देखिए अमेरिका की मीडिया कैसे ट्रंप से लड़ रही है और यहां पर मीडिया विपक्ष से लड़ रही है। अमित शाह अब सुपर एडिटर बन गए कुछ मीडिया संस्थानों के। वही तय करते हैं क्या खबर चलाई जाएगी। संस्थानों के मालिकों को वही बताते हैं। इसमें रिपोर्टरों और एडिटरों की गलती नहीं है।”

करण के साथ काम करने पर काजोल ने कहा- जिनसे बात नहीं करते उनके साथ काम नहीं कर सकते

Thursday, 27 July 2017 13:49

बॉलीवुड में दोस्ती बनती और बिगड़ती रहती है। करण जौहर और काजोल की दोस्ती जगजाहिर है और इसके बाद पिछले साल दोनों की दोस्ती में दरार की खबरे सामने आई थीं। अपनी ऑटोबायोग्राफी एन अनसुटेबल ब्वॉय में फिल्म निर्माता ने अपनी दोस्ती टूटने को लेकर खुलासा किया था। हाल ही में जब पीटीआई ने काजोल से सवाल पूछा कि क्या वो करण के साथ भविष्य में काम करेंगी तो एक्ट्रेस ने कहा- मैं आपको इस तरह से बताती हूं। मैं उस सवाल का कोई जवाब नहीं देना चाहती। अगर मेरा कोई और दूसरा दोस्त मुझे फिल्म ऑफर करेगा तो निश्चित तौर पर मैं उसे करुंगी। तो ऐसे में उनके लिए 100 फीसदी ना है।

काजोल ने आगे कहा- अगर आप जिसके साथ काम कर रहे हैं उसके साथ सहज नहीं है, आप उससे बातें नहीं करते हैं या जिन लोगों के साथ काम कर रहे हैं उनसे नहीं बोलते हैं। मुझे लगता है कि संवाद साथ काम करने के लिए महत्वपूर्ण है। आप उनके साथ काम नहीं कर सकते जिनसे बात नहीं करते हैं। करण और काजोल 25 सालों से एक-दूसरे के दोस्त थे। 42 साल की एक्ट्रेस को करण खुद के लिए लकी चार्म मानते थे। इसी वजह से एक्ट्रेस को निर्माता की फिल्मों में कैमियो करते हुए देखा गया है। 2012 में आई स्टूडेंट ऑफ द ईयर में भी काजोल का कैमियो था। निर्देशक के तौर पर करण की डेब्यू फिल्म कुछ कुछ होता है में काजोल ने लीड एक्ट्रेस का किरदार निभाया था।

कुछ समय पहले भी काजोल ने करण के साथ अपने रिश्तों को लेकर अप्रत्यक्ष रूप से बात की थी। उन्होंने कहा था कि रिश्ते अमूमन काफी मुश्किल होते हैं। काजोल ने कहा था- मेरा मानना है कि रिलेशनशिप काफी मुश्किल होते हैं, इसका बॉलीवुड से कुछ लेना-देना नहीं है लेकिन करण जौहर के साथ जो हुआ उसपर कमेंट नहीं करना चाहती।

इससे पहले करण ने अपनी टूटी दोस्ती को लेकर बायोग्राफी में लिखा था- चीजें कही गईं, मुझपर झूठे इल्जाम लगाए गए कि मैंने उसके पति की फिल्म को नुकसान पहुंचाने के लिए किसी को रिश्वत दी है। मैं इतना भी नहीं कह सकता कि मुझे इससे तकलीफ हुई या चोट पहुंची। मैं इसे केवल खाली छोड़ देना चाहता था। जब इसने इस पूरे मामले पर रिएक्ट करते हुए एक ट्वीट किया- शॉक्ड तब मुझे पता चला कि मेरे लिए सबकुछ खत्म हो चुका है।

Meizu Pro 7, Meizu Pro 7 Plus लॉन्च, दो डिस्प्ले के अलावा भी हैं कई खास फीचर

Thursday, 27 July 2017 13:48

स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी Meizu ने अपने दो स्मार्टफोन लॉन्च किए थे। Meizu Pro 7 और Meizu Pro 7 Plus की सबसे बड़ी खासियत है कि इन दोनों ही स्मार्टफोन्स के पीछे भी एक एमोलेड डिस्प्ले दी गई है। प्रो7 ब्लैक, गोल्ड और रेड कलर वेरिएंट में जबकि प्रो 7 प्लस ब्लैक, मैट ब्लैक, गोल्ड और सिल्वर कलर वेरिएंट में मिलेगा। इसके अलावा इन दोनों स्मार्टफोन में डुअल रियर कैमरा दिया गया है। मेजू प्रो 7 के हीलियो पी25 प्रोसेसर वेरिएंट की कीमत 2,880 युआन (करीब 27,400 रुपये) जबकि हीलियो एक्स30 वेरिएंट (128GB) की कीमत 3,380 युआन (32,200 रुपये) होगी। प्रो 7 प्लस के 6GB रैम और 64GB इंटरनल वेरिएंट की कीमत 3,580 युआन (करीब 32,200 रुपये) जबकि 6GB रैम और 128GB इंटरनल मैमोरी वेरिएंट की कीमत 4,080 युआन (करीब 38,800 रुपये) के आसपास होगी।

मेजू प्रो 7 और मेजू प्रो 7 प्लस की बिक्री चीन में 5 अगस्त से शुरू होगी। इन दोनों ही स्मार्टफोन्स को भारत में कब लॉन्च किया जाएगा इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। रियर पर मौजूद डिस्प्ले को नोटिफिकेशन, मौसम, समय और म्यूज़िक के अलावा कई दूसरे कामों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा इस स्क्रीन की सबसे अहम ख़ासियत है कि इसे फोन के रियर कैमरे से सेल्फी लेने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

फीचर्स Meizu Pro 7: इस स्मार्टफोन में 5.2 इंच की फुल एचडी डिस्प्ले दी गई है। इसके अलावा इसमें एक सुपव एमोलेड रियर डिस्प्ले भी है जो 1.9 इंच की है। फोन में 2.5 गीगाहर्ड्ज का मीडियाटेक हिलियो पी25 प्रोसेसर दिया है। इसकी इंटरनल मैमोरी 64GB है। इसके अलावा इसका एक 2.6 गीगाहर्ड्ज प्रोसेसर के साथ भी एक मॉडल है जिसकी इंटरनल मैमोरी 128GB की है। इसमें 4GB की रैम दी गई है। पावर बैकअप के लिए इसमें 3,000mAH की बैटरी दी गई है

फीचर्स Meizu Pro 7 Plus: इसमें 5.7 इंच की क्वाड एचडी डिस्प्ले दी गई है। इसके अलावा इसके रियर में भी एक 1.9 इंट की सुपर एमोलेड डिस्प्ले दी गई है। इसके भी कंपनी ने दो मॉडल लॉन्च किए हैं। इसमें 2.6 गीगाहर्ड्ज का मीडियाटेक हीलियो X30 डेका कॉर प्रोसेसर दिया गया है। इसमें 6GB की रैम दी गई है। इसमें 64GB और 128GB के दो मॉडल उपलब्ध हैं। पावर बैकअप के लिए इसमें 3,500mAH की बैटरी दी गई है।

फोटोग्राफी के लिए इन दोनों ही स्मार्टफोन्स में एलईडी फ्लैश के साथ 12 मेगापिक्सल के डुअल रियर कैमरे दिए गए हैं। वहीं सेल्फी के लिए इनमें 16 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है। कनेक्टिविटी के लिए दोनों ही फोन डुअल सिम 4जी सपोर्ट के साथ आते हैं। यह गूगल के लेटेस्ट एंड्ऱॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम नूगा 7 पर काम करेंगे।

पुत्र मोह में मारे गए लालू, बढ़ा पूरे परिवार पर संकट गहराने का खतरा

Thursday, 27 July 2017 13:46

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी चीफ लालू यादव ने सप्ताह भर बिहार की राजनीति में पिताधर्म और राजनीतिक संतुलन बनाने के लिए बहुत संघर्ष किया। लेकिन बीती रात उन्होंने इसपर तब घुटने टेक दिए जब बिहार का महागठबंधन टूट गया और सरकार गिर गई। पद से इस्तीफा दे चुके नीतिश कुमार ने लालू के बेटे और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी द्वारा अपने ऊपर लगे भष्टाचार के आरोपों पर सार्वजनिक तौर पर सफाई ना देने पर पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि लालू यादव ने नीतीश पर विश्वासघात का आरोप लगाते हुए कहा, भाजपा से हाथ मिलाने के बाद नीतीश नष्ट हो जाएंगे, उनकी राजनीतिक पारी खत्म हो जाएगी। लालू ने आगे कि इस्तीफे से पहले उन्होंने नीतीश कुमार से बातचीत की, जिसमें उन्होंने गठबंधन तोड़ने का कोई सकेंत नहीं दिया था। वहीं बुधवार (26 जुलाई, 2017) को पार्टी के 80 विधायकों के साथ मीटिंग के बाद लालू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी साफ किया कि उनके बेटे तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि तेजस्वी के इस्तीफे की मांग लंबे समय से चल रही है, जोकि उनके नेता द्वारा सही नहीं है।

हालांकि ऊपरी तौर पर सबकुछ सही दिखाई दे रहा था लेकिन महागठबंधन में कुछ और ही हो रहा था। क्योंकि बुधवार शाम नीतीश कुमार ने राज्य के राज्यपाल को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिए जाने की जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने भाजपा के साथ सरकार बनाने का कोई संकेत नहीं दिया। साल 2013 में नीतीश ने भाजपा से गठबंधन तोड़ा था। लेकिन पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद नीतीश ने इस दौरान कहा कि जो बिहार के लिए अच्छा होगा वो वही करेंगे। हालांकि गुरुवार (27 जुलाई, 2017) को सबकुछ साफ हो गया। क्योंकि नीतीश एक बार फिर पुराने साथी भाजपा के साथ मिलकर सरकाने बनाने जा रहे थे। लेकिन लालू भष्टाचारों के आरोपों से घिरे बेटे तेजस्वी का अबतक बचाव करते हुए नजर आ रहे थे। सूत्रों के अनुसार लालू ने पार्टी सांसदों से बेटे को राजनीतिक सुरक्षा घेरा दिए जाने की बात तक कही थी। क्योंकि लालू जानते थे उनके बेटे को उप मुख्यमंत्री पद से हटाया जा सकता है। इस दौरान लालू बेटे को लेकर काफी चिंतित भी थे। क्योंकि बेटे की राजनीतिक विरासत बचाने की मुश्किल ने उन्हें काफी परेशान कर दिया था। ये जानकारी सूत्रों के हवाले से है। वहीं बेटे के ऊपर लगे आरोपों के बाद भष्टाचार के आरोपों का सामना कर रही सरकार के बारे में जब मीडिया ने लालू से इसपर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, मैं नीतीश कुमार की सरकार को क्यों अस्थिर करूंगा? मैंने उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री बनाया है।

लालू ने आगे कहा कि नीतीश कुमार के मन में कुछ और ही चल रहा था। तेजस्वी के लगे आरोपों के बाद एक फिर उन्हें पुराने साथी भाजपा की तरफ जाने का एक मौका दे दिया। क्योंकि नीतीश पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कई फैसलों का समर्थन कर चुके हैं। बीते साल नवंबर में केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी का भी महागठबंधन में नीतीश की पार्टी ने सर्मथन किया था। राष्ट्रपति चुनाव में भी नीतीश ने भाजपा के उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करने की घोषणा की। जिससे साफ हो गया कि वो भाजपा के खेमे जा रहे हैं। नीतीश ने खुद कभी इस बात से इंकार नहीं किया कि वो भाजपा के साथ दोबारा गठबंधन कर सकते हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में देशभर में मोदी लहर चली और केंद्र में भाजपा की सरकार बनी। केंद्र में मोदी की पूर्णबहुमत की सरकार से ना सिर्फ कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दलों को झटका लगा, बल्कि भाजपा विरोधी लालू यादव की मुश्किलों का दौर भी एक बार फिर शुरू हो गया। जेडीयू ने अपने दम पर लोकसभा चुनाव लड़ा, मगर कुछ खास नहीं कर पाई। दूसरी तरफ मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में जैसे भाजपा के पक्ष में हवा चल पड़ी। राज्य विधानसभाओं में भाजपा को अपने दम पर अप्रत्याशित जीत मिलने लगी। जिसने साल 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार और लालू यादव को हाथ मिलाने पर मजबूर कर दिया। कांग्रेस भी इस महागठबंधन का हिस्सा बनी और बिहार में बीजेपी को परास्त कर दिया। इस चुनाव में लालू यादव का एक तरह से ‘कमबैक’ हुआ। पार्टी ने बिहार विधानसभा में सबसे ज्यादा सीटें जीतीं। लालू के दोनों बेटे भी चुनाव जीत गए। गठबंधन सरकार में छोटे बेटे तेजस्वी को डिप्टी सीएम बनवा दिया और बड़े बेटे तेजप्रताप को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिला दिया। अब जब तेजस्वी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे तो लालू एक बार फिर संकट में आ गए। मगर चुनावी राजनीति से आउट हो चुके लालू को पुत्रमोह ने मजबूर कर दिया और आरजेडी की राजनीति पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

इस तरह बीते 7 महीनों से बढ़ रही थीं नीतीश कुमार और बीजेपी की नजदीकियां

Thursday, 27 July 2017 13:45

2015 में बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जदयू, राजद और कांग्रेस साथ आई। तीनों पार्टियों ने मिलकर महागठबंधन बनाया जो 20 महीने की साझेदारी के बाद, नीतीश कुमार के इस्तीफे से अपने अंजाम तक पहुंच गया है। नीतीश ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया लेकिन 24 घंटे से भी कम समय में वह दोबारा बीजेपी के समर्थन से सत्ता पर काबिज होंगे। आइए जानते नीतीश कुमार के दोबारा बीजेपी के करीब आने के पूरे घटनाक्रम को। नीतीश की बीजेपी सरकार से करीबी के कयास नवंबर 2016 से लगने शुरू हुए। नीतीश ने केंद्र सरकार की नोटबंदी के फैसले का समर्थन किया।

जनवरी 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी ने नीतीश की शराबबंदी के फैसले के लिए तारीफ की। इसके बाद अप्रैल 2017 में बीजेपी के सुशील मोदी ने लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। आरोप के बाद सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने जांच शुरू की। इसके बाद मई 2017 से नीतीश की महागठबंधन से दूरियां नजर आने लगीं। नीतीश, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा आयोजित भोज और बैठक से नदारद होते हैं लेकिन पीएम मोदी द्वारा मॉरीशस के प्रधानमंत्री के सम्मान में आयोजित भोज में वह शामिल होते हैं। जून 2017 में राष्ट्रपति चुनाव में नीतीश कुमार ने महागठबंधन से अलग जाकर एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन किया। नीतीश कुमार उन चुनिंदा मुख्यमंत्रियों में थे जिन्होंने 22 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से सम्मान में, पीएम मोदी द्वारा आयोजित भोज में शिरकत की।

आखिर में 25 जुलाई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ ग्रहण समारोह में भी नीतीश कुमार संसद के सेंट्रल हॉल में मौजूद नजर आते हैं। बता दें यह पहली बार नहीं है जब नीतीश कुमार बीजेपी के करीब आए हों। 1990 में बिहार में जनता दल की सरकार बनी जिसमें लालू सीएम बनें और नीतीश कुमार को कैबिनेट में जगह मिली। लेकिन यह साझेदारी ज्यादा समय तक नहीं चल सकी और 1994 में नीतीश ने लालू से अलग होकर, जॉर्ज फर्नांडीस के साथ समता पार्टी बनाई। 1996 के लोकसभा चुनाव में समता पार्टी ने बीजेपी
के साथ गठबंधन किया था।

सर्वोच्च न्यायालय का 'इंदु सरकार' की रिलीज पर रोक लगाने से इंकार

Thursday, 27 July 2017 12:53

सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को फिल्मकार मधुर भंडारकर की फिल्म 'इंदु सरकार' की रिलीज पर रोक लगाने से इंकार कर दिया। फिल्म पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 1975 में लगाए गए आपातकाल पर आधारित है।

न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति अमिताव राय और न्यायमूर्ति ए.एम. खानविल्कर की सदस्यता वाली पीठ ने एक महिला द्वारा इस संबंध में दायर की गई याचिका खारिज कर दी। महिला ने कांग्रेस नेता संजय गांधी की जैविक बेटी होने का दावा किया है।

पीठ ने प्रिया सिंह पॉल की याचिका खारिज करते हुए कहा, "फिल्म कानून के मापदंडों के भीतर एक कलात्मक अभिव्यक्ति है।"

पॉल ने अदालत को बताया कि फिल्म 'मनगढ़ंत कहानी से भरपूर है और पूरी तरह अपमानजनक है'। याचिकाकर्ता ने कहा कि इससे संजय गांधी और उनकी मां इंदिरा गांधी की छवि खराब होगी।

याचिकाकर्ता ने बम्बई उच्च न्यायालय द्वारा 24 जुलाई को याचिका खारिज कर दिए जाने के बाद शीर्ष न्यायालय में गुहार लगाई थी।

अदालत ने याचिका खारिज करते हुए कहा था कि संजय गांधी के किसी भी 'ज्ञात वंशज' ने फिल्म पर आपत्ति नहीं जताई।

महिला ने अपनी याचिका में दावा किया था कि संजय गांधी उनके जैविक पिता हैं और फिल्म में उन पर उंगलियां उठाई गई हैं।

जम्मू एवं कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, 3 आतंकी ढेर

Thursday, 27 July 2017 12:43

सेना ने गुरुवार को बांदीपोरा जिले में नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की एक कोशिश नाकाम करते हुए तीन आतंकवादियों को मार गिराया। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा, "सेना ने गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए तीन आतंकवादियों को मार गिराया है।"

कालिया ने पूर्वान्ह 11.45 बजे कहा, "आतंकवादियों के खिलाफ अभियान अब भी जारी है।"

गॉल टेस्ट : भारत के भोजनकाल तक 7/503 रन

Thursday, 27 July 2017 12:36

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाजों ने यहां गॉल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए भोजनकाल तक श्रीलंका के खिलाफ सात विकेट पर 503 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया है। मेजबान टीम की ओर से हार्दिक पांड्या 4 और रवींद्र जड़ेजा 8 रनों पर नाबाद हैं।

अपने पहले दिन के स्कोर तीन विकेट पर 399 रनों से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने गुरुवार को पहले सत्र में चार विकेट खोकर 104 रन जोड़े।

पहले दिन के नाबाद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (153) और अजिंक्य रहाणे (57) ने चौथे विकेट के लिए 137 रनों की शानदार शतकीय पारी खेलते हुए टीम को 423 के स्कोर तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर नुवान प्रदीप ने पुजारा को विकेट के पीछे खड़े निरोशन डिकवेला के हाथों कैच आउट कर पवेलियन भेजा। पुजारा ने अपनी पारी में खेली गईं 265 गेंदों पर 13 चौके लगाए।

पुजारा के आउट होने के तुरंत बाद ही 423 के ही स्कोर पर रहाणे भी लाहेरु कुमारा की गेंद पर दिमुथ करुणारत्ने के हाथों लपके गए।

इसके बाद, रविचंद्र अश्विन (47) और रिद्धिमान साहा (16) ने छठे विकेट के लिए 59 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी से टीम का स्कोर 491 तक पहुंचाया। कप्तान रंगना हेराथ ने दिलरुवान परेरा के हाथों साहा को कैच आउट कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। साहा के रूप में भारतीय टीम का छठा विकेट गिरा।

इसके बाद टीम के खाते में चार रन और ही जुड़ पाए थे कि श्रीलंकाई गेंदबाज प्रदीप की गेंद पर अश्विन विकेट के पीछे खड़े डिकवेला के हाथों लपके गए। अश्विन के रूप में मेहमान टीम का सांतवा विकेट गिरा।

श्रीलंका की ओर से प्रदीप ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए हैं, वहीं कुमारा और हैराथ को एक-एक सफलता मिली है।

नीतिश के साथ मिलकर काम करने को उत्सुक : मोदी

Thursday, 27 July 2017 12:35

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके शपथ ग्रहण के तत्काल बाद बधाई दी। मोदी ने कहा कि वह बिहार की प्रगति के लिए नीतिश के साथ मिलकर काम करने को उत्सुक हैं।

मोदी ने वरिष्ठ भाजपा नेता, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को भी बधाई दी।

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, "नीतीश कुमारजी और सुशील मोदीजी को बधाई। बिहार की प्रगति और सम्पन्नता के लिए साथ मिलकर काम करने को उत्सुक।"

नीतीश ने महागठबंधन से अलग होने के कुछ घंटों के बाद ही छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

नीतीश कुमार ने पूर्व उप मुख्यमंत्री व लालू के बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद 20 महीने पुरानी महागठबंधन सरकार गिर गई।

बिहार के विकास और लोगों के हित में लिया फैसला : नीतीश

Thursday, 27 July 2017 12:34

बिहार में छठी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को यहां कहा कि उनका निर्णय बिहार के विकास और बिहार के लोगों के हित के लिए लिया गया है। उन्होंने विपक्षी दलों की ओर से हो रही आलोचना के विषय में कहा कि समय आने पर सभी को जवाब दूंगा।

मुख्यमंत्री बनने के बाद संवाददाताओं से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, "हम लोगों का यह निर्णय बिहार के विकास और यहां के लोगों के हित में लिया गया है। मेरा न्याय के साथ विकास का कार्यक्रम चलता रहेगा।"

उन्होंने कहा कि उनका 'कमिटमेंट' बिहार और बिहार के लोगों के प्रति है। जद (यू) अध्यक्ष ने आगे कहा, "मैं बिहार के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि अब तक जैसे लोगों की सेवा करता आ रहा हूं, उसी तरह आगे भी खिदमत करता रहूंगा।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा 'व्यक्तिगत स्वार्थ' के लिए धोखा देने के आरोप के बारे में पूछे जाने पर नीतीश ने कहा, "समय आने पर बढ़िया से जवाब दूंगा।"

ब्राइटन से जुड़े चेल्सी के ब्राउन

Thursday, 27 July 2017 12:23

इंग्लिश फुटबाल क्लब ब्राइटन ने चेल्सी के युवा फारवर्ड इजी ब्राउन के साथ करार किया है। ब्राउन को एक सीजन के लिए ऋण आधारित करार पर टीम में शामिल किया गया है।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, 20 वर्षीय फारवर्ड ब्राउन ने पिछला सीजन ऋण आधारित करार पर ही रोथरहाम युनाइटेड और हर्ड्सफील्ड टाउन में बिताया था और अब वह ब्राइटन की ओर बढ़ गए हैं।

ब्राइटन के कोच क्रिस हजटन ने एक बयान में कहा, "ब्राउन के लिए यह अच्छी बात है। चैम्पियनशिप में पिछला सीजन सफल रहा। अब इंग्लिश प्रीमियर लीग की ओर बढ़ा हूं और हम खुश हैं कि हमने ब्राउन के साथ करार किया है।"

ब्राउन ने 2013-14 सीजन में अंडर-21 प्रीमियर लीग और एफए यूथ कप खिताब जीता था। इसके साथ ही उन्होंने चेल्सी की 2014-15 सीजन में एफए यूथ कप में मिली जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

नीतीश कुमार के फैसले से लोगों में नाराजगी, बिहार के लोगों ने बीजेपी को खाली हाथ भेजा था : लालू यादव

Thursday, 27 July 2017 12:19

पटना: बिहार में नीतीश कुमार ने सीएम और सुशील मोदी ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ले ली है. इसके बाद लालू प्रसाद ने कहा कि बिहार राजनीतिक रूप से बहुत जागरूक स्टेट है. मोतीहारी से महात्मा गांधी ने सारे देश को संदेश दिया था. आज अफसोस है कि हमारे बीच कोई महात्मा गांधी नहीं हैं. आरएसएस से संबंध रखने वाले नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. नीतीश के बीजेपी के साथ जाने के फैसले से बिहार की जनता नाराज है. बिहार की जनता ने तो बीजेपी को खाली हाथ भेजा था. पिछड़ों, मुसलमानों और गरीबों ने हमारा साथ दिया था. जिधर सत्ता दिखती है नीतीश वहीं चले जाते हैं. वह बड़े अवसरवादी नेता हैं.  हमें बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ बड़ा जनादेश मिला था. विधानसभा में नीतीश ने भी कहा था कि मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन बीजेपी से हाथ नहीं मिलाएंगे. मेरे मन में खोट या लालच होता तो मैं नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री नहीं बनाता.

पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा कि पीएम मोदी ने देश को झांसा दिया है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि काला धन लेकर आएंगे. नरेंद्र मोदी ने हर खाते में 15-15 लाख जमा करने की बात कही थी. बाद में अमित शाह ने कहा कि यह तो जुमला है. पीएम मोदी ने अच्‍छे दिन का झांसा दिया. उन्‍होंने इसी तरह काला धन लाने का भी ढोंग रचा.  

लालू की कही मुख्य बातें: 

  • देश को जोड़ने का श्रेय 'बापू' को जाता है. उन्होंने सारे देश को जागरूक किया.
  • बिहार बहुत जागरूक प्रदेश है.
  • हमें अफसोस है, हमारे बीच बापू नहीं हैं
  • आरएसएस के लोगों ने बापू की हत्या कर दी
  • जयप्रकाश नारायण ने सारे देश को जोड़ा, एमरजेंसी हुई, इंदिरा की पार्टी हार गई.
  • लोकतंत्र में मेरा जन्म हुआ, कम उम्र में हम चुने गए.
  • आपातकाल के समय मैं जेल में ही रहा, बीजेपी के लोग माफी मांगकर बाहर आ गए थे
  • PM नरेंद्र मोदी ने काला धन लाने का ढोंग किया
  • PM नरेंद्र मोदी ने हर हिन्दुस्तानी के खाते में 15-15 लाख रुपये लाने का वादा किया था
  • लोगों ने खाता सभी ने खोल लिया, लेकिन 15 लाख रुपये नहीं आए
  • PM नरेंद्र मोदी ने लोगों को बेवकूफ बनाने का काम किया
  • PM नरेंद्र मोदी ने अच्छे दिन का झांसा दिया

नोटबंदी हो गई, बैंकों के पास पैसा आ गया, फिर भी 'सबसे अधिक जोखिम में हैं भारतीय बैंक'!

Thursday, 27 July 2017 11:35

रेटिंग एजेंसी मूडीज के एक अध्ययन के अनुसार दक्षिण और दक्षिण-पूर्व एशिया में भारतीय बैंक सबसे अधिक जोखिम वाले बैंकों में हैं. पीएम मोदी द्वारा नवंबर माह में हुई नोटबंदी के बाद भारतीय बैंकों के पास अपार धन आया बावजूद इसके मूडीज द्वारा भारतीय बैंकों को सबसे अधिक जोखिम वाला बताना हैरतअंगेज है. दरअसल मूडीज ने कहा है कि पूंजी की कमी के चलते उनमें पर्याप्त कर्ज प्रावधान की कमी है.

एजेंसी ने अपने एक अध्ययन में यह कहा है. इस अध्ययन के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के पास पूंजी जुटाने के लिए इक्विटी बाजारों तक उनकी सीमित क्षमता के बावजूद सरकार इन संस्थानों में पूंजी निवेश बढ़ाने को लेकर अनिच्छुक नजर आती है.

मूडीज के इस सर्वेक्षण के अनुसार, 'दक्षिण तथा दक्षिण पूर्व एशिया में भारतीय बैंक सबसे अधिक जोखिम में हैं. हम मानते हैं कि भारत में अनेक बैंकों के पास पर्याप्त पूंजी नहीं है और वे ​ऋण नुकसान मद में पर्याप्त प्रावधान नहीं कर पा रहे.' इस सप्ताह की शुरुआत में मूडीज ने कई भारतीय बैंकों को लेकर अपना दृष्टिकोण संशोधित किया है. इसे सकारात्मक से नकारात्मक या फिर स्थिर किया गया है.

इसी माह मूडीज ने कहा था कि माल एवं सेवाकर (जीएसटी) व्यवस्था को लागू करना भारत की रेटिंग के लिये सकारात्मक कदम है. इससे सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की गति और तेज होगी और कर राजस्व में वृद्धि होगी.  मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने यह बात कही. मूडीज के उपाध्यक्ष (सावरेन जोखिम समूह) विलियम फोस्टर ने कहा, 'जीएसटी से मध्यम अवधि में कारोबार सुगमता बढ़ने, राष्ट्रीय बाजार का एकीकरण होने और विदेशी निवेश स्थल के तौर पर भारत का आकर्षण बढ़ने से हमारा मानना है कि उत्पादकता बढ़ेगी और जीडीपी वृद्धि की गति और तेज होगी.' जीएसटी से कर प्रशासन और अनुपालन में सुधार होने से सरकार का राजस्व भी बढ़ेगा.

