जब फ्लाइट में देरी की वजह से केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस पर फूटा महिला डॉक्टर का गुस्सा

केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस को मणिपुर की राजधानी इंफाल में उस समय एक महिला यात्री के गुस्से का सामना करना पड़ा, जब वीआईपी मूवमेंट की वजह से उसकी फ्लाइट में देरी हो रही थी. पेशे से डॉक्टर यह महिला इस बात को लेकर मंत्री पर चीख पड़ी. इस पूरी घटना को किसी ने मोबाइल फोन में रिकॉर्ड कर लिया. प्राप्त जानकारी के मुताबिक महिला अपने किसी करीबी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए समय पर घर पहुंचना चाह रही थी. मंत्री अल्फोंस को यहां विमान पकड़ना था और इसकी वजह से महिला की फ्लाइट समेत अन्य उड़ानों में कथित रूप से देर हो रही थी.

महिला ने जब मंत्री को वहां आते देखा तो वह फौरन उनके पास पहुंच गई. उसने तेज आवाज में कहा, 'मैं एक डॉक्टर हूं, कोई नेता नहीं. मुझे 2:45 बजे पटना जाना था, यह तय समय था. मैंने अपने परिवारवालों को भी इसकी जानकारी दे दी थी.' महिला ने कंपकंपाती आवाज में कहा, 'मेरे घर में जो शव है, वह ज्यादा देर होने पर खराब हो जाएगा और इससे बदबू आएगी.' मंत्री अल्फोंस ने महिला को शांत करने की कोशिश की, लेकिन महिला का गुस्सा शांत नहीं हुआ. महिला ने कहा कि उसे लिखित में यह आश्वासन दिया जाए कि आगे इस तरह से उड़ान में देरी नहीं की जाएगी. वहीं केजे अल्फोंस का कहना है कि उड़ान में उनकी वजह से देरी नहीं हुई. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति की फ्लाइट उतरने वाली थी और प्रोटोकॉल का पालन होना था.

वहीं, एयरपोर्ट के निदेशक ने स्वीकार किया कि पिछले कुछ दिनों में एक त्योहार, एक डेवलपमेंट समिट और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की यात्रा के चलते एयरपोर्ट पर 'वीआईपी मूवमेंट' था. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के विमान की उड़ान की वजह से तीन फ्लाइटों में करीब दो घंटे की देरी हुई.'

उन्होंने कहा, हमें मालूम चला है कि एक महिला यात्री जो इंफाल से पटना जा रही थी, उनकी केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस से कुछ बहस हुई.'