अरविंद केजरीवाल को ममता बनर्जी ने समझाया- अफसरों को मिला कर रखिए

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ आम आदमी पार्टी के विधायकों  द्वारा मारपीट करने के मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीएम अरविंद केजरीवाल को अफसरों को मिलाकर रखने की बात कही है। सूत्रों के अनुसार, दिल्ली पुलिस द्वारा केजरीवाल के घर की तलाशी लिए जाने के बाद ममता बनर्जी ने उनसे बात की थी। सूत्रों का कहना है कि ममता बनर्जी ने केजरीवाल से कहा कि उन्हें सभी के साथ अच्छे से काम करना चाहिए। ममता ने कहा कि केजरीवाल को अफसरों को अपनी तरफ रखना चाहिए, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सरकार के कामकाज में किसी भी प्रकार की बाधा न आए। उनसे झगड़ा करने से बैठकों का बहिष्कार होना शुरू हो जाएगा, जिसका मतलब बीजेपी के जाल में फंसना है।

इसके साथ ही सूत्रों का यह भी कहना है कि सीएम केजरीवाल से बातचीत के दौरान ममता ने कहा कि इस मुद्दे को ज्यादा बढ़ाने से पार्टी को कोई फायदा नहीं हो सकता और इस मुद्दे पर होने वाली प्रत्येक बहस केवल नकारात्मक प्रभाव डालेगी। वहीं, तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने इस मुद्दे पर बात करते हुए कहा, “सच तो यह है कि ममता बनर्जी जो हमेशा केजरीवाल के समर्थन में दिखाई देती हैं, उन्होंने इस मामले पर एक शब्द नहीं कहा है। पार्टी के न किसी प्रवक्ता और न ही किसी वरिष्ठ नेता ने इस मुद्दे पर कुछ कहा है। अरविंद केजरीवाल को अफसरों के साथ काम करना होगा। अक्सर यह आसान नहीं होता है, लेकिन यह करना होगा।”

वहीं, इस बारे में जब टीएमसी के प्रवक्ता से बात की गई तो उन्होंने इस मुद्दे पर कोई भी बयान देने से इनकार कर दिया। गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि 19 फरवरी, 2018 की शाम सीएम केजरीवाल के घर पर हुई बैठक में उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की गई। इस मामले के सामने आने के बाद मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि दिल्ली के कई सरकारी अधिकारी हड़ताल पर चले गए और अंशु प्रकाश के साथ बदसलूकी करने वाले विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई।