आसाराम रेप केस में गवाह की हत्‍या के चश्‍मदीद ने लगाया दबाव का आरोप
Wednesday, 13 June 2018 16:59

  • Print
  • Email

 

स्वयंभू प्रवचनकर्ता आसाराम के खिलाफ बलात्कार के एक प्रकरण में गवाह रहे कृपाल सिंह की हत्या के एक चश्मदीद के बेटे के अपहरण का मामला दर्ज कर आसाराम की ओर से मामले में गवाही नहीं देने का दबाव बनाने का आरोप लगाया गया है। हालांकि पुलिस द्वारा अपहरण का मामला दर्ज कर किये जाने के बाद गवाह का बेटा लौट आया।
आसाराम के खिलाफ दुष्कर्म के एक प्रकरण में मुख्य गवाह रहे कृपाल सिंह की कैंट क्षेत्र में 10 जुलाई 2015 को कथित रूप से गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गवाह रहे रामशंकर विश्वकर्मा का 16 वर्षीय बेटा धीरज विश्वकर्मा सोमवार घर के बाहर से शाम लापता हो गया था। जिसकी तलाश की गई और जब नहीं मिला तो कल रात पुलिस में अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया गया।

कृपाल ंिसह हत्याकांड में गवाह रामशंकर को 28 जून को अदालत में गवाही देनी है। उनका आरोप है कि हम पर दबाव बनाने के लिए ही बेटे का अपहरण किया गया था ताकि 28 जून को अदालत में हम आसाराम के लोगों के विरुद्ध गवाही ना दें। हालांकि अगवा किशोर धीरज लौट आया है। उसने दावा किया कि अपहर्ता उसे बेहोश कर गाड़ी में डालकर ले गये थे और जब वह होश में आया तो वह मेरठ शहर में था।

धीरज ने बताया कि मेरठ में अपहरणकर्ता सामान लेने चले गए तो वह गाड़ी से निकल कर मेरठ रेलवे स्टेशन पहुंच गया जहां जीआरपी ने उसे शाहजहांपुर जाने वाली ट्रेन में बिठा दिया और वह घर आ गया। पुलिस अधीक्षक नगर दिनेश त्रिपाठी का कहना है कि अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। पुलिस जब देर रात को पड़ताल के संबंध में अपहृत के घर गयी तो वह वहीं मिला। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss