राफेल को लेकर कांग्रेस का मोदी पर निशाना : चौकीदार बिक गए

कांग्रेस ने गुरुवार को राफेल विमान सौदे को लेकर फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने के लिए देश के हित को नुकसान पहुंचाया। कांग्रेस का आरोप है कि फ्रांस से हुए विमान सौदे में विमान की कीमतें 40 फीसदी बढ़ाकर तय की गई। 

केंद्र सरकार राफेल विमान सौदे में फ्रांस की सरकार की ओर से स्वायत्त गारंटी नहीं देने की बात स्वीकारने के एक दिन बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी पर तंज कसा और कहा कि 'चौकीदार बिक गए।' 

राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए कहा, "राफेल की अलमारी से हाल में नया भेद बाहर निकला है : फ्रांस की सरकार ने सौदे का समर्थन करने की कोई गारंटी नहीं दी है।"

उन्होंने कहा, "लेकिन, हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि फ्रांस की ओर से वफादारी का वचन देने का पत्र दिया गया है! इसे दो सरकारों के बीच का सौदा बताने के लिए यही काफी है।" राहुल ने ट्वीट के साथ हैशटैग जोड़ा, "बिक गए चौकीदार।"

राहुल ने मोदी पर यह तंज केंद्र सरकार के उस बयान के बाद कसा है जो एक दिन पहले सर्वोच्च न्यायालय में दिया गया था। केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय को बताया कि सौदे के समर्थन में फ्रांस सरकार की ओर से कोई गारंटी नहीं दी गई है, बल्कि सिर्फ लेटर ऑफ कंफर्ट (आश्वासन पत्र) दिया गया है।

केंद्र सरकार की ओर से महान्यायवादी के.के. वेणुगोपाल ने प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति के.एम. जोसेफ की पीठ के सामने राफेल सौदे से संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान यह बात कही। राफेल लड़ाकू विमान सौदे में गड़बड़ी को लेकर दायर याचिकाओं पर शीर्ष अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया है।

--आईएएनएस