अमित शाह ने कहा- चिराग खुद राजग से गए बाहर, नीतीश कुमार ही होंगे एनडीए के मुख्यमंत्री
Saturday, 17 October 2020 22:25

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: राजग से अलग होते हुए भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर चुनावी बाजी सजा रहे लोजपा और उसकी ओर आकर्षित होने वाले मतदाताओं के हर भ्रम को दूर करने में भाजपा जुट गई है। प्रधानमंत्री खुद चुनावी अभियान में उतरें उससे पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी स्पष्ट कर दिया कि लोजपा खुद राजग से बाहर गयी है। फिलहाल तो लोजपा राजग के खिलाफ मैदान में है। राजग में सिर्फ चार दल है और सभी इकट्ठे एक दूसरे को जिताने में जुटेंगे।

अमित शाह ने एक मीडिया से बातचीत में साफ किया कि लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान से बातचीत तो हुई थी, उन्हें कई बार प्रस्ताव दिया गया, यह भी बताया गया कि कोई बात है तो बातचीत हो सकती है, लेकिन बात नहीं बनी। उन्होंने कहा- 'इस बार के चुनाव में जदयू के रूप में नया साथी जुड़ा है तो सबकी सीटें कम होनी तय थी। भाजपा भी कम सीटों पर लड़ रही है। चिराग पासवान के साथ बात नहीं बन पाई।' प्रस्तावित सीटों की संख्या बताने से इनकार करते हुए शाह ने एक सवाल के जवाव में कहा- 'चुनाव में राजग तीन चौथाई सीट जीत कर सरकार बनाएगा.. चिराग खुद राजग छोड़कर गए हैं।'

चिराग के वापस राजग में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा- चुनाव के बाद की बात क्या होगी वह बाद में, लेकिन वर्तमान राजग बहुमत लेकर आएगा। राजग के मुख्यमंत्री चेहरे नीतीश कुमार के खिलाफ चिराग के बयानों का संकेत देते हुए शाह ने कहा कि उनकी ओर से इकतरफा बयान आये थे जिसकी प्रतिक्रिया हुई लेकिन भाजपा फिर भी साथ रखने का हर प्रयास कर रही थी। जाहिर है कि शाह ने पूरा ठीकरा चिराग पर फोड़ दिया है।

अमित शाह ने उन अटकलों पर भी विराम लगा दिया कि राजग गठबंधन में भाजपा की अधिक सीटें आने के बाद नीतीश कुमार मुख्यमंत्री नहीं होंगे। शाह ने साफ कर दिया कि राजग गठबंधन नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ रहा है और उनके मुख्यमंत्री बनने का सीटों से कोई संबंध नहीं है।

उन्होंने कहा कि वे खुद भाजपा अध्यक्ष रहते हुए और अब जेपी नड्डा बार-बार नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग के चुनाव लड़ने की बात कह चुके हैं। उन्होंने कहा कि 'इसमें कोई दो राय नहीं है, कोई दो मत नहीं है। जो कोई भी भ्रांतियां फैलाने की कोशिश कर रहा है, मैं उस पर आज फुलस्टॉप लगाने जा रहा हूं।'

शाह का यह बयान इसलिए अहम है क्योंकि कुछ दिनों में खुद प्रधानमंत्री की रैली शुरू होने वाली है। किसी भी भ्रम का राजग को नुकसान न हो भाजपा यह सुनिश्चित करने में जुटी है।

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss