गांधीनगर: गुजरात में कांग्रेस को एक और झटका लगा है। मोरबी से विधायक बृजेश मेरजा ने शुक्रवार को राज्य विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। इससे पहले, मेरजा ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

मीडिया से बातचीत में कांग्रेस के प्रवक्ता हेमंत वासवदा ने कहा, "जब भी कोई चुनाव आता है, चाहे वह नगरपालिका चुनाव हो, तालुका पंचायत या जिला पंचायत चुनाव हो, भाजपा, लोकतांत्रिक मूल्यों और नैतिकता को चोट पहुंचाते हुए, खरीद-फरोख्त की मंडी शुरू कर देती है, इसी हिस्से के रूप में गुरुवार को कांग्रेस के दो विधायकों ने इस्तीफा दे दिया और इससे पहले पांस विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था और शुक्रवार को मोरबी के विधायक ने इस्तीफा दे दिया है।"

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के विधायकों को भाजपा पार्टी द्वारा धन का लालच देकर लुभाया जा रहा है।

कांग्रेस के दो अन्य विधायकों- कर्जन से अक्षय पटेल और कपराडा सीट से जीतू चौधरी ने बुधवार शाम इस्तीफा दे दिया था।

ताजा घटनाक्रम से विधानसभा में कांग्रेस की ताकत 65 विधायकों तक सिमट कर रह गई है, जबकि भाजपा के पास सदन में 103 सदस्य हैं।

यह नया झटका कांग्रेस को राज्यसभा चुनाव के ठीक पहले लगा है। गुजरात में 19 जून को चुनाव होंगे।

--आईएएनएस

चंडीगढ़: चंडीगढ़ के सलाहकार मनोज पारिदा ने लोगों के अपने छोटे बच्चों को यहां की सुखना झील की सैर कराने ले जाने पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने लोगों को इस बारे में बताने के लिए पुलिस बल के उपयोग का संकेत दिया है। साथ ही उन्होंने लोगों को सावधानी बरतने के लिए भी कहा है, क्योंकि कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई खत्म होने में अभी वक्त है और इसे लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पहले ही आगाह कर चुके हैं।

पारिदा ने एक ट्वीट में कहा, "यह देखना काफी दुखद है कि शिक्षित लोग अपने छोटे बच्चों को सुखना झील लेकर आ रहे हैं।"

उन्होंने आगे कहा, "मैं वास्तव में इन मूर्ख वयस्कों के कोरोना के कारण 'पहले प्रस्थान' को लेकर चिंतित नहीं हूं, लेकिन भावी पीढ़ियों के निर्दोष बच्चों को खतरे में डालना आपराधिक कृत्य है।"

परिदा ने आगे कहा, "पुलिस द्वारा उन्हें समझाने को लेकर योजना बनाई जा रही है। क्या कहते हैं?"

इस पर किसी ने प्रतिक्रिया दी, "आप अभिभावक को मूर्ख या अपराधी मानसिकता का नहीं कह सकते। हर माता-पिता अपने बच्चों की सुरक्षा और भलाई के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं, चाहे वह बाहर जाएं तब या जब घर में हो तब। वे मूर्ख नहीं हैं। क्षमा करें, लेकिन आपका कथन उचित नहीं है।"

पारिदा ने इस पर प्रतिक्रिया दी, "दमदार व्यंग्यात्मक शब्द भड़काने के लिए होते हैं। प्रतिरक्षा मुद्दों के कारण बच्चों और बूढ़ों को घर के अंदर रहना चाहिए। हम सभी को इस पर सख्त होना चाहिए।"

--आईएएनएस

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के मामले तेजी से बढ़ते जा रहा हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के करीब 10 हजार नए मामले सामने आए हैं, जबकि इस दौरान 273 लोगों की मौत भी हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या 2 लाख 26 हजार 770 पहुंच गई है। इसमें से 1,10,960 एक्टिव केस हैं, अब तक 1,09,462 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि कुल 6348 लोगों की जान जा चुकी है। निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस के इलाज के लिए फीस की सीमा तय करने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगा है।

उत्तर प्रदेश के प्रधान स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि हम आशा कार्यकर्ताओं की मदद से राज्य में लौटने वाले प्रवासी मजदूरों पर नजर रख रहे हैं। 12,80,833 मजदूर अब तक ट्रैक किए जा चुके हैं, जिनमें से 1,163 मजदूरों में कुछ लक्षण दिखाई दिए हैं। उनके नमूने परीक्षण के लिए भेजे गए हैं।

पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में कुल 5,355 कोरोना के मरीज ठीक हुए हैं। अब तक कुल 1,09,462 मरीज ठीक हो चुके हैं। कोरोना वायरस के रोगियों में रिकवरी दर 48.27 फीसद की है। वर्तमान में 1,10,960 सक्रिय मामले हैं

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के 46 नए मामले सामने आए हैं, राज्य में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 1,199 हो गई है। राज्य में कोरोना वायरस के सक्रिय मामलों की संख्या 874 है और अब तक 11 लोगों की मौत हुई है

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य में शुक्रवार को नाव पर सवार होकर चक्रवात निसर्ग से बुरी तरह प्रभावित रायगढ़ में हालात का जायजा लेने पहुंचे। चक्रवात निसर्ग ने महाराष्ट्र में छह लोगों की जान ले ली और एक दर्जन से अधिक जिलों में इसने कहर बरपाया। उन्होंने दक्षिण मुंबई में भाऊचा धक्का से अलीबाग तक जाने के लिए एक रो-रो बोट ली। उनके साथ मंत्री आदित्य ठाकरे, असलम शेख, अतिरिक्त मुख्य सचिव ए. के. सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे।

रायगढ़ में, उनका कलेक्टर निधि चौधरी और पुलिस अधीक्षक अनिल पारस्कर और अन्य लोगों के साथ कुछ सबसे अधिक प्रभावित गांवों का दौरा करना निर्धारित है।

गुरुवार को ऊर्जा मंत्री डॉ. नितिन राउत ने मौजूदा स्थिति का जायजा लेने के लिए रायगढ़ का दौरा किया था और शीर्ष प्राथमिकता पर जिले में बिजली आपूर्ति बहाल करने के प्रयासों के लिए निर्देश दिए थे।

रायगढ़ में तूफान कई लाख घरों को नुकसान पहुंचा है, जबकि लगभग 13,000 कच्चे घर मिट्टी में मिल गए हैं। 100,000 से अधिक पेड़ उखड़ गए। हजारों बिजली के खंभे, 14 विद्युत सबस्टेशन और 1,962 ट्रांसफार्मर, 500 मोबाइल टावर गिर गए हैं। 10 मछली पकड़ने की नौकाओं को नुकसान पहुंचा है। 5,033 हेक्टेयर से अधिक खेतों के अलावा 12 एकड़ में मछली फार्म नष्ट हो गए हैं।

ठाकरे ने गुरुवार को स्थिति का आकलन करने के लिए सभी जिला कलेक्टरों और मंडल आयुक्तों के साथ एक वीडियो-कॉन्फ्रेंस की थी और निर्देश दिया था कि प्रभावित लोगों को सरकार की सहायता प्रदान करने के लिए सभी 'पंचनामा' को 2 दिनों के भीतर पूरा किया जाना चाहिए।

--आईएएनएस

बेंगलुरु: दक्षिण पश्चिम रेलवे (एसडब्ल्यूआर) जोन का मुख्यालय हुबली स्टेशन एक ऐसा प्लेटफार्म बना रहा है, जो भारत और दुनिया के सबसे बड़े गोरखपुर स्टेशन के प्लेटफॉर्म को पछाड़ देगा। एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। रेलवे जोन के प्रवक्ता ने कहा, "प्लेटफॉर्म नंबर एक को 10 मीटर चौड़ाई के साथ 550 मीटर लंबाई से 1,400 मीटर तक बढ़ाया जाएगा। वर्तमान में, गोरखपुर में दुनिया का सबसे लंबा 1,366 मीटर का प्लेटफॉर्म है।"

