भाजपा नेता ने प्रधानमंत्री से जनसंख्या नियंत्रण के लिए अध्यादेश लाने की मांग की
Saturday, 11 July 2020 21:07

  • Print
  • Email

नई दिल्ली: भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय ने प्रधानमंत्री से जनसंख्या नियंत्रण के लिए एक अध्यादेश लाये जाने की मांग की है। भाजपा नेता के मुताबिक जनसंख्या नियंत्रण 'आत्मनिर्भर भारत और स्वावलंबी' भारत के लिए बेहद जरूरी है। अंतर्राष्ट्रीय जनसंख्या दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लिखे पत्र में उपाध्याय ने चीन का उदाहरण देते हुये कहा कि आज कम्युनिस्ट चीन इसलिये शक्तिशाली और सुपर पावर बना क्योंकि की उसने जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण पा लिया। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि चीन ने पहले 'हम दो हमारे दो' नीति को अपनाया और फिर 'हम दो हमारे एक' नियम को कड़ाई से लागू किया और लगभग 60 करोड़ बच्चों को पैदा होने से रोक दिया। इसीलिए वह आत्मनिर्भर ही नहीं बल्कि विश्व महाशक्ति भी बन गया जबकि भारत आज भी गरीबी बेरोजगारी कुपोषण और प्रदूषण से लड़ रहा है। एक कठोर और प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू किये बिना भारत को आत्मनिर्भर और विश्वगुरु बनाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

पत्र में उपाध्याय ने कहा है कि कोरोना महामारी के चलते संसद का चलना मुश्किल दिख रहा है, लिहाजा जल्द से जल्द एक अध्यादेश लाकर जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाया जाए।

पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री का ध्यान आकृष्ट करते हुए उन्होंने लिखा, "50 प्रतिशत समस्याओं के मूल कारण 'जनसंख्या विस्फोट' की तरफ आकृष्ट करना चाहता हूं जिसका जिक्र आपने स्वयं लाल किले की प्राचीर से पिछले वर्ष 15 अगस्त को किया था। एक कठोर और प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने 10 जनवरी को नोटिस जारी किया था ,और 13 जुलाई को सुनवाई है। गृह मंत्रालय और कानून मंत्रालय के उत्तर की प्रतीक्षा है।"

उन्होंने पत्र में लिखा कि पिछले 20 वर्ष से घर-परिवार, समाज और देश की समस्याओं के मूल कारणों को समझने का प्रयास कर रहा हूं और निष्कर्ष यह है कि हमारी 80 प्रतिशत से अधिक समस्याओं का मूल कारण भ्रष्टाचार और जनसंख्या विस्फोट है।

उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दल स्वीकार करते हैं कि जनसंख्या विस्फोट भारत के लिए बम विस्फोट से भी अधिक खतरनाक है। जब तक 2 करोड़ बेघरों को घर दिया जायेगा तब तक 10 करोड़ बेघर और पैदा हो जायेंगे। इसलिए जनसंख्या विस्फोट रोकना बहुत जरूरी है। इसके लिए एक कठोर और प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू किये बिना स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत, साक्षर भारत, संपन्न भारत, समृद्ध भारत, सबल भारत, सशक्त भारत, सुरक्षित भारत, समावेशी भारत, स्वावलंबी भारत, स्वाभिमानी भारत, संवेदनशील भारत तथा भ्रष्टाचार और अपराध मुक्त भारत का निर्माण मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

देश की 50 प्रतिशत से ज्यादा समस्याओं का मूल कारण जनसंख्या विस्फोट को बताते हुए उपाध्याय ने पत्र में लिखा है कि टैक्स देने वाले 'हम दो-हमारे दो' नियम का पालन भी करते हैं, लेकिन मुफ्त में रोटी कपड़ा मकान लेने वाले जनसंख्या विस्फोट कर रहे हैं।

ऐसे में जब कोरोना महामारी के कारण संसद का चलना अभी कठिन है, इसलिए आपसे निवेदन है कि जनसंख्या विस्फोट रोकने के लिए तत्काल एक प्रभावी जनसंख्या नियंत्रण अध्यादेश ले आइये, जोकि मजबूत और प्रभावी हो। जो व्यक्ति इसका उल्लंघन करे उसका राशन कार्ड, वोटर कार्ड, आधार कार्ड, बैंक खाता, बिजली कनेक्शन और मोबाइल कनेक्शन बंद होना चाहिए। इसके साथ ही कानून तोड़ने वालों पर सरकारी नौकरी करने, चुनाव लड़ने, राजनीतिक पार्टी बनाने और पार्टी पदाधिकारी बनने पर आजीवन प्रतिबंध होना चाहिए। ऐसे लोगों को सरकारी स्कूल और सरकारी हॉस्पिटल सहित अन्य सभी सरकारी सुविधाओं से वंचित करना चाहिये और 10 साल के लिए जेल भेजना चाहिए।

--आईएएनएस

 

Leave a comment

Make sure you enter all the required information, indicated by an asterisk (*). HTML code is not allowed.

Don't Miss