कल सीआरपीएफ नहीं होती तो बचना मुश्किल था, जीत रहे हैं 300 से अधिक सीटें : अमित शाह
Wednesday, 15 May 2019 11:56

  • Print
  • Email

नई दिल्‍ली: भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कोलकाता में रोड शो के दौरान हुई हिंसा में तृणमूल कांग्रेस समर्थकों का हाथ बताया। उन्‍होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस अपनी सत्‍ता बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है, कल यदि सीआरपीएफ नहीं होती तो मेरे लिए वहां से बचकर निकलना मुश्किल था। मेरे बहुत कार्यकर्ता मारे गए हैं, मुझ पर हमला स्वभाविक है। उन्‍होंने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में हम पूर्ण बहुमत का आंकड़ा पार कर चुके हैं, हम 300 से अधिक सीटें जीतने जा रहे हैं। 

 

कोलकाता में मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान पथराव, आगजनी, लाठीचार्ज की घटनाएं हुईं। शाह जिस वाहन पर सवार थे, उस पर डंडे फेंके गए और भाजपा समर्थकों पर पथराव किया गया। भाजपा ने इस हिंसा के पीछे तृणमूल का हाथ बताया है। हिंसा में दोनों पक्षों के कई लोग जख्मी हो गए हैं। घटना के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी व कोलकाता पुलिस आयुक्त राजेश कुमार विद्यासागर कॉलेज पहुंचे और हालात का जायजा लिया। 

इससे पहले छठे चरण में आठ सीटों पर मतदान के दौरान घाटल से भाजपा प्रत्‍याशी भारती घोष पर हमला किया गया था। एक अन्‍य घटना में इसी चरण की वोटिंग के दौरान प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष दिलीप घोष पर भी हमले की कोशिश की गई थी। गौर करने वाली बात यह है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान केंद्रीय बलों की 713 कंपनियां और  कुल 71 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के बावजूद हिंसा की घटनाएं थम नहीं रही हैं। 

पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्‍यक्ष के रोड शो के दौरान हुई हिंसा पर भाजपा नेता एवं महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि ममता जी आम चुनावों में अपनी हार को नजदीक देखकर हताश हो गई हैं। इसी कारण वह लोकतंत्र की हत्‍या कर रही हैं। मैं निर्वाचन आयोग (Election Commission) से अपील करता हूं कि वह राज्‍य में स्‍वतंत्र एवं निष्‍पक्ष चुनाव कराए। 

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.