गौरतलब है कि गोरखपुर उत्तर पूर्व रेलवे (एनईआर) क्षेत्र का मुख्यालय है।

सबसे बड़ा प्लेटफार्म हुबली और बेंगलुरु के बीच दोहरीकरण कार्य के हिस्से के रूप में बन रहा है, जिसमें स्टेशन पर प्लेटफार्मों की संख्या को पांच से आठ तक बढ़ाया जा रहा है।

सिग्नलिंग, इलेक्ट्रिकल और अन्य कार्यों को शामिल करते हुए यार्ड रिमॉडलिंग के काम पर 90 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

अधिकारी ने कहा, "यह कार्य नवंबर में शुरू हुआ था और आने वाले अगले साल तक यह पूरा हो जाएगा।"

--आईएएनएस

मेड्रिड: पूर्व स्पेनिश लीग चैंपियन एटलेटिको मेड्रिड के फॉरवर्ड डिएगो कोस्टा पर कर धोखाधड़ी के मामले में 543,208 यूरो (करीब 4,65,15,755 रुपये) का जुर्माना लगाया गया है और साथ ही उन्हें छह महीने की जेल की सजा भी सुनाई गई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, स्ट्राइकर कोस्टा को हालांकि जेल नहीं जाना पड़ेगा, क्योंकि स्पेनिश कानून के तहत, पहली बार गैर हिंसक अपराध करने वालों को, जिन्हें दो साल से कम की सजा सुनाई जाती है वे आर्थिक जुर्माना भरकर जेल जाने से बच सकते हैं।

कोस्टा ने अपने ऊपर लगे कर धोखाधड़ी के आरोप को गुरुवार को स्वीकार कर लिया। उन पर आरोप हैं कि उन्होंने छवि अधिकार के जरिए हुई कमाई पर कर भुगतान नहीं किया।

स्पेन में कर धोखाधड़ी के मामले में कोस्टा से लियोनल मेस्सी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और इकेर कासिलास जैसे खिलाड़ी भी शामिल रह चुके हैं। इनमें से किसी को जेल की सजा नहीं हुई लेकिन जुर्माना भरना पड़ा था।

- -आईएएनएस

गांधीनगर: गुजरात के साबरमती सेंट्रल जेल में कोविड परीक्षण के दौरान कम से कम आठ कैदियों को इस बीमारी से संक्रमित पाया गया है। गुजरात हाईकोर्ट में 2019 के एक हत्या मामले में आरोपी मनुभाई देसाई की जमानत याचिका को मंजूरी दिए जाने के बाद साबरमती सेंट्रल जेल के अधिकारियों ने उसे घर भेजने से पहले उसका परीक्षण करने का फैसला किया।

परीक्षण में आठ कैदियों के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला। यह पहला उदाहरण है जब कैदियों ने बाहरी दुनिया से संपर्क नहीं किया है और जेल के अंदर उन्हें पॉजिटिव पाया गया है।

सभी कोविड पॉजिटिव कैदियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

देसाई ने अपनी बीमार पत्नी का हवाला देते हुए उच्च न्यायालय में जमानत की अर्जी दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि उसे अपने बच्चों के साथ रहने की जरूरत है, क्योंकि उसका घर अहमदाबाद के कंटेनमेंट जोन में है।

उसे संदेह था कि उसकी पत्नी वायरस के संपर्क में आई होगी, इसलिए अदालत ने उसकी पत्नी को आरटी-पीसीआर परीक्षण का आदेश दिया, लेकिन वह्र नेगेटिव निकली।

अदालत को यह आशंका थी कि यदि पत्नी पॉजिटिव होती, तो वह न केवल बच्चों को संक्रमित कर सकती थी, बल्कि देसाई भी जेल वापस आते समय अपने साथ वायरस ला सकता था।

हालांकि बाद में उसकी पत्नी के एक पॉजिटिव रोगी के संपर्क में आने के बाद उसे क्वारंटीन कर दिया गया।

इस बात की जानकारी मिलने के बाद एक बार फिर मनुभाई ने अपने बच्चों के साथ रहने के लिए गुजरात हाईकोर्ट में जमानत की अर्जी दायर की। अदालत ने इसे मंजूर कर लिया और उसे बिना परीक्षण कराए आगे नहीं बढ़ने के लिए भी कहा।

गुजरात उच्च न्यायालय ने गुरुवार को इस कैदी का कोरोना परीक्षण कराने का आदेश दिया।

साबरमती सेंट्रल जेल के पुलिस उपाधीक्षक डीवी राणा ने आईएएनएस से कहा, "हमने पाया कि मनुभाई के अलावा, उनके बैरक से चार अन्य कैदी भी पॉजिटिव थे और अन्य बैरकों से तीन और कैदियों को पॉजिटिव पाया गया। यह पहली बार है, जब जेल के अंदर ही कैदी ऐसे पॉजिटिव पाए गए हैं।"

--आईएएनएस

 

 

 

हैदराबाद: हैदराबाद के एक पशु प्रेमी ने केरल में हुई हथिनी की मौत के मामले पर आरोपियों की जानकारी पुलिस को देने वाले व्यक्ति को दो लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है, जिससे आरोपियों की गिरफ्तारी हो सके। एक किसान बी.टी. श्रीनिवासन ने कहा कि वह उस घटना पर हैरान थे, जिसमें हाथिनी को पटाखे से भरा अनानास खिलाया गया, जिससे गर्भवती हाथिनी और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई।

मेडक जिले में धान की खेती करने वाले श्रीनिवासन ने कहा, "मैं अपनी व्यक्तिगत बचत से दो लाख रुपये का इनाम उस व्यक्ति को देना चाहूंगा, जो बदमाशों के बारे में जानकारी देगा।"

उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने हथिनी के साथ ऐसा क्रूर कृत्य किया है, उन्हें सजा मिलनी चाहिए।

श्रीनिवासन ग्रेटर हैदराबाद में युनाइटेड फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशंस के महासचिव भी हैं। उन्होंने कहा कि दोषियों की गिरफ्तारी के लिए सूचना देने वाले व्यक्ति को मामले में आरोपियों का दोष सिद्ध होने पर इनाम मिलेगा।

--आईएएनएस

 

 

 

भोपाल: कभी सिंधिया परिवार के करीबी रहे पूर्व मंत्री बालेंदु शुक्ल ने शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री व मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। शुक्ल अब तक भाजपा में थे। राजधानी के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में शुक्रवार को शुक्ल ने कमल नाथ की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ली। कमल नाथ ने 74 वर्षीय शुक्ल को सदस्यता रसीद सौंपी। इस मौके पर पूर्व मंत्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति, लाखन सिंह, डॉ. गोविंद सिंह सहित कई नेता मौजूद रहे।

शुक्ल सिंधिया राजघराने के करीबियों में गिने जाते रहे हैं। प्रदेश की सियासत में शुक्ल को माधवराव सिंधिया का प्रतिनिधि माना जाता था। माधवराव के निधन के बाद शुक्ल की सिंधिया परिवार से दूरियां बढ़ीं और उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था, मगर हार गए। इसके बाद शुक्ल भाजपा में चले गए थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने के बाद शुक्ल ने अब भाजपा छोड़कर कांग्रेस का 'हाथ' थाम लिया है।

--आईएएनएस

नई दिल्ली: अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने नए क्लबों के लिए निविदाएं आमंत्रित की है, जो 2020 के बाद आई-लीग से जुड़ेंगे। एआईएफएफ ने एक बयान में कहा कि बोलियां नई दिल्ली, रांची, जयपुर, जोधपुर, भोपाल, लखनऊ और अहमदाबाद जैसे शहरों से आमंत्रित की गई है।

आमंत्रित निविदाओं के अनुसार, जो भी बोली हासिल करेगा, उसे 2020 के बाद से नए फुटबाल क्लब को चलाने का अधिकार दिया जाएगा। बोली हासिल करने वाले क्लब के पास एएफसी क्लब जैसी प्रतियोगिताओं में भी भाग लेने का मौका होगा।

निविदा के निमंत्रण को राष्ट्रीय राजधानी में फुटबाल हाउस से 10 से 20 जून के बीच चार लाख रुपये के भुगतान पर प्राप्त किया जा सकता है।

- -आईएएनएस

Page 5 of 15123

Don't Miss