रितु हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की मांग
Saturday, 23 March 2013 09:43

  • Print
  • Email

रितु कपूर इन्सुलिन मर्डर केस को लेकर अमेरिका से आयी उनकी बड़ी बहन रिचा टंडन ने प्रदेश सरकार से केस की सीबीआई जांच कराये जाने की मांग की है। रिचा का कहना है कि उसकी बहन रितु की मौत हार्टअटैक से नहीं हुयी थी बल्कि उसको भारी मात्रा में इन्सुलिन दिया गया था, जिससे उसकी मौत हुयी थी। (22:23) 

इस सम्बन्ध मे मृतक की बहन रिचा ने शुक्रवार को प्रेस क्लब में संवाददाताओं से बातचीत में मौत से सम्बन्धित कुछ नयी बातें बतायीं। रिचा ने कहा कि उसकी छोटी बहन रितु का विवाह फरवरी 2005 में डा. अवध कपूर पुत्र भरत कपूर निवासी बहोरन टोला चैक जनपद लखनऊ के साथ हुआ था।

रिचा ने कहा है कि विवाह के चार से पांच साल तक तो सब कुछ ठीक चला लेकिन उसके बाद रितु के पति और उसके माता पिता द्वारा सम्पति के लिए रितु को परेशान किया जाने लगा और आये दिन किसी न किसी चीज को लेकर रितु को परेशान किया जाता था। रिचा ने कहा कि अक्सर उसकी फोन से रितु से बात होती थी और उसी दौरान उसने उसे परेशान किये जाने का कारण बताया।

रिचा ने कहा है कि मई 2012 में रितु के पति अवध और उसके माता पिता ने रितु के साथ भीषण झगड़ा किया। जिसके कारण रितु हमेशा के लिये अपनी ससुराल छोड़कर इन्दिरा नगर स्थित अपने स्व. पिता के घर आ गयी और उसी के एक दो दिन बाद उसका पति भी इन्दिरा नगर रितु के पास रहने आ गया।

रिचा ने बताया है कि अगले दिन उसकी बहन को उसके पति ने कृष्णा मेडिकल सेन्टर लखनऊ में भर्ती कराया जहां पर 23 मई 2012 की रात तक उसकी बहन की अवस्था सामान्य थी और अवध रात्रि में रितु के साथ ही नर्सिग होम पर रूका था। 24 मई को प्रात: 6 बजे अचानक रितु की रहस्यमय परिस्थितियों में मृत्यु हो गयी। रिचा ने कहा है कि उसके परिवार को रितु के अस्पताल में होने के जानकारी उसकी मृत्यु के बाद दी गयी।

रिचा ने कहा है कि उसकी बहन की पोस्टमार्टम र्पिोट में मौत का कारण इन्सुलिन की अधिक मात्रा दिया जाना आया है। रिचा ने आरोप लगाया है कि उसकी बहन की मौत के पीछे उसके पति अवध तथा उसके माता पिता का हाथ है। रिचा ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि इस केस की जांच सीबीआई से कराई जाये और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलायी जाये जिससे उसकी मृतक बहन की आत्मा को शान्ति मिल सके।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss