छोटे चाय उत्पादकों के लिए दिशानिर्देश शीघ्र : चाय बोर्ड
Friday, 10 June 2016 04:20

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: छोटे चाय उत्पादकों के लिए मिनि और माइक्रो फैक्टरियां स्थापित करने के लिए एक महीने के भीतर दिशानिर्देश की अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। यह बात यहां टी बोर्ड भारत के अध्यक्ष संतोष कुमार सारंगी ने छोटे चाय उत्पादकों के एक सम्मेलन में कही, जिसमें असम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, मिजोरम और पश्चिम बंगाल के छोटे चाय उत्पादक शामिल हुए थे। यहां जारी हुए एक बयान के मुताबिक राजधानी में हुए सम्मेलन में शरीक हुए 200 से अधिक छोटे चाय उत्पादक प्रतिनिधियों ने अपनी विनिर्माण इकाइयों की स्थापना में सरकार से ठोस सहयोग की मांग की।

छोटे चाय उत्पादकों का मंगलवार को हुआ यह सम्मेलन 'प्राथमिक उत्पादक समाज (पीपीएस) एसेंबली सेलेब्रेशन ऑफ इन्नोवेशन' कार्यक्रम के तहत हुआ, जिसका आयोजन सेंटर फॉर एजुकेशन एंड कम्यूनिकेशन (सीईसी) ने किया था। कार्यक्रम का आयोजन पीपीएस की पहल को रेखांकित करने और उन्हें टिकाऊपन की तरफ बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए किया गया था।

पीपीएस एसेंबली को संबोधित करते हुए टी बोर्ड भारत के अध्यक्ष संतोष कुमार सारंगी ने कहा, "टी बोर्ड भारत वाणिज्य मंत्रालय के जरिए एक महीने के भीतर छोटे चाय उत्पादकों के लिए मिनि और माइक्रो फैक्टरियां स्थापित करने के लिए दिशानिर्देश की अधिसूचना जारी कर देगा।"

सारंगी ने कहा कि छोटे चाय उत्पादकों को मूल्य श्रंखला में ऊपर बढ़ना होगा, उत्पादक बनना होगा और खुद ही नीलामी में भाग लेना होगा। बोर्ड उन्हें गुणवत्ता नियंत्रण में प्रशिक्षण देगा और सुनिश्चित करेगा कि उत्पादित चाय बेहतरीन गुणवत्ता का हो।

सेंटर फॉर एजुकेशन एंड कम्यूनिकेशन (सीईसी) के कार्यकारी निदेशक जे. जॉन ने कहा, "सीईसी छोटे चाय उत्पादकों की गरीबी दूर करने और आय बढ़ाने के लिए काम कर रहा है। वर्तमान 'सस्टेनेबल लाइवलीहुड्स फॉर स्मॉल टी ग्रोअर्स' परियोजना में छोटे चार्य उत्पादकों के सामने मुंह बाए कुछ महत्वपूर्ण समस्याओं के निदान की कोशिश की जा रही है।"

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड), मुंबई के डॉ. खान ने कहा, "छोटे चाय उत्पादक देश के कुल चाय उत्पादन में 35-40 फीसदी योगदान करते हैं। उन्हें छोटा उत्पादक कहना उचित नहीं है।" उन्होंने कहा कि जागरूकता और क्षमता बढ़ाने से छोटे चाय उत्पादक मूल्य श्रंखला में ऊपर बढ़ सकेंगे।

कार्यक्रम में 10 सर्वाधिक बेहतर प्रदर्शन करने वाले पीपीएस को डेस्क-टॉप कंप्यूटर से पुरस्कृत किया गया और उनके बाद 40 बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले पीपीएस को सॉयल एनालिसस किट प्रदान किया गया।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss