अयोग्य राज्य सरकार ने खाली किया खजाना, जनता त्रस्त : जयंत सिन्हा
Tuesday, 24 November 2020 22:11

  • Print
  • Email

रांची: झारखंड में कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की सरकार को 'अंधेर नगरी चौपट राजा' की उपाधि देते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हजारीबाग सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने सरकार पर निशाना साधा है। उन्होने कहा कि दिशाहीन हेमंत सरकार ने खजाना खाली किया है और जनता त्रस्त है। रांची में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा कि, "अपनी अयोग्यता के कारण यह सरकार विफल है। सरकार द्वारा उपलब्ध संसाधनों का उचित उपयोग नहीं किया गया।"

उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के समय जहां स्वास्थ्य सुविधाओं व इंफ्रास्ट्रक्च र को सुदृढ़ करना चाहिए, जबकि सरकार इसके विपरीत पहले से जारी परियोजनाओं को भी लंबित छोड़ रही है।

उन्होंने कहा, "कोविड के दौरान, राज्य सरकार विशेष संसाधन जुटाने में विफल रही। इसके अलावा, उचित संसाधन जुटाए जाने की कमी, सीमित उधारी, विद्यमान ऋण क्षमता के उपयोग में असमर्थता भी महामारी से निपटने के क्रम में आर्थिक प्रतिक्रिया की कमी का कारण बनी।"

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि रघुवर दास के राजग सरकार के दौरान, राजस्व प्राप्तियों में लगातार वृद्घि हुई थी। उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि वित्त प्रबंधन की गाड़ी पटरी पर नहीं आई, तो राज्य और जनता बहुत तकलीफ में आ सकते हैं।

उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार को महामारी की आपदा को अवसर में बदलते हुए वित्तीय क्षेत्र विस्तार और प्रभावी प्रशासन सुनिश्चित करना चाहिए।

सिन्हा ने उत्तर प्रदेश का उदाहरण देते हुए कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1,000 करोड़ के कोविड फंड की घोषणा की। उत्तर प्रदेश ने आपदा को एक अवसर के रूप में परिवर्तित कर अपने संसाधनों को संचालित करने और त्वरित विकास को बल देने का काम किया है।

उन्होंने कहा, "उत्तर प्रदेश ने विशेष पैकेज का निर्माण भी किया है, जिससे कंपनियों को प्रोत्साहन प्रदान किया जा सके और राज्य को निवेश और उत्पादन के लिए चीन के विकल्प के रूप में तैयार किया जा सके।"

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss