अखिलेश यादव पर अमर सिंह का हमला, बोले- बंगले की हालत बलात्कारी की तरह कर दी है

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सरकारी बंगला खाली करने के बाद अपने विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल राजधानी लखनऊ के चार विक्रमादित्य मार्ग पर स्थित सरकारी बंगले को अखिलेश यादव ने हाल ही में खाली किया है। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा बंगला खाली किये जाने के बाद इस बंगले की कुछ तस्वीरें सामने आई थीं। इन तस्वीरों में दिख रहा था कि यह बंगला पूरी तरह से खंडहर में तब्दील हो चुका है। बंगले से कई सारे सामान गायब भी बताए जा रहे हैं। अब पूर्व समाजवादी नेता और कभी अखिलेश के पिता मुलायम सिंह के बेहद करीबी रहे अमर सिंह ने अखिलेश यादव पर तंज कसा है।

अमर सिंह ने कहा है कि ‘अखिलेश यादव ने उस बलात्कारी की तरह कर दी है, जो पहले रेप करता है और फिर कहता है कि मैं शादी तुम्हीं से करूंगा। ठीक उसी तरह अखिलेश यादव ने पहले बंगले को तबाह किया और अब कह रहे हैं मैं खर्चा देने के लिए तैयार हूं’। एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए अमर सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव ने खुद कहा है कि, यह बंगला मैंने बहुत मन से बनाया तो मन से जो ऐसी, स्विमिंग पूल वाला बंगला बनाने के लिए पैसा आया कहां से.. अगर वह काला धन नहीं था तो बताएं कैसे आया कहां से और अगर वह नहीं बताते हैं तो बंगले में लगे पैसे की जांच होनी चाहिए।

इधर आज इस विवाद पर अखिलेश यादव कुछ मीडिया के सामने आए। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश यादव टोटी लेकर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि जो टोटी गायब मिली है उसे वो लौटाने आए हैं, मगर इससे पहले सरकार उनका मंदिर लौटाए जो आवाज में छूट गया है। अखिलेश यादव ने सरकार पर ही बंगले में तोड़फोड़ करने का आरोप मढ़ा।

उन्होंने कहा कि बंगले में जो मेरा सामना था मैं सिर्फ वही लेकर गया। उन्होंने कहा कि स्टेडियम को स्टील स्ट्रक्चर से इसीलिए बनवाया गया था कि जब मैं बंगला छोड़ू तो उसे अपने साथ लेकर जा सकूं। इतना ही नहीं अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि बंगले में स्वीमिंग पुल तो था ही नहीं मगर इसकी खबर जरूर बना दी गई।