लेनिन की मूर्ति गिराने के दो दिन बाद बोले पीएम- कड़ी कार्रवाई होगी

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में बीजेपी की शानदार जीत के बाद वहां स्थित कम्युनिस्ट नेता लेनिन की मूर्ति सोमवार को ढहा दी गई थी। इस घटना से जहां सीपीआई(एम) काफी भड़की हुई है तो अब दो दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इसकी निंदा की है। गृह मंत्रालय (एमएचए) की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि इस मामले में पीएम मोदी ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की है और इस तरह की घटनाओं को लेकर अस्वीकृति व्यक्त की है। मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि पीएम मोदी देश में इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं करेंगे। मंत्रालय ने इस घटना में शामिल सभी आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है। एमएचए ने ट्वीट कर कहा, ”इस तरह के कृत्यों में शामिल लोगों के खिलाफ कानून के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’ साथ ही सभी राज्यों से इस तरह की घटनाएं ना हो इसके लिए कड़े कदम उठाने को भी कहा गया है।

वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित ने त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति और तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति ढहाए जाने को दुखद बताया है। साथ ही यह भी कहा है कि अगर पार्टी का कोई भी सदस्य इन घटनाओं में शामिल पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। शाह ने ट्वीट कर कहा, ”हमारी पार्टी इस बात की समर्थक है कि देश में हर तरह की विचारधाराएं रहें। हमारे संविधान के निर्माता भी यही चाहते थे। भारत की विभिन्नता ही इसे मजबूत बनाते हैं। हाल ही में जो मूर्ति गिराने की घटनाएं हुई हैं वह बेहद दुखद हैं। हमारी पार्टी इस तरह की घटनाओं का समर्थन नहीं करती।”

उन्होंने आगे कहा, ”हमारा मुख्य उद्देश्य लोगों के जीवन में अच्छा बदलाव लाना है। हम इस बात से खुश हैं कि पूरे देश के लोग हमारी सरकार के काम से संतुष्ट हैं और 20 से ज्यादा राज्यों में हमारी सरकारें हैं। मैंने त्रिपुरा और तमिलनाडु में बीजेपी की यूनिट से बात की है। बीजेपी का कोई भी कार्यकर्ता अगर इन गतिविधियों में शामिल पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ा कदम उठाया जाएगा।” जहां पीएम मोदी और शाह इन घटनाओं की आलोचना कर रहे हैं तो वहीं बीजेपी के कुछ नेता ऐसे भी हैं जो इसका समर्थन करते दिख रहे हैं। बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने लेनिन को विदेशी और आतंकी बताकर इसका समर्थन किया था।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के ट्वीट्स