भारत आए इस प्रधानमंत्री ने शेफ को दी थी साढ़े 11 लाख रुपये की बख्‍शीश!

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू इन दिनों अपने राजनीतिक विरोधियों के निशाने पर हैं। कनाडा की कंजर्वेटिव पार्टी ने उनकी अक्सर और लगातार कई दिनों तक छुट्टी पर रहने के कारण निंदा की थी। लेकिन अब फरवरी में की गई उनकी भारत यात्रा भी विवादों के केंद्र में आ गई है। इस ट्रिप में कनाडा के वेंकूवर के एक नामी शेफ को खाना बनाने के एवज में साढ़े 11 लाख रुपये की बख्शीश प्रधानमंत्री ट्रूडू ने दी थी। जबकि 3600 डॉलर की बख्शीश उन्होंने कनाडा की हॉकी टीम की जर्सियां बनाने वाले को दी गई थी। प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू मध्य फरवरी में नौ दिन की ​आधिकारिक यात्रा पर भारत आए थे। उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल में मंत्री, सांसद और अन्य गणमान्य लोगों के साथ ही अधिकारी भी आए थे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा था कि यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक संबंधों को मजबूत करना और आर्थिक उम्मीदों को बढ़ावा देना है, जिससे कनाडा के लोगों के लिए भारत में रोजगार पैदा हो सकें।”

इसी हफ्ते संसद में रखे गए दस्तावेजों में कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों ने मांग की है कि सरकार के द्वारा 1000 यूएस डॉलर से ज्यादा के सभी खर्चों को जिसमें बख्शीश भी शामिल हैं। बिल सहित संसद के सामने पेश किया जाए। कंजर्वेटिव नेता एंड्रयू शीर ने बुधवार को प्रश्नकाल के दौरान आरोप लगाया कि ट्रूडू ने अपनी विफल सरकारी यात्रियों से करदाताओं के पैसे का जमकर दुरुपयोग किया है। जबकि इसका नतीजा कुछ भी नहीं निकला है। कंजर्वेटिव सांसद कैंडेस बर्गन ने आरोप लगाया कि वह अपने पद का इस्तेमाल शाही जिंदगी जीने के लिए कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ये सोचते हैं कि वह इन सुविधाओं और भत्तों के अधिकारी हैं। वह खर्च का कोई भी मौका नहीं छोड़ते, जहां उन्हें अपने धनबल और लग्जरी का प्रदर्शन करने का मौका मिल रहा हो।

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू ने अपनी भारत यात्रा का ये कहकर बचाव किया है,”इस यात्रा से एक अरब डॉलर के द्विपक्षीय निवेश का रास्ता खुला है। जबकि 5,800 नई नौकरियां भी इस कूटनीतिक यात्रा से पैदा हुई हैं। हम खुश हैं कि हमने अपनी 9 दिन की यात्रा में ढेर सारे अच्छे काम किए हैं। इस ट्रिप की लागत स्टीफन हार्पर और कंजर्वेटिव दल के सदस्यों द्वारा कुछ साल पहले की गई यात्रा पर हुए खर्च से कम थी।

बता दें कि कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों ने प्रधानमंत्री के भोजन पर हुए खर्च पर सबसे ज्यादा निशाना साधा है। उनके मुताबिक वीआईपी शेफ विक्रम विज को करीब साढ़े 11 लाख रुपये का भुगतान सिर्फ दो प्लेट भारतीय खाना बनाने के लिए किया गया था। ये भोजन नई दिल्ली में स्थित कनाडा के हाई कमिशन में आयोजित किया गया था। विक्रम विज भारतीय मूल के कनाडाई शेफ हैं। उनके आने—जाने, रहने और खाना बनाने का सभी खर्च कनाडा की सरकार ने उठाया था।

POPULAR ON IBN7.IN