एयर इंडिया एक्सप्रेस विमान के नुकसान का दावा मंजूर : बीमा अधिकारी
Tuesday, 11 August 2020 08:49

  • Print
  • Email

चेन्नई: कोझिकोड में शुक्रवार की रात दुर्घटनाग्रस्त हुए एयर इंडिया एक्सप्रेस की प्रमुख पुनर्बीमा कंपनी ने कुल नुकसान के लिए किए गए दावे को मंजूरी दे दी है। उद्योग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी।

दरअसल, एक बीमा कंपनी को भी सुरक्षा की जरूरत पड़ती है। इसीलिए बीमा कंपनियां पुनर्बीमा खरीदती हैं। ये बीमा कंपनियां यह सुनिश्चित करने के लिए बीमा खरीदती हैं कि वे ग्राहकों के प्रति उनके दायित्वों को पूरा करने में सक्षम रहें। एक बीमा कंपनी द्वारा किसी अन्य बीमा कंपनी को अपने जोखिम को स्थानांतरित करने की इस प्रक्रिया को ही पुनर्बीमा कहा जाता है।

एयर इंडिया के विमानों का बीमा करने वाली चार बीमा कंपनियों में से एक के वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "प्राथमिक बीमाकर्ताओं के संघ (कंसोर्टियम) की तरह ही पुनर्बीमाकर्ताओं के एक संघ ने एयर इंडिया और उसके सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस के विमानों का बीमा किया है। प्रमुख पुनर्बीमाकर्ता एआईजी लंदन ने पूरे दावे (विमान के नुकसान का दावा) को मंजूरी दे दी है। अन्य पुनर्बीमाकर्ता संघ भी अपनी स्वीकृति देंगे।"

चार सार्वजनिक क्षेत्र के बीमाकर्ताओं का एक संघ न्यू इंडिया एश्योरेंस, नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और युनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड ने एयर इंडिया और इसकी सहायक कंपनियों के लगभग 170 विमानों के बेड़े का बीमा किया है, जिसमें एयर इंडिया एक्सप्रेस भी शामिल है।

एयरलाइन ने बीमा के तहत विमान में होने वाले नुकसान, तीसरे पक्ष और यात्रियों के लिए दायित्व को कवर करने वाली नीतियां ली हुई हैं।

अधिकारी के अनुसार, प्रमुख पुनर्बीमाकर्ता ने विमान के कुल नुकसान के लिए अंतरिम देयता/दावे का भुगतान करने का भी अनुमान लगाया है।

हादसे का शिकार हुए बोइंग विमान का बीमा पांच करोड़ डॉलर का है। एयर इंडिया एक्सप्रेस को विमान में हुए नुकसान के दावे की राशि का भुगतान किया जाएगा।

अधिकारी ने कहा कि विमान के लिए सभी जोखिमों को बीमा में कवर किया गया है।

दावों की प्रक्रिया के एक हिस्से के रूप में बीमाकर्ता/पुनर्बीमाकर्ता दुर्घटना जांच रिपोर्ट, विमान रखरखाव लॉग बुक और पायलट लॉग बुक जैसे दस्तावेजों की भी मांग करेंगे।

अधिकारी ने यह भी कहा कि विमान निर्माता बोइंग भी दुर्घटना के कारणों को जानना चाहेगी।

एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान शुक्रवार की शाम केरल के कोझिकोड हवाईअड्डे पर रनवे से फिसल गया था और एक खाई में जा गिरा था। इस हादसे में विमान दो टुकड़ों में टूट गया, जिससे 18 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

अब विमान को हुए कुल नुकसान को आंका जाएगा और उसी आधार पर विमानन कंपनी को बीमा कंपनी से धनराशि मिलेगी।

यात्री देयता या यात्रियों के कानूनी उत्तराधिकारियों को दिए जाने वाले मुआवजे के संबंध में स्थिति का जायजा लेने के लिए एक कानूनी टीम होगी।

यात्री देयता सामान के मूल्य को भी कवर करती है।

--आईएएनएस

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.