Nokia 3310 के नए मॉडल में होगा ये खास फीचर, लीक हुई तस्वीर से हुआ खुलासा

Thursday, 27 July 2017 11:19

Nokia के आने वाले फ्लैगशिप स्मार्टफोन नोकिया 8 का तो सभी इंतजार कर रहे हैं। उसके बारे में काफी लीक भी सामने आ चुके हैं। इसके कैमरे डिजाइन और अन्य कई फीचर्स के बारे में कई लीक सामने आ चुके हैं। Nokia 8 को 16 अगस्त को लॉन्च किया जाना है, लेकिन अब जो खबर आई है वो नोकिया 3310(2017) के बारे में है। नोकिया ने मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस 2017 में अपना फीचर फोन 3310 लॉन्च किया था। इस फोन को चाहने वालों की तो कमी नहीं थी लेकिन बढ़ती तकनीक को देखते हुए यह कदम से कदम मिलाकर चलने में पीछ रहा। इसके चाहने वालों को सबसे ज्यादा निराशा इसमें सिर्फ 2जी सपोर्ट को लेकर हुई थी। अब अमेरिकी एफसीसी सर्टिफिकेशन से पता चला है कि Nokia 3310 (2017) के 3जी वेरिएंट पर काम चल रहा है।

नोकिया 3310 (2017) को लॉन्च करके फिनलैंड की कंपनी एचएमडी ग्लोबल ने नोकिया से जुड़ी पुरानी यादों को भुनाने की कोशिश की थी। लेकिन यह 2जी कनेक्टिविटी वाला फोन ग्राहकों की जरूरत के हिसाब से नहीं है। संभवतः इस वजह से कंपनी ने नोकिया 3310 का 3जी वेरिएंट बनाने का फैसला किया। अमेरिकी एफसीसी सर्टिफिकेशन की वेबसाइट पर TA-1036 मॉडल से एक नोकिया फोन को लिस्ट किया गया है। इसके बारे में जानकारी नोकिया पावरयूजर ने दी है। एफसीसी सर्टिफिकेशन में हैंडसेट के डाइमेंशन से नोकिया 3310 के 3जी वेरिएंट के बारे में पता चलता है।

अमेरिका में इन नेटवर्क को सपोर्ट करने की जानकारी भी हुई है लीक।

GSM850: 824.2 MHz ~ 848.8 MHz
GSM1900: 1850.2 MHz ~ 1909.8 MHz
WCDMA Band II: 1852.4 MHz ~ 1907.6 MHz
WCDMA Band V: 826.4 MHz ~ 846.6 MHz

फिनलैंड की कंपनी एचएमडी ग्लोबल ने मोबाइल वर्ल्ड कॉन्ग्रेस 2017 में सबसे पहले नोकिया 3310 के नए अवतार या 2017 वर्जन को लॉन्च किया। कंपनी ने इसे ‘मॉडर्न ट्विस्ट’ का नाम दिया है। नोकिया 3310, नोकिया ब्रांड का अब तक का सबसे ज्यादा बिकने वाला फीचर फोन रहा है। नोकिया 3310 में एलईडी फ्लैश के साथ 2 मेगापिक्सल का रियर कैमरा दिया गया है। इसमें 2.4 इंच का क्यूवीजीए डिस्प्ले है। हैंडसेट 2जी कनेक्टिविटी के साथ आता है और कंपनी के नोकिया 30+ ओपरेटिंग सिस्टम पर चलता है।

इसकी इंटरनल मैमोरी 16MB की है और माइक्रोएसडी कार्ड से इसकी इंटरनल मैमोरी को 32GB तक बढ़ाया जा सकता है। वहीं पावर बैकअप के लिए इसमें 1200mAH की बैटरी दी गई है। डुअल सिम वाले इस फोन में टॉर्च भी दी गई है। कनेक्टिविटी के लिए इसमें माइक्रो यूएसबी, 3.5 एवी कनेक्टर और ब्लूटूथ 3.0 शामिल हैं। इस फोन का डाइमेंशन 115.6 x 51.0 x 12.8 मिलीमीटर है। इसका वजन 79.6 ग्राम है।

नीतीश कुमार के एनडीए में वापसी पर अखिलेश की चुटकी- ना ना करते प्यार तुम्हीं से कर बैठे

Thursday, 27 July 2017 11:13

बिहार में चार साल बाद बीजेपी फिर लौटी है. नीतीश कुमार के साथ मिलकर बीजेपी फिर सरकार बनाने जा रही है. बिहार में इस राजनीतिक हलचल को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों के अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. अब यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नीतीश कुमार पर फिल्मी अंदाज में चुटकी ली है.

अखिलेश यादव ने ट्विटर पर लिखा है, ”ना ना करते, प्यार तुम्हीं से कर बैठे, करना था इंकार मगर इक़रार तुम्हीं से कर बैठे. Bihar Today”

अपने इस पोस्ट में अखिलेश यादव ने प्रत्यक्ष रूप से नीतीश कुमार का नाम नहीं लिया है. लेकिन उनकी बातों से इतना तो पता चल ही रहा है कि वो किस बार में बात कर रहे हैं. एक घंटे में ही अखिलेश के इस ट्वीट को करीब 1000 रिट्वीट मिल चुके हैं.

आपको बात दें कि कल नीतीश कुमार के इस्तीफे के ऐलान के साथ ही पूरी रात बिहार में ड्रामा चलता रहा. कल रात नीतीश कुमार बीजेपी नेता सुशील मोदी के साथ राज्यपाल से मिलने पहुंचे और सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया. आज सुबह 10 बजे नीतीश कुमार दोबारा मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. अब बिहार की नई सरकार में नीतीश कुमार मुख्यमंत्री, सुशील मोदी उप मुख्यमंत्री होंगे.

राहुल ने भाजपा से गठजोड़ को लेकर नीतीश पर निशाना साधा

Thursday, 27 July 2017 11:11

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर महागठबंधन को धोखा देने और 'व्यक्तिगत स्वार्थ' के लिए भाजपा से हाथ मिलाने को लेकर निशाना साधा।

राहुल ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा, "हम जानते थे कि पिछले तीन-चार महीनों से क्या चल रहा था। भारतीय राजनीति के साथ यही समस्या है। सत्ता और राजनीतिक स्वार्थ के लिए वे किसी भी चीज के साथ समझौता कर सकते हैं।"

राहुल की टिप्पणी नीतीश कुमार के छठी बार बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के तत्काल बाद आई है।

राहुल ने कहा कि भारतीय राजनीति में कोई नियम या विश्वसनीयता नहीं है।

बोस्निया युद्ध पर आधारित फिल्म में नजर आएंगे टॉम हार्डी

Thursday, 27 July 2017 11:10

हॉलीवुड अभिनेता टॉम हार्डी बोस्निया युद्ध पर आधारित फिल्म 'माई वार गॉन बाय, आई मिस इट सो' में नजर आएंगे। साथ ही वह इस फिल्म का निर्माण भी खुद ही कर रहे हैं। वेबसाइट 'वेरायटी डॉट कॉम' के अनुसार, यह फिल्म एक अंग्रेजी पत्रकार व युद्ध संवाददाता एंथनी लॉयड की 1999 में इसी नाम से प्रकाशित एक किताब पर आधारित है। एंथनी ने यह किताब बोस्निया के अपने अनुभवों और ब्रिटिश सेना में बिताए समय, अपने माता-पिता के तलाक, अपने पिता से मिले अपमान और हेरोइन की लत के अनुभवों के आधार पर लिखी है।

टॉम ने एक बयान में कहा, "माइ वॉर गॉन बाय..एक कटु, लेकिन संवेदनशील कहानी है जो, मादक पदार्थो के लत और युद्ध के अनुभव को दर्शाती करती है। मैं एंथनी के काम, शब्दों और अनुभवों से आश्चर्यचकित रह गया और मेरे लिए उनके विचार महत्वपूर्ण हैं और इस किताब का भी खास महत्व है।"

इसी सप्ताह रिलीज हुई फिल्म 'डंकर्क' में टॉम ने वायुसेना के एक पायलट का किरदार निभाया है।

'सिस्टर' में नजर आएगा केट हडसन का नया हेयरकट

Thursday, 27 July 2017 11:09

अभिनेत्री केट हडसन अपनी आगामी फिल्म 'सिस्टर' में एक नए लुक में नजर आएंगी। फिल्म के लिए उन्होंने एक नया हेयरकट कराया है।

वेबसाइट 'डेलीमेल डॉट को डॉट यूके' की रिपोर्ट के अनुसार, फिल्म के सेट की कुछ तस्वीरों में केट अपने नए हेयरस्टाइल के साथ नजर आ रही हैं।

अपने इस नए हेयरकट का खुलासा न करने के लिए हडसन पिछले कई सप्ताहों से विग का इस्तेमाल कर रही थीं।

फिल्म का निर्देशन गायिका सिया ने किया है।

फिल्म के बारे में अधिक खुलासा नहीं किया गया है। चर्चा है कि यह एक संगीतमयी फिल्म हो सकती है।

उप्र : राज्य सरकार की शिक्षा मित्रों से धैर्य बनाए रखने की अपील

Thursday, 27 July 2017 11:08

सर्वोच्च न्यायालय की ओर से शिक्षा मित्रों का सहायक अध्यापक के रूप में समायोजन रद्द किए जाने के बाद से शिक्षा मित्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। शिक्षा मित्रों के मद्देनजर अब उप्र सरकार की ओर से उनसे धैर्य बनाए रखने की अपील की गई है। सरकार ने कहा है कि वह इस पूरे मामले का उचित समाधान निकालेगी।

राज्य सरकार ने बुधवार को देर रात एक बयान जारी कर यह यह बातें कही है। बयान में बताया गया है कि शासन द्वारा शिक्षामित्रों की समस्याओं के समाधान के उद्देश्य से उनके राज्य स्तरीय प्रतिनिधिमण्डलों के साथ अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को चर्चा करने के लिए अधिकृत किया गया है।

राज्य सरकार के बयान में कहा गया है कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा शिक्षामित्रों के विषय में दिए गए आदेश से प्रदेश में कार्यरत 1़37 हजार ऐसे शिक्षामित्र, जिन्हें उ.प्र. नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार नियमावली, 2011 के नियम 16 'क' के अन्तर्गत सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित किया गया था, प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो रहे हैं।

सरकार ने बयान के माध्यम से यह स्पष्ट किया है कि सभी शिक्षामित्रों से सहानुभूति रखते हुए उनसे अपील की जाती है कि वे संयम और धैर्य बनाए रखें तथा किसी प्रकार की अप्रिय घटना न होने दें।

राज्य सरकार ने कहा है कि सरकार ऐसे समाधान में विश्वास रखती है, जिससे कानून की मर्यादा बनी रहे तथा समस्या का तर्कसंगत एवं विधि सम्मत समाधान संभव हो सके।

602 यात्रियों का जत्था अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना

Thursday, 27 July 2017 11:08

अमरनाथ के लिए 602 यात्रियों का एक छोटा जत्था गुरुवार को रवाना किया गया।

अधिकारियों के अनुसार, "जम्मू से इस साल की यात्रा के लिए रवाना होने वाला श्रद्धालुओं का यह सबसे छोटा जत्था है। श्रद्धालु सुरक्षा के साथ 19 वाहनों के काफिले में तड़के तीन बजे भगवती नगर निवास से रवाना हुए।"

29 जून से शुरू हुई इस यात्रा के तहत इस साल अब तक कुल 2.50 लाख श्रद्धालु अमरनाथ यात्रा कर चुके हैं।

गुफा तक पहुंचने के लिए श्रद्धालु दक्षिण कश्मीर के पहलगाम और उत्तरी कश्मीर के बालटाल मार्ग का इस्तेमाल करते हैं।

इन दोनों मार्गो पर श्रद्धालुओं के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं की भी सुविधा है।

इस साल अब तक अमरनाथ यात्रा में 48 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है।

इनमें से 17 यात्रियों की मौत श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक सड़क दुर्घटना में हुई थी, जबकि आठ तीर्थयात्रियों की मौत 10 जुलाई को तीर्थयात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले में हुई थी। इनके अलावा 23 तीर्थयात्रियों की मौत प्राकृतिक कारणों से हुई।

यात्रा सात अगस्त को समाप्त होगी। इस दिन रक्षा बंधन भी है।

उप्र में बादल छाए, बारिश के आसार

Thursday, 27 July 2017 11:08

उत्तर प्रदेश की रालधानी लखनऊ व राज्य के अन्य जिलों में गुरुवार सुबह से ही बादल छाए हुए हैं, जिससे गर्मी व उमस से राहत मिली है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान तेज बारिश होने की सम्भावना है।

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे. पी. गुप्ता के अनुसार दिन में बादल छाए रहेंगे और दिन में सामान्य से लेकर तेज बारिश होने की सम्भावना है। जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ की स्थिति एक बार फिर सक्रिय होने से मैदानी इलाकों में बारिश होने की उम्मीद है। अगले 24 घंटों के दौरान सामान्य से लेकर तेज बारिश हो सकती है।

गुप्ता के मुताबिक दिन में तापमान में तीन से चार डिग्रीे सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज किये जाने की सम्भावना है। आर्द्रता का स्तर 80 फीसदी तक दर्ज किये जाने का अनुमान है।

मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किये जाने का अनुमान है।

लखनऊ के अतिरिक्त गुरुवार को बनारस का न्यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस , कानपुर का 20 डिग्री, गोरखपुर का 22 डिग्री, झांसी का 23 डिग्री और इलाहाबाद का 23़1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में मजबूती

Thursday, 27 July 2017 09:20

देश के शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में गुरुवार को मजबूती का रुख है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 09.33 बजे 159.49 अंकों की बढ़त के साथ 32,541.95 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 53.65 अंकों की मजबूती के साथ 10,074.30 पर कारोबार करते देखे गए।

बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह136.98 अंकों की मजबूती के साथ 32519.44 पर, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 42.6 अंकों की बढ़त के साथ 10,063.25 पर खुला।

22 साल पहले भी खतरे में था वजूद तो बीजेपी की ही शरण मे ही गए थे नीतीश, शरद के साथ मिल किया था जॉर्ज का तख्तापलट

Thursday, 27 July 2017 09:16

नीतीश कुमार के महागठबंधन से दूर और बीजेपी के करीब आने के जो कयास लगाए जा रहे थे, आखिरकार वह बुधवार (26 जुलाई) को सच साबित हो ही गए। नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया और आज गुरुवार (27 जुलाई) को दोबारा सीएम पद की शपथ ले लेंगे। बहरहाल यह पहली बार नहीं है जब नीतीश ने अपने वजूद को खतरे में पाकर बीजेपी का सहारा लिया हो। जोड़-तोड़ की राजनीती में उन्होंने महारत हासिल कर ली है, यह कहना शायद गलत नहीं होगा। नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव ने राजनीती में अपने शुरुआती कदम जेपी आंदोलन के समय एक साथ उठाए थे। 90 के दशक की शुरुआत में, तब प्रधानमंत्री रहे वी पी सिंह ने दोनों को जनता दल में जगह दी। 1990 में जब पार्टी बिहार में सत्ता में आई तो लालू सीएम बनें और नीतीश कुमार को राज्य कैबिनेट में जगह मिली। इसके बाद 1994 में नीतीश, लालू से अलग हो गए और जॉर्ज फर्नांडीस के साथ समता पार्टी बनाई।

1995 में विधानसभा चुनाव हुए लेकिन समता पार्टी कोई कमाल नहीं दिखा सकी। पार्टी को महज 7 सीट मिली और लालू प्रसाद यादव के हिस्से में तब 324 सीटों में से 167 सीटे आईं। इस हार के बाद नीतीश और जॉर्ज ने बीजेपी से उम्मीद लगाई। 1996 में समता पार्टी बीजेपी के साथ हो गई। लोकसभा चुनाव में पार्टी ने 8 सीट जीती (बिहार में 6 और ओडिशा और यूपी में एक-एक सीट)। 1998 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की सीटें बढ़कर 12 हुईं। इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में उनका कद बढ़ता रहा। साल 2000 में उन्हें बिहार के मुख्यमंत्री का पद दिया गया। हालांकि उनकी सरकार महज 7 दिन तक चली लेकिन इस वक्त नीतीश की छवि बिहार में एनडीए के बड़े नेता के तौर पर उभरकर सामने आ चुकी थी। बीजेपी के साथ गठबंधन की वजह से नीतीश पहले 6 साल तक केंद्र में रहे। इसके बाद 2003 में नीतीश कुमार और जॉर्ज फर्नांडीस ने दोबारा कुछ पुराने साथियों से हाथ मिलाकर जेडीयू का गठन किया और 2005 में बिहार की सत्ता हासिल की।

बिहार जीतने के 2 साल बाद नीतीश ने 2007 में जॉर्ज जॉर्ज फर्नांडिस का तख्तापलट किया। शरद यादव से हाथ मिलाकर फर्नांडिस को पार्टी अध्यक्ष पद से हटा दिया गया। नीतीश के समर्थन से शरद यादव पार्टी के नए अध्यक्ष बनें। इस समय तक नीतीश एनडीए का हिस्सा थे लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उन्होंने धर्मनिरपेक्षता को आधार बताकर 2013 में ही बीजेपी से किनारा कर लिया। हालांकि नीतीश का यह दाव उल्टा पड़ गया और 2014 में बीजेपी प्रचंड बहुमत से सत्ता में आई। 2014 लोकसभा चुनाव में जेडीयू ने महज 2 सीटें जीती और नीतीश ने हार की जिम्मेदारी लेने का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे के बाद जीतन राम मांझी सीएम बनें लेकिन कुछ महीनों बाद मांझी बागी तेवर दिखाने लगे जिसके बाद नीतीश फिर से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज हो गए। 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महागठबंधन बना लेकिन अब नीतीश फिर से बीजेपी से हाथ मिलाकर एनडीए का हिस्सा बन गए हैं।

इसके साथ ही बिहार की 20 महीने पुरानी महागठबंधन की सरकार गिर गई। महागठबंधन में नीतीश की पार्टी जनता दल (युनाइटेड) के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस शामिल थीं

POPULAR ON IBN7.IN