श्रीनगर के बाहरी इलाके में गश्ती दल पर आतंकी हमला, 2 जवान शहीद
Thursday, 26 November 2020 21:18

  • Print
  • Email

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनाव होने में जब बमुश्किल 48 घंटे बाकी रह गए हैं, इस केंद्र शासित प्रदेश की राजधानी के बाहरी इलाके में आतंकवादियों ने दिनदहाड़े हमला बोल दिया, जिसमें भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए। अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने गुरुवार को श्रीनगर-बारामूला राजमार्ग पर शारियाबाद में एक गश्ती दल पर हमला किया। आतंकी कार में सवार थे।

सूत्रों के अनुसार, आतंकवादियों ने गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया और उन पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिससे दो सैनिक गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्होंने बाद में दम तोड़ दिया।

मुंबई 26/11 हमले की 12वीं बरसी पर यह हमला हुआ।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) और सीआरपीएफ वैली क्विक एक्शन टीम (क्यूएटी) ने हमलावरों को पकड़ने के लिए इलाके में घेराबंदी की है।

सेना ने एक बयान में कहा कि आतंकवादियों ने उनकी त्वरित प्रतिक्रिया टीम (क्यूआरटी) पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें दो सैनिक शहीद हो गए गए।

बयान में कहा गया है, "आतंकवादियों ने भारतीय सेना की त्वरित प्रतिक्रिया टीम पर सामान्य क्षेत्र अबन शाह चौक, एचएमटी, खुशीपोरा, श्रीनगर में आज दोपहर में अंधाधुंध गोलीबारी की।"

बयान में कहा गया कि भीड़भाड़ वाला क्षेत्र होने के कारण सैनिकों ने नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए संयम बनाए रखा।

बयान में कहा गया है, "दो सैनिक गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें निकटतम चिकित्सा सुविधा के लिए भेज दिया गया। हालांकि, उन्होंने अपनी चोटों के कारण बाद में दम तोड़ दिया। क्षेत्र में घेराबंदी की गई है और तलाशी अभियान जारी है।"

कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक, विजय कुमार ने कहा कि एक मारुति कार में यात्रा कर रहे तीन आतंकवादियों ने सेना के गश्ती दल पर हमले को अंजाम दिया।

उन्होंने कहा कि उनमें से दो पाकिस्तानी आतंकवादी और एक स्थानीय आतंकवादी हो सकता है।

कुमार ने कहा, "तीन आतंकवादी मारुति कार में यात्रा कर रहे थे। उनमें से दो के पास हथियार था। उनमें से दो पाकिस्तानी आतंकवादी और एक स्थानीय आतंकवादी हो सकता है।"

आईजीपी ने कहा कि इलाके में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों की आवाजाही है और शाम तक जिम्मेदार आतंकी संगठन की पहचान कर ली जाएगी।

उन्होंने कहा, "हम शाम तक हमले के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन की पहचान कर लेंगे।"

यह हमला जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों से ठीक एक दिन पहले किया गया है। सुरक्षा बलों को इनपुट मिले हैं कि आतंकवादी डीडीसी चुनाव में रुकावट डालने के लिए हमलों की साजिश रच रहे हैं। इन्हीं टिप पर काम करते हुए 19 नवंबर को जम्मू में नगरोटा के पास मुठभेड़ में ट्रक में यात्रा कर रहे जैश के चार आतंकवादियों को मार दिया गया था। इन आतंकवादियों ने सांबा सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा से भारत में घुसपैठ की थी।

--आईएएनएस

एकेके/एसजीके

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss