हेराल्ड मामले में मोदी के बयान पर चिदंबरम का पलटवार

 पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि भाजपा नीत सरकार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान के कारण उखाड़ फेंका जाना चाहिए, जिसमें उन्होंने राहुल और सोनिया गांधी से संबंधित आयकर मामले में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश को अपनी जीत बताया है। सर्वोच्च न्यायालय ने नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी के खिलाफ आयकर विभाग द्वारा कर मूल्यांकन दोबारा खोले जाने पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। 

इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के एक दिन बाद मोदी ने राजस्थान में एक चुनावी सभा में दावा किया कि अदालत का आदेश 'ईमानदारी की जीत' है और कहा कि एक चायवाला उन्हें (नेहरू-गांधी परिवार को) अदालत के दरवाजे तक ले गया, जो चार पीढ़ियों से देश को चला रहा था।

चिदंबरम ने मोदी के बयान पर ट्विटर पर पलटवार किया।

चिदंबरम ने कहा, "जिस किसी ने भी सर्वोच्च न्यायालय में कल(मंगलवार) आयकर मामलों में न्यायालय की कार्यवाही पर मोदी को जानकारी दी है, वह बर्खास्त किए जाने योग्य है।"

पूर्व वित्तमंत्री ने कहा, "अगर किसी ने उन्हें नहीं बताया है और प्रधानमंत्री खुद इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि वह सर्वोच्च न्यायालय में 'जीत' गए हैं, तो यह सरकार उखाड़ फेंकने लायक है।"

सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा था कि आयकर विभाग के अधिकारी नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य के खिलाफ वर्ष 2011-12 के लिए कर पुनर्मूल्यांकन कर सकते हैं।

--आईएएनएस