बीजेपी की कोर कमेटी की मीटिंग में गूंजा बंगाल में बदहाल कानून व्यवस्था का मुद्दा
Wednesday, 23 September 2020 15:47

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर बुधवार को हुई पश्चिम बंगाल की कोर कमेटी की मीटिंग में चुनावी रणनीति पर मंथन हुआ। इस बैठक में पश्चिम बंगाल में बहदाल कानून व्यवस्था का मुद्दा गूंजा। पार्टी नेताओं ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पश्चिम बंगाल में लगातार हो रही हिंसक घटनाओं की जानकारी दी। कोर कमेटी के बाद प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के नई दिल्ली स्थित 8 नॉर्थ एवेन्यू आवास पर भी एक और मीटिंग हुई। इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले निर्देशों को पश्चिम बंगाल में धरातल पर उतारने की रणनीति बनी। भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश, नेशनल सेक्रेटरी राहुल सिन्हा, प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, मुकल रॉय की मौजूदगी में हुई कोर कमेटी की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जनता के बीच जाकर मोदी सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी देने का निर्देश दिया। पार्टी सूत्रों ने बताया कि बैठक में आत्मनिर्भर भारत के बारे में राज्य में व्यापक जागरूकता फैलाने का निर्णय हुआ। यह भी कहा गया कि मौजूदा समय में संसद से पास हुए तीनों बिलों को लेकर विपक्ष किसानों के बीच भ्रम फैलानें की कोशिश कर रहा है, ऐसे में इस मसले पर भी पार्टी को जनजागरूकता अभियान चलाना चाहिए।

सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस की हिंसा के बीच पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल न टूटे, इसका ध्यान रखने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी नेताओं को निर्देश दिया। राज्य में 2021 में विधानसभा चुनाव संभावित हैं। राज्य में बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर भाजपा लगातार ममता बनर्जी सरकार पर हमलावर है। वहीं भाजपा ममता बनर्जी सरकार पर पश्चिम बंगाल को विकास की रेस में पीछे कर देने का भी आरोप लगाती रही है। इस प्रकार भाजपा फिलहाल कानून व्यवस्था और विकास को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मुद्दा बनाती दिख रही है।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, "पश्चिम बंगाल के आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में प्रदेश प्रभारी के साथ 'कोर टीम' की बैठक हुई। इस दौरान चुनाव से संबंधित कई मुद्दों पर विचार किया गया।"

--आईएएनएस

एनएनएम/एएनएम

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.