2जी घोटाला : एयरटेल अध्यक्ष, एस्सार प्रमोटर को अदालत का सम्मन
Thursday, 21 March 2013 08:29

  • Print
  • Email

दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को भारती एयरटेल के अध्यक्ष सुनील भारती मित्तल, पूर्व दूरसंचार सचिव श्यामल घोष और एस्सार समूह के प्रमोटर रवि रुइया को सम्मन भेजा। यह सम्मन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के कार्यकाल में अतिरिक्त स्पेक्ट्रम के आवंटन में कथित अनियमितता से सम्बद्ध मामले में भेजा गया। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष न्यायाधीश ओ.पी. सैनी ने कथित अनियमितता के लिए मोबाइल कम्पनी भारती एयरटेल, वोडाफोन और स्टर्लिग सेल्युलर के खिलाफ दाखिल आरोप पत्र पर संज्ञान लेते हुए सम्मन जारी किया।

पिछले साल 21 दिसम्बर को सीबीआई ने राजग शासन काल में सरकार को 846 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने के लिए आपराधिक षड़यंत्र और भ्रष्टाचार निवारक अधिनियम के प्रावधानों के तहत आरोपों के लिए आरोप पत्र में श्यामल घोष और तीन दूरसंचार कम्पनियों को आरोपी के रूप में नामजद किया था।

सीबीआई ने अदालत में कहा कि 17 जुलाई 2002 को भारती सेल्युलर (अब भारती एयरटेल) और स्टर्लिग सेल्युलर (अब वोडाफोन मोबाइल सर्विस) को दिल्ली महानगर क्षेत्र के लिए और हचिसन मैक्स (अब वोडाफोन इंडिया) को मुम्बई महानगर क्षेत्र के लिए अतिरिक्त स्पेक्ट्रम आवंटित किए गए थे।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss