IAS अधिकारियों को आप विधायक की चुनौती- लड़ना है तो खुल कर लड़ो

आम आदमी पार्टी के विधायक ने आईएएस अधिकारियों को खुलेआम चुनौती दी है। आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट कर कहा है कि सुनो अगर लड़ना है तो खुल के लड़ो। कायरों की तरह जनता के काम रोकते हो। नौकरी का डर भी लगता है , बोलते हो कि हम काम कर रहे हैं’। इतना ही नहीं विधायक सौरभ भारद्वाज ने आईएएस अधिकारियों को अरविंद केजरीवाल से सीख लेने की नसीहत भी दी है। उन्होंने लिखा कि ‘अरविंद केजरीवाल से सीखो, देश की लड़ाई लड़ने के लिए इस नौकरी को लात मार के निकल पड़े। या तो लड़ो नहीं, या फिर डरो नहीं’। आपको बता दें कि सौरभ भारद्वाज ग्रेटर कैलाश विधानसभा सीट से पार्टी के विधायक हैं।

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने कैबिनेट के कुछ सहयोगियों के साथ सोमवार (11 जून) को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के दौरान उन्होंने आईएएस अधिकारियों को हड़ताल खत्म करने का निर्देश देने और चार महीनों से कामकाज रोक कर रखे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने सहित तीन मांगें रखी थी। लेकिन अभी तक इसपर दिल्ली के लेफ्टिनेंट जनरल की तरफ से कुछ नहीं कहा गया है, जिसके बाद से केजरीवाल अपने सहयोगियों के साथ अनिल बैजल के कार्यालय पर ही धरने पर बैठ गए हैं।

दरअसल यह पूरा मामला दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से हुई कथित मारपीट से जुड़ा हुआ है। अंशु प्रकाश ने कहा था कि 19 फरवरी को एक बैठक में हिस्सा लेने केजरीवाल के घर पर जब वो मौजूद थे तो वहां सीएम की मौजूदगी में विधायकों ने उनके साथ मारपीट की थी। इस मामले में पुलिस केजरीवाल से पूछताछ भी कर चुकी है। कहा जा रहा है कि इसी मारपीट से नाराज आईएएस अधिकारी हड़ताल पर हैं और आम आदमी पार्टी के मंत्रियों के साथ बैठकों का लगातार बहिष्कार कर रहे हैं।

लेकिन इधर आईएएस अधिकारियों ने कहा है कि वो हड़ताल पर नहीं हैं और वो अपना कामकाज भी कर रहे हैं। आपको बता दें कि इस वक्त उप-राज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में सीएम अरविंद केजरीवाल के अलावा डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, मंत्री गोपाल राय तथा सत्येंद्र जैन अनिल बैजल के घर पर डटे हुए हैं।

 

POPULAR ON IBN7.